एडवांस्ड सर्च

Advertisement

हिमयोद्धाओं के वज्र बनने की अद्भुत कहानी

श्वेता सिंह [Edited By: सना जैदी]नई दिल्ली, 08 February 2018

दुनिया में भारतीय हिमयोद्धाओं जैसी मिसाल देखने को नहीं मिलती. हिमयोद्धाओं को सर्वोच्च, सर्वश्रेष्ठ और सर्वशक्तिमान माना जाता है. बर्फीली पहाड़ियों पर संकट से निपटने में हिमयोद्धा निपुण होते हैं. इसके लिए वह खास ट्रेनिंग लेते हैं. हिमबहादुर इतने मजबूत होते हैं कि दुश्मन की आहट पाते ही लोहे की बंदूकें हाथों में थामे - 50 डिग्री तापमान की भी फिक्र नहीं करते. देखिए मौसम को कैसे दोस्त बनाना सीखते हैं भारतीय सेना के हिमयोद्धा.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay