एडवांस्ड सर्च

Advertisement

UPSC के सभी टॉपर्स में ये एक बात कॉमन, इसलिए परीक्षा में मारी बाजी

aajtak.in [Edited by: प्रियंका शर्मा ]
14 April 2019
UPSC के सभी टॉपर्स में ये एक बात कॉमन, इसलिए परीक्षा में मारी बाजी
1/8
अगर आप इस साल यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो आपको यूपीएससी 2018 के टॉपर्स की वो बातें ध्यान रखनी चाहिए जिन्हें फॉलो कर वह परीक्षा में पहला- दूसरा स्थान हासिल कर पाए. आइए जानते हैं...
UPSC के सभी टॉपर्स में ये एक बात कॉमन, इसलिए परीक्षा में मारी बाजी
2/8
ये सच है यूपीएससी की परीक्षा देश की मुश्किल परीक्षा में से एक हैं. ऐसे में इस परीक्षा की तैयारी काफी ध्यान से करनी होती है. बता दें, यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा के ज्यादातर टॉपर्स में एक बात समान थी.  जिसे फॉलो कर सभी ने अच्छा स्थान हासिल किया  और वह बात थी "सोशल मीडिया से दूरी बनाकर रखना". जी हां पढ़ाई के दौरान किसी भी तरह से ध्यान इधर-उधर न जाए ऐसे में यूपीएससी के इन टॉपर्स ने सोशल मीडिया से दूरी बनाना ही बेहतर समझा. उनमें से कई ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट को भी डिलीट कर दिए.
UPSC के सभी टॉपर्स में ये एक बात कॉमन, इसलिए परीक्षा में मारी बाजी
3/8
इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार यूपीएससी के टॉपर कनिष्क कटारिया ने कहा - "मैंने पढ़ाई के दौरान सोशल मीडिया का इस्तेमाल करना समय की बर्बादी माना. ऐसे में मैंने अपने फेसबुक और ट्विटर अकाउंट डिलिट कर दिए. मैं इंस्टाग्राम पर हूं, लेकिन वो भी कभी- कभी चेक करता हूं. मैं केवल उन लोगों से इंस्टाग्राम पर जुड़ा हूं जो मेरे करीबी हैं".
UPSC के सभी टॉपर्स में ये एक बात कॉमन, इसलिए परीक्षा में मारी बाजी
4/8
यूपीएससी परीक्षा में चौथा स्थान हासिल करने वाले श्रेयांश कुमत भी राजस्थान से ही हैं. उन्होंने भी यूपीएससी की तैयारी के दौरान सोशल मीडिया से दूरी बनाई. वहीं पांचवी रैंक हासिल करने वाली सृष्टि जयंत देशमुख और बिलासपुर से 13वीं रैंक हासिल करने वाले वरनीत नेगी ने भी अपने सभी सोशल अकाउंट डिलीट कर दिए.
UPSC के सभी टॉपर्स में ये एक बात कॉमन, इसलिए परीक्षा में मारी बाजी
5/8
वहीं आपको बता दें, 17वीं रैंक लाने वाले कर्नाटक के हुबली जिले के राहुल ने भी स्मार्टफोन का इस्तेमाल नहीं किया. उन्होंने बताया कि पढ़ाई के दौरान स्मार्टफोन का इस्तेमाल नहीं किया लेकिन परीक्षा के बाद अब इस्तेमाल कर रहा हूं.
UPSC के सभी टॉपर्स में ये एक बात कॉमन, इसलिए परीक्षा में मारी बाजी
6/8
26 साल के आईपीएस अधिकारी तन्मय वशिष्ठ शर्मा यूपीएससी परीक्षा में 10वीं रैंक लेकर आए हैं. उन्होंने बताया कि "पढ़ाई के दौरान पूरी तरह से सोशल मीडिया से दूर नहीं रहा. मेरे पास ट्विटर अकाउंट नहीं, लेकिन न्यूज पढ़ने के लिए फेसबुक का इस्तेमाल किया. जिसमें मैंने कई न्यूज पेज को लाइक किया हुआ था. जिसके जरिए मैं खबरें पढ़ता था. वहीं परीक्षा की तैयारी के लिए यूट्यूब की मदद भी ली".
UPSC के सभी टॉपर्स में ये एक बात कॉमन, इसलिए परीक्षा में मारी बाजी
7/8
दूसरे स्थान पर आने वाले जयपुर के अक्षत जैन ने कहा कि उन्होंने व्हाट्सएप का इस्तेमाल "केवल इसलिए किया क्योंकि वहां स्टडी ग्रुप बने हुए थे. साथ ही फेसबुक का इस्तेमाल "रिफ्रेशमेंट के लिए" करता था वो भी 5 मिनट के लिए. उन्होंने बताया फेसबुक पर मैंने लंबे समय से कुछ पोस्ट नहीं किया है"
UPSC के सभी टॉपर्स में ये एक बात कॉमन, इसलिए परीक्षा में मारी बाजी
8/8
बता दें, यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (UPSC) ने 5 मार्च को रिजल्ट जारी कर दिए थे, जिसमें 759 परीक्षार्थी ने कामयाब हुए थे. ये वहीं उम्मीदवार हैं जिन्होंने दिन रात मेहनत करके ये परीक्षा पास की है.


आपको बता दें, सिविल सेवा परीक्षा में इस बार के रिजल्ट में ज्यादातर इंजीनियर्स ने ही बाजी मारी है.  टॉप 50 में 27 इंजीनियर्स उम्मीदवार ने परीक्षा में टॉप किया है. कनिष्क कटारिया को मिलाकर पांच आईआईटी से पास आउट हैं.

Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay