एडवांस्ड सर्च

Advertisement

जम्मू से हटाई धारा 144, जानिए किन मुसीबतों का करना पड़ता है सामना

aajtak.in
11 August 2019
जम्मू से हटाई धारा 144, जानिए किन मुसीबतों का करना पड़ता है सामना
1/9
जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के फैसले के बाद पूरे राज्य में धारा 144 लगा दी गई थी. लेकिन अब जम्मू क्षेत्र से धारा 144 हटा ली गई है. जम्मू क्षेत्र में स्थिति धीरे-धीरे सामान्य हो रही है. स्कूल-कॉलेज दोबारा खुले हैं. ऐसे में जानते हैं क्या है धारा 144 और इसके लगने से लोगों को किन-किन परेशानियों का सामना करना पड़ा.
जम्मू से हटाई धारा 144, जानिए किन मुसीबतों का करना पड़ता है सामना
2/9
क्या है धारा 144

जब भी किसी भी राज्य में किसी भी तरह की घटना की वजह से हालात बिगड़ने लगते हैं तो राज्य में शांतिपूर्ण माहौल बनाने के लिए धारा 144 लगा दी जाती है ताकि हालात और न बिगड़ें और तनाव की स्थिति न बने.
जम्मू से हटाई धारा 144, जानिए किन मुसीबतों का करना पड़ता है सामना
3/9
कब लागू की जाती है धारा 144

दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 (Code of Criminal Procedure, 1973, CRPC) के तहत आने वाली धारा 144 शांति और तनावमुक्त माहौल बनाए रखने के लिए लागू की जाती है.
दंगा, लूटपाट,  हिंसा, मारपीट को रोकने  के लिए इस धारा को लागू किया जाता है. आपको बता दें, इस धारा को लागू करने के लिए जिला मजिस्ट्रेट यानी जिलाधिकारी एक नोटिफिकेशन जारी करता है.
जम्मू से हटाई धारा 144, जानिए किन मुसीबतों का करना पड़ता है सामना
4/9
राज्य के लोगों पर क्या पड़ता है प्रभाव


किसी राज्य में धारा 144 लगने के बाद स्थानीय लोगों को जरूरी नियमों को पालन करना पड़ता है. इस धारा के तहत किसी भी जगह पर 4 से अधिक लोगों के इकट्ठा होने पर रोक लगाई जाती है.
जम्मू से हटाई धारा 144, जानिए किन मुसीबतों का करना पड़ता है सामना
5/9
धारा 144 यह लिखित रूप में होना चाहिए. धारा 144 लगाने से पहले, कार्यकारी मजिस्ट्रेट को यह सुनिश्चित करना होगा कि क्या धारा 144 लगाने की आवश्यकता है. इसके लिए उसे कुछ तथ्यों की मांग करने की भी आवश्यकता होती है. वहीं धारा-144 को 2 महीने से ज्यादा समय तक नहीं लगाया जा सकता है

जम्मू से हटाई धारा 144, जानिए किन मुसीबतों का करना पड़ता है सामना
6/9
जिस राज्य में धारा 144 लागू हो वहां हथियारों के लाने-ले जाने पर भी रोक लग जाती है. बाहर घूमने पर भी प्रतिबंध लगाया जाता है. यातायात पर भी कुछ समय के लिए रोक लगाई जा सकती है. 
जम्मू से हटाई धारा 144, जानिए किन मुसीबतों का करना पड़ता है सामना
7/9
क्या है सजा का प्रावधान

धारा-144 का उल्लंघन करने वाले या इस धारा का पालन नहीं करने वाले व्यक्ति को पुलिस गिरफ्तार कर सकती है. उस व्यक्ति की गिरफ्तारी धारा-107 या फिर धारा-151 के तहत की जा सकती है. इस धारा का उल्लंघन करने वाले या पालन नहीं करने के आरोपी को 1 साल कैद की सजा भी हो सकती है. वैसे यह एक जमानती अपराध है.
जम्मू से हटाई धारा 144, जानिए किन मुसीबतों का करना पड़ता है सामना
8/9
जम्मू- कश्मीर में धारा 144

आर्टिकल 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर राज्य में धारा 144 लागू कर दी गई थी. 5 दिन बाद हालत में सुधार देखते हुए जम्मू क्षेत्र से धारा-144 हटा ली है. धारा 144 लागू होने के बाद कई राजनेताओं को नजरबंद भी कर दिया गया था. उनके फोन बंद कर दिए गए.
जम्मू से हटाई धारा 144, जानिए किन मुसीबतों का करना पड़ता है सामना
9/9
जम्मू-कश्मीर में इस तरह के हालात करगिल युद्ध के बाद पहली बार बने हैं. आपको बता दें, करगिल युद्ध के वक्त में भी लैंडलाइन बंद नहीं किए गए थे, लेकिन इस बार इन पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई थी. जिसकी वजह से सुरक्षाबलों को सैटेलाइट फोन दिए गए, ताकि किसी भी स्थिति को संभाला जा सके.
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay