एडवांस्ड सर्च

Advertisement

79 साल की महिला प्रोफेसर, क्यों बिना बिजली के जी रही है जिंदगी

aajtak.in [Edited by: प्रियंका शर्मा ]
08 May 2019
79 साल की महिला प्रोफेसर, क्यों बिना बिजली के जी रही है जिंदगी
1/8
आज के दौर में बिजली के बिना रहना असंभव है. अगर बिजली थोड़ी देर न हो तो रोजमर्रा के कई सारे काम रुक जाते हैं. जरा सोच कर देखिए अगर आपको कहा जाए कि 1 या 2 दिन बिना बिजली के बिना रहिए तो यकीनन आपका जवाब न में ही होगा. वहीं हम आपको ऐसे महिला के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने अपनी पूरी जिंदगी में कभी बिजली का इस्तेमाल नहीं किया. आइए जानते हैं इस महिला के बारे में ... और वह क्यों बिना बिजली के रह रही हैं...

फोटो- ट्विटर


79 साल की महिला प्रोफेसर, क्यों बिना बिजली के जी रही है जिंदगी
2/8
इस महिला का नाम डॉक्टर हेमा साने हैं. वह पेशे से वह प्रोफेसर रह चुकी हैं. बता दें, 79 सालों से वह बिजली के बिना रह पुणे में रह रही हैं.उनका बिजली का उपयोग न करने के पीछे का कारण प्रकृति और पर्यावरण के प्रति प्रेम है.

फोटो: ANI
79 साल की महिला प्रोफेसर, क्यों बिना बिजली के जी रही है जिंदगी
3/8
NDTV की रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने बताया कि- "भोजन, घर और कपड़े बुनियादी जरूरतें हैं". जिनकी जरूरत है, लेकिन ऐसा समय था जब बिजली नहीं थी. बाद में बिजली आई. ऐसे में मैं बिना बिजली के रह सकती हूं."

फोटो: ANI
79 साल की महिला प्रोफेसर, क्यों बिना बिजली के जी रही है जिंदगी
4/8
आपको बता दें,  79 साल की डॉक्टर हेमा साने ने सावित्री बाई फुले पुणे यूनिवर्सिटी से वनस्पति विज्ञान में पीएचडी की डिग्री हासिल की है. वह पुणे के गरवारे कॉलेज में कई साल प्रोफेसर रह चुकी हैं.
फोटो: ANI
79 साल की महिला प्रोफेसर, क्यों बिना बिजली के जी रही है जिंदगी
5/8
हेमा जहां रहती हैं वहा आसपास बहुत सी चिड़ियां, कुत्ते, बिल्लियां हैं.  उनका कहना है वह सभी उनके दोस्त हैं. उन्होंने कहा मैं इनके साथ रहना पसंद करती हूं. साथ ही इनकी देखभाल करती हूं. उन्होंने कहा भले ही लोग मुझे पागल बोलें, लेकिन ये मेरे जीवन जीने का तरीका है. लोग यदि मुझे मूर्ख या पागल बुलाते हैं मुझे फर्क नहीं पड़ता. मैं जैसा रहना चाहतीं हूं वैसे ही रहूंगी."

फोटो: ANI

79 साल की महिला प्रोफेसर, क्यों बिना बिजली के जी रही है जिंदगी
6/8
बता दें, हेमा साने पुणे के बुधवर पेठ इलाके में एक छोटी सी झोपड़ी में रहती है. उनकी झोपड़ी विभिन्न प्रकार के पेड़ों और पक्षियों से घिरी हुई है. जहां खूब सारे पक्षी रहते हैं. उनकी सुबह पक्षियों के मधुर आवाज के साथ शुरू होती है और उसके घर को रोशनी देने वाले चमकदार लैंप के साथ दिन समाप्त हो जाता है.

फोटो: ANI
79 साल की महिला प्रोफेसर, क्यों बिना बिजली के जी रही है जिंदगी
7/8
डॉ हेमा साने ने को प्रकृति से बेहद प्रेम है. उन्होंने वनस्पति विज्ञान और पर्यावरण पर कई किताबें लिखी हैं, जो पहले से ही प्रकाशित और बाजार में उपलब्ध हैं. आज भी, जब भी वह अपने घर में अकेली होती है तो वह नई किताबें लिखती रहती हैं. पर्यावरण पर उसका अध्ययन ऐसा है कि शायद ही कोई पक्षी या पेड़ होगा जिनके बारे में उन्हें जानकारी न हो.

फोटो: ANI


79 साल की महिला प्रोफेसर, क्यों बिना बिजली के जी रही है जिंदगी
8/8
हेमा ने बताया कि मुझे कभी बिजली की जरूरत नहीं पड़ी. लोग अक्सर पूछते हैं कि आप बिना बिजली के कैसे रह लेती हैं? वहीं मैं उनसे पूछती हूं कि आप बिजली के साथ कैसे रहते हैं? उन्होंने बताया कि सभी पक्षी मेरे दोस्त हैं. जब भी मैं अपना घर का काम करती हूं तो वे मेरे पास आ जाते हैं. लोग अक्सर मुझसे पूछते हैं कि आप इस घर को क्यों नहीं बेचते, आपको इतने पैसे मिलेंगे! मैं हमेशा कहती हूं कि इन पेड़ों और पक्षियों की देखभाल कौन करेगा? उन्होंने कहा मैं बाहर नहीं जाना चाहतीं. मैं उनके साथ रहना चाहती हूं. 

फोटो- ट्विटर
Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay