एडवांस्ड सर्च

Advertisement

आपके तारे: बोलने से पहले सोचें

aajtak.in [Edited by- गौरव कुमार पांडेय]नई दिल्ली, 16 March 2019

शब्दों का भी अपना तापमान होता है. ये सुकून भी देतें है और जला भी देतें है. तभी कहा जाता है कि तोल-मोल कर ही बोलना चाहिए. आपकी जुबान दोस्त बना भी सकती है और दोस्त गवां भी सकती है. इसलिए जब भी हम किसी से बात करें, उससे हम किस तरह और क्या बात कर रहें है उसपर नजर रखें. अगर अपने नजर रखी तो जिंदगी कि तमाम दिक्कतों से बचते चले जाएंगे और अपने कामयाबी की ओर बढ़ते चले जाएंगे. आपके इस सफर में कोई दिक्कत ना हो इसीलिए आपके तारे हर रोज आपके साथ होता है. जाने आज का दिन....

Often, we hear that, one should think before speaking, because words play an important role in creating your impressions on others. It is very important to keep check on our words while speaking to others. Watch video.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay