एडवांस्ड सर्च

Advertisement

बेटे के बोर्ड में नहीं आए 80-90%, मां ने मनाईं खुशियां, पोस्ट वायरल

09 May 2019
बेटे के बोर्ड में नहीं आए 80-90%, मां ने मनाईं खुशियां, पोस्ट वायरल
1/7
हर माता-पिता चाहते हैं कि उनके बच्चे परीक्षा में 90% से अधिक नंबर आए लेकर आएं लेकिन वह अक्सर अपने बच्चे की क्षमता को भूल जाते हैं. वहीं आज हम ऐसी मां के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका बेटा 10वीं बोर्ड परीक्षा में केवल 60 प्रतिशत नंबर लेकर आया.... जिस पर ये महिला खुशियां मना रही है. साथ ही अपने बेटे पर गर्व महसूस कर रही है.
बेटे के बोर्ड में नहीं आए 80-90%, मां ने मनाईं खुशियां, पोस्ट वायरल
2/7
वंदना सूफिया कटोच नाम की इस महिला ने 6 मई को फेसबुक पर एक पोस्ट शेयर किया. जिसमें उन्होंने अपने बेटे की उपलब्धियों के बारे में जिक्र किया.
बेटे के बोर्ड में नहीं आए 80-90%, मां ने मनाईं खुशियां, पोस्ट वायरल
3/7
उन्होंने लिखा- मैं अपने बेटे में काफी गर्व महसूस कर रही हूं. जिसने कक्षा 10वीं की बोर्ड परीक्षा में 60 प्रतिशत अंक हासिल किए हैं. उन्होंने आगे लिखा मैं जानती हूं कि ये 90 प्रतिशत मार्क्स नहीं हैं, लेकिन मेरी भावनाएं नहीं बदली है.
बेटे के बोर्ड में नहीं आए 80-90%, मां ने मनाईं खुशियां, पोस्ट वायरल
4/7
मैंने अपने बेटे का संघर्ष देखा है. जहां वह कुछ विषयों को छोड़ने की स्थिति में था. जिसके बाद उसने पढ़ाई को लेकर काफी संघर्ष किया. उन्होंने लिखा बेटा आमेर- जैसे मछलियों से पेड़ों पर चढ़ने की अपेक्षा की जाती है लेकिन उसके ठीक उलट तुम अपने ही दायरे की भीतर ही एक बड़ी उपलब्धि हासिल करो. तुम मछली की तरह पेड़ पर तो नहीं चढ़ सकते, लेकिन वह बड़े समुद्र को अपना लक्ष्य बना सकते हो. मेरा प्यार तुम्हारे लिए. अपने भीतर सहज अच्छाई, जिज्ञासा और ज्ञान को हमेशा जीवित रखें.
बेटे के बोर्ड में नहीं आए 80-90%, मां ने मनाईं खुशियां, पोस्ट वायरल
5/7
आपको बता दें, उनके इस पोस्ट को 8. 9 हजार से ज्यादा लाइक और 5.3 हजार से ज्यादा शेयर किया गया है.
बेटे के बोर्ड में नहीं आए 80-90%, मां ने मनाईं खुशियां, पोस्ट वायरल
6/7
वंदना ने अपने बेटे के लिए पोस्ट इसलिए शेयर किया है कि वह नहीं चाहती थी उसके बेटे का मनोबल कम हो. साथ ही वह जानती हैं कि मार्क्स किसी का भाग्य तय नहीं करते हैं. वहीं लोगों ने उन्हें ग्रेट मदर होने का टाइटल भी दे दिया. सोशल मीडिया पर लोगों ने कहा कि ऐसी सोच रखने वाले माता-पिता की जरूरत बच्चों को हैं, जो उन्हें उनकी क्षमता के अनुसार मोटिवेट करें.


PHOTO: Vandana Sufia Katoch


बेटे के बोर्ड में नहीं आए 80-90%, मां ने मनाईं खुशियां, पोस्ट वायरल
7/7
आपको बता दें, पिछले साल एक पिता ने बेटे के फेल हो जाने पर मिठाइयां बांटी, पटाखे जलाए और मोहल्ले को पार्टी दी थी. उनका बेटा मध्यप्रदेश बोर्ड की 10वीं कक्षा में 4 विषयों में अपने बेटे के फेल हो गया था.  पित ने बताया था कि- "जब मुझे मालूम चला कि मेरा बेटा 6 विषयों में से 4 में फेल हो गया तो मैंने जबरदस्त पार्टी करने का ऐलान कर दिया. क्योंकि मुझे अपने बेटे को मोटिवेट करने का इससे बेहतर तरीका नहीं मिला. मुझे डर था कहीं मेरा बेटा फेल हो जाने के डर से आत्महत्या का रास्ता न चुन लें."



Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay