एडवांस्ड सर्च

Advertisement

UPSC मेन्स में न खोलें अपनी पहचान, भूलकर भी न लिखें ये बात

aajtak.in
17 September 2019
UPSC मेन्स में न खोलें अपनी पहचान, भूलकर भी न लिखें ये बात
1/8
हर साल देश में लाखों की संख्या में स्टूडेंट्स यूपीएससी एग्जाम IAS, IPS और IRS बनने का सपना देखते हैं. लेकिन, इस एग्जाम को पास करने के लिए सिर्फ पढ़ाई ही नहीं बल्क‍ि और कई पहलू भी हैं जो आपको जीत दिलाते हैं. अच्छी तैयारी के साथ साथ यूपीएससी की ओर से जारी ये दिशानिर्देश भी जरूर पढ़ें. जान लें, आपको पेपर लिखते वक्त किन गलतियों से बचना है.
UPSC मेन्स में न खोलें अपनी पहचान, भूलकर भी न लिखें ये बात
2/8
आने वाली 20 सितंबर को यूपीएससी मेन्स की परीक्षा होगी. पहले ही UPSC ने उम्मीदवारों के लिए जरूरी दिशानिर्देश जारी कर दिए थे. सिविल सेवा परीक्षा (CSE) के दूसरे चरण में उम्मीदवारों को इनका बहुत ध्यान रखना होगा. एक जरा-सी गलती आपका सपना तोड़ सकती है. आपका UPSC के जरिये भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS), भारतीय विदेश सेवा (IFS), भारतीय पुलिस सेवा (IPS) और भारतीय राजस्व सेवाओं (IRS) में सेवाएं देने का मौका भी छूट सकता है. इसलिए ये बातें ध्यान से पढ़ें और ये गलतियां न दोहराएं.
UPSC मेन्स में न खोलें अपनी पहचान, भूलकर भी न लिखें ये बात
3/8
कॉपी न लिखें ओम या 786, यूपीएससी की सख्त मनाही

UPSC परीक्षा में भाग लेने वाले परीक्षार्थी अक्‍सर ये गलती करते हैं कि अपने क्‍वेश्‍चन कम आंसर बुकलेट (QCAB) पर कोई शुभ अंक या मंत्र लिख देते हैं. उम्मीदवार अपनी धार्मिक मान्यता के लिहाज से कभी क्रॉस तो कभी ओम या 786 लिख देते हैं. इस पर UPSC ने स्पष्ट कहा है कि QCAB पर सिर्फ उत्तर से संबंधित जवाब लिखें. बिना वजह की बातें यहां न लिखे, इससे एग्जामिनर पर बुरा असर पड़ेगा.
UPSC मेन्स में न खोलें अपनी पहचान, भूलकर भी न लिखें ये बात
4/8
न खोलें अपनी पहचान

आप ये परीक्षा एक एडमिनिस्ट्रेटिव ऑफिसर बनने के लिए दे रहे हैं. इस परीक्षा के लिए आपकी पहचान यहीं से शुरू हो जाती है. आपको परीक्षा में सिर्फ सीरियल नंबर और रोल नंबर से खुद का परिचय देना है. लेकिन,  देखा गया है कि कुछ उम्मीदवार अपनी बुकलेट पर अपना नाम या पारिवारिक स्थ‍िति वगैरह लिख देते हैं. ऐसे उम्‍मीदवारों को ये गलती भारी पड़ सकती है. यूपीएससी ने कहा है कि QCAB में ऐसा कुछ ना लिखें, जिससे उनकी पहचान जाहिर हो. इसमें आप नाम, रोल नंबर और हस्‍ताक्षर नहीं दे सकते.
UPSC मेन्स में न खोलें अपनी पहचान, भूलकर भी न लिखें ये बात
5/8
न करें इमोशनल अत्याचार

उम्‍मीदवार को यह भी निर्देश है कि वो एग्जामिनर पर किसी तरह का इमोशनल अत्याचार करने की कोशिश न करे.इसका सीधा मतलब है कि उम्मीदवार अपनी कॉपी पर कोई पर्सनल कहानी लिखकर अपील नहीं कर सकता है. इसके अलावा राइटिंग पर भी ध्यान रखना चाहिए, ये एग्जामिनर के लिए स्पष्ट होनी चाहिए.
UPSC मेन्स में न खोलें अपनी पहचान, भूलकर भी न लिखें ये बात
6/8
ये भी ध्यान रखें

उम्मीदवारों से ये भी कहा गया है कि वो प्रश्नपत्र में भाषाएं बदलकर उत्तर न दें. उत्‍तर देने के लिये किसी एक भाषा का ही इस्‍तेमाल करें. इसके अलावा अगर आप कुछ उत्‍तर पेन से और कुछ पेंसिल से लिखते हैं तो ये भी गलत है. उत्तर एक ही रौ में लिखें.
UPSC मेन्स में न खोलें अपनी पहचान, भूलकर भी न लिखें ये बात
7/8
उत्तर ऐसे लिखें

अगर आप सवालों के जवाब दे रहे हैं तो इसमें क्रम का ध्यान रखने की बहुत जरूरत है. परीक्षार्थ‍ियों को सलाह दी गई है कि वो कॉपी पर बिना किसी डिमांड के कोई ग्राफ वगैरह या फोटो न बनाएं. जहां मांग की गई है, वहां ग्राफ आदि देने पर उसके अच्छे नंबर मिलते हैं.
UPSC मेन्स में न खोलें अपनी पहचान, भूलकर भी न लिखें ये बात
8/8
टाइम मैनेजमेंट है जरूरी

जब आप एग्जाम हॉल में जाएं तो जरूरी है कि आप धैर्य के साथ टाइम मैनेजमेंट पर ध्यान दें. सभी प्रश्नों को उतना ही समय दें, जितना कि उनके लिए जरूरी है. अगर कोई सवाल नहीं आता तो उसके लिए वक्त न खपाएं.
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay