एडवांस्ड सर्च

Advertisement

मैं भाग्य हूं: कांटे वाले पेड़ पर फल नहीं, कांटे ही लगते हैं

तेज ब्यूरोनई दिल्ली, 04 September 2019

मैं भाग्य हूं... आप मुझे ईश्वर का लिखा मानते हैं. लेकिन मैं तो आपका रचा हूं. आपके अपने कर्मों का नतीजा. ये तो आपने सुना ही होगा कि हम जैसा कर्म करते हैं,  हमें वैसा ही फल प्राप्त होता है. जो काम हम आज करते हैं, आने वाले कल में उसका परिणाम निश्चित तौर पर मिलता है.  कांटे के पेड़ पर फल नहीं, कांटे ही लगते हैं. लेकिन अगर कोई अच्छा है तो वो हर हाल में अच्छाई ही करता है और देर से सही. लेकिन समय आने पर उसे उस अच्छाई  का अच्छा नतीजा भी मिलता है. आज ये बात मैं आपको और विस्तार से समझाऊंगा.

There is a saying, as you sow so shall you reap. In this episode of Main Bhagya Hoon, with the help of a story, we will tell how your actions are the result of what you get in life. If you do well in life, you get good results and vice versa. So, it is important to perform good actions in life. Watch video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay