एडवांस्ड सर्च

Advertisement

मसूद के नाम पर, चुनाव के काम पर !

रोहित सरदाना [Edited By: अजीत तिवारी]नई दिल्ली, 13 March 2019

जैश-ए-मोहम्मद के चीफ मसूद अजहर पर आज संयुक्त राष्ट्र के बैन का फैसला होना है, लेकिन उससे पहले देश में 2 दशक पहले हुई उसकी रिहाई को लेकर राजनीति गर्म है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 1999 के कंधार कांड में मसूद अजहर की रिहाई को लेकर NSA अजित डोवल का नाम घसीट रहे हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत पूरी बीजेपी को कटघरे में खड़ा कर रहे हैं. 1999 में इंडियन एयरलाइंस का विमान IC 814 अगवा हुआ था, जिसके बदले भारत सरकार को मसूद अजहर समेत 3 खूंखार आतंकियों को छोड़ना पड़ा था. आतंकियों को छोड़ने के पहले तत्कालीन वाजपेयी सरकार पर बेहद दबाव था क्योंकि 176 यात्रियों और 15 क्रू मेंबर्स की जान मुश्किल में थी.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay