एडवांस्ड सर्च

Advertisement

मैं भाग्य हूं: आपकी सफलता का रोड़ा है अहंकार

मैं भाग्य हूं: आपकी सफलता का रोड़ा है अहंकार
aajtak.inनई दिल्ली, 01 November 2019

मैं भाग्य हूं... मुझ में ही आपका पूरा जीवन बसा है. ऐसा आप मानते हैं पर आप ये सच भी जानते हैं कि मेरा निर्माण आपके कर्मों के आधार पर ही होता है. जो जैसा कर्म करता है, उसका भाग्य भी वैसा ही हो जाता है. यदि आप सतकर्म करते हैं, तो आपका भाग्य आपको बेहतर वर्तमान और कल देता है. यदि आप बुरे कर्मों में फंसे होते हैं, तो आपका भाग्य आपके लिए बुरे परिणाम ही तय करेगा. मेरे ऐसा कहने पर कई बार मनुष्य मुझे दोषी मानते हैं कि मैं सत्य नहीं बताता पर मैं जो भी कहता हूं वो एक अनुभव है. अगर मनुष्य बुरे कर्म करके एक बेहतर जीवन की परिकल्पना करेगा तो उसकी कल्पना झूठी साबित होगी. 

In this episode of Main Bhagya Hoon, we will talk about how your Karma affects your future. Those thoughts and actions that result in positive material reactions are good Karma, whereas those thoughts and actions that result in negative material reactions are bad Karma.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay