एडवांस्ड सर्च

Advertisement

ISC परीक्षा में हासिल किए 99.25%, अब ये लड़की 1 दिन के लिए बनी DCP

aajtak.in [Edited By: प्र‍िया शांडि‍ल्य]
09 May 2019
ISC परीक्षा में हासिल किए 99.25%, अब ये लड़की 1 दिन के लिए बनी DCP
1/6
ICSE और ISC बोर्ड के परिणाम मंगलवार 7 मई को जारी किए थे. परीक्षा में शामिल सभी छात्रों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया. इन्हीं में से एक कोलकाता की ऋचा सिंह ने 99.25 फीसदी अंक हासिल कर देशभर में चौथा स्थान प्राप्त किया. देशभर में कोलकाता का परचम लहराने वाली ऋचा को उनकी सफलता पर कोलकाता पुलिस ने शानदार तोहफा दिया. ऋचा को टोकन ऑफ एप्रिसिएशन के तौर पर कोलकाता पुलिस ने एक दिन के लिए डीसीपी बनाया.
ISC परीक्षा में हासिल किए 99.25%, अब ये लड़की 1 दिन के लिए बनी DCP
2/6
ऋचा को सुबह 6 बजे से दोपहर 12 बजे तक साउथ इस्टर्न डिवीजन का डिप्टी कमिश्नर बनाया गया. पुलिस की ओर से दिए गए इस तोहफे और इज्जत को ऋचा ने भी बखूबी निभाया. बता दें कि ऋचा जीडी बिरला सेंटर फॉर एजुकेशन की स्टूडेंट हैं.
ISC परीक्षा में हासिल किए 99.25%, अब ये लड़की 1 दिन के लिए बनी DCP
3/6
एक दिन के डीसीपी बनने पर ऋचा को अपने पिता को आदेश देने को जब कहा गया तो उसने अपनी पिता को जल्दी घर लौटने का आदेश दिया. बेटी की इस सफलता पिता राजेश सिंह का सीना गर्व से चौड़ा हो गया.
ISC परीक्षा में हासिल किए 99.25%, अब ये लड़की 1 दिन के लिए बनी DCP
4/6
बता दें कि ऋचा के पिता राजेश सिंह गडि़याहाट पुलिस स्टेशन के एडिशनल ऑफिसर-इन-चार्ज हैं. पिता की तरह ही ऋचा भी आईएएस अफसर बनकर देश की सेवा करना चाहती हैं. आगे चलकर वह हिस्ट्री और सोशियोलॉजी पढ़ना चाहती है.

सभी फोटो: कोलकाता पुलिस
ISC परीक्षा में हासिल किए 99.25%, अब ये लड़की 1 दिन के लिए बनी DCP
5/6
उनके पिता राजेश सिंह बेटी की इस उपलब्ध‍ि पर बेहद खुश थे. उन्होंने कहा कि वो अपनी खुशी जाहिर नहीं कर सकते हैं. एक दिन के लिए डीसीपी बनाए जाने पर उन्होंने कहा कि वह आज मेरी सुपिरियर (वरिष्ठ अधिकारी) है. उसने मुझे घर जल्दी जाने का आदेश दिया है और मैं उसका पानल करूंगा.
ISC परीक्षा में हासिल किए 99.25%, अब ये लड़की 1 दिन के लिए बनी DCP
6/6
काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्ट‍िफिकेट एग्जामिनेशंस (CISCE) एक प्राइवेट लेवल पर चलने वाली राष्ट्रीय बोर्ड है. इसके तहत 10वीं (ICSE) और 12वीं (ISC) की परीक्षा का आयोजन किया जाता है. CISCE की स्थापना 1958 में हुई थी. देश-विदेश में लगभग 21000 स्कूल्स CISCE से संबंद्ध हैं.
Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay