एडवांस्ड सर्च

Advertisement

मैं भाग्य हूं: क्षमता अनुसार ही चुनें अपना काम

तेज ब्यूरो [Edited By: अजय भारतीय]नई दिल्ली, 12 May 2019

एक संत हर रोज मिलने आए लोगों को उपदेश देते. वह उन्हें कोई काम की बात अवश्य बताते. संत ने एक दिन कहा ज्ञान, विवेक, शक्ति और भक्ति परमात्मा सतपात्रों को ही देता है. इस पर, एक महिला ने कहा कि इसमें भगवान की क्या विशेषता रही? उसे तो सबको समान अनुदान देना चाहिए. संत उस समय शांत रह गए. उस दिन की बात तब समाप्त हो गई. संत ने दूसरे दिन प्रातःकाल इलाके के एक मूर्ख व्यक्ति को बुलाकर कहा कि उस स्त्री से जाकर उससे उसके आभूषण मांग लाओ... पूरी कहानी के लिए वीडियो देखें.

A saint preaches to people who meet every day. He must tell him something about usefulness. One day, the saint said that God gives knowledge, wisdom, power and devotion only to good nature person. On this a woman said that what is God s specialty in it? God should give equal donations to everyone. The saints remained calm at that time. The talk of that day ended, On the second day morning, the saint called an idiot man of village and said that you go to that woman and bring her jewellery. Watch the video for the full story.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay