एडवांस्ड सर्च

Advertisement

जानें- कौन हैं वो लड़की, जिसने संसार को दी पहली ब्लैक होल की फोटो

aajtak.in [Edited By: प्र‍िया शांडि‍ल्य]
15 May 2019
जानें- कौन हैं वो लड़की, जिसने संसार को दी पहली ब्लैक होल की फोटो
1/8
आज से 6 साल पहले तक Katie Bouman को ब्लैक होल की ज्यादा जानकारी नहीं थी. 6 साल पहले जब केटी ने इवेंट हाॅरीजन टीम (EHT) को जाॅइन किया था तब उनका बैकग्राउंड कंप्यूटर साइंस एंड इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग का था. उन्हें ब्लैक होल के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं थी. लेकिन EHT का ब्लैक होल प्रोजेक्ट उनके करियर का टर्निंग पाॅइंट साबित हुआ. ब्रह्मांड के रहस्यमयी रचना ब्लैक होल का नाम आपने सुना ही होगा. आज से पहले तक ब्लैक होल की कई कलाकारी प्रस्तुतियां भी सामने आई हैं, लेकिन इन तस्वीरों को केटी बाॅमेन ने वास्तविकता का रूप दिया.
जानें- कौन हैं वो लड़की, जिसने संसार को दी पहली ब्लैक होल की फोटो
2/8
10 अप्रैल 2019 को दुनिया ने ब्रह्मांड में मौजूद रहस्यमयी ब्लैक होल की पहली अद्भुत तस्वीर देखी. ब्लैक होल की इस तस्वीर के लिए 8 लिंक्ड टेलीस्कोप का इस्तेमाल किया गया था. रोमांचित कर देने वाली ब्लैक होल की इस तस्वीर में धधकते हुए सुनहरे और काले रंग के रिंग्स नजर आ रहे थे. यह विज्ञान और मानव विकास के क्षेत्र में एक बड़ी सफलता है.

हार्वर्ड यूनिवर्सिटी की 29 साल की केटी बाॅमेन ने एक ऐसे एलगोरिदम का निर्माण किया जो इस तस्वीर को दुनिया के सामने वास्तविक रूप से लाने में कामयाब रहीं. केटी EHT टीम की अहम सदस्य हैं और कड़ी मेहनत के बाद उन्होंने ब्लैक होल की तस्वीर के लिए डाटा जुटाए और फिर इसे अंजाम दिया.
जानें- कौन हैं वो लड़की, जिसने संसार को दी पहली ब्लैक होल की फोटो
3/8
पृथ्वी से 53 मिलियन प्रकाश वर्ष दूर M87 नाम की गैलेक्सी के सेंटर में मौजूद ब्लैक होल सृष्टि की एक रहस्यमयी रचना है. यह ब्लैक होल सूरज से 6.5 बिलियल टाइम अधिक विशाल है. मोबाइल या कंप्यूटर स्क्रीन पर ब्लैक होल की इस तस्वीर को देखना ना दिखने वाले किसी बिंदु को देखने जैसा है. EHT प्रोजेक्ट के डायरेक्टर और हार्वर्ड के एक वरिष्ठ रिसर्च फेलो शेप डोलमैन के अनुसार ब्लैक होल की इस तस्वीर को देखना वाशिंगटन डीसी में बैठकर लाॅस एंजलिस में एक चैथाई तारीख को पढ़ने जैसा है. 

जानें- कौन हैं वो लड़की, जिसने संसार को दी पहली ब्लैक होल की फोटो
4/8
केटी बाॅमेन का पूरा नाम कैथरीन लुईस बाॅमेन है. केटी एक अमेरिकन कंप्यूटर साइंटिस्ट हैं जो इमेजिंग क्षेत्र में काम कर रही हैं. उन्होंने ब्लैक होल की तस्वीर के लिए एक एलगोरिदम तैयार किया जिसे कंटिन्यूअस हाई-रेजाॅल्यूशन इमेज रिकंस्टक्शन यूजिंग पैच प्राइर्स (CHIRP) कहा जाता है.
जानें- कौन हैं वो लड़की, जिसने संसार को दी पहली ब्लैक होल की फोटो
5/8
पश्चिम लफेट, इंडियाना में जन्मीं केटी ने वेस्ट लफेट जूनियर सीनियर हाई स्कूल से अपनी स्कूलिंग करने के बाद पर्डियू यूनिवर्सिटी से हाई स्कूल की पढ़ाई पूरी की. 2011 में उन्होंने
यूनिवर्सिटी ऑफ मिचिगन से इलेक्ट्रिल इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल और फिर 2013 में मास्टर्स किया और फिर 2017 में मैसेचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलाॅजी (MIT) से
इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग एंड कंप्यूटर साइंस में डाॅक्टरेट की डिग्री हासिल की. विभिन्न वेबसाइट्स की रिपोर्ट के मुताबिक जून 2019 में केटी बॉमेन कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ
टेक्नोलाॅजी में बतौर असिस्टेंट प्रोफेसर ऑफ कंप्यूटिंग एंड मैथेमेटिकल साइंसेज जाॅइन करेंगी.  

जानें- कौन हैं वो लड़की, जिसने संसार को दी पहली ब्लैक होल की फोटो
6/8
बता दें कि ब्लैक होल को बहुत पहले वैज्ञानिक अलबर्ट आइंस्टीन ने वर्गीकृत किया था, बाद में वास्तविक रूप में इसकी पुष्टि की गई. यह विशालकाय ब्लैक होल बहुत ही रहस्यमय है. इन ब्लैक होल्स का जन्म ढ़हते सितारों के कारण होता है.

जानें- कौन हैं वो लड़की, जिसने संसार को दी पहली ब्लैक होल की फोटो
7/8
पश्चिम लफेट, इंडियाना में जन्मीं केटी ने वेस्ट लफेट जूनियर सीनियर हाई स्कूल से अपनी स्कूलिंग करने के बाद पर्डियू यूनिवर्सिटी से हाई स्कूल की पढ़ाई पूरी की. 2011 में उन्होंने
यूनिवर्सिटी ऑफ मिचिगन से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल और फिर 2013 में मास्टर्स किया और फिर 2017 में मैसेचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलाॅजी (MIT) से
इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग एंड कंप्यूटर साइंस में डाॅक्टरेट की डिग्री हासिल की. विभिन्न वेबसाइट्स की रिपोर्ट के मुताबिक जून 2019 में केटी बॉमेन कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ
टेक्नोलाॅजी में बतौर असिस्टेंट प्रोफेसर ऑफ कंप्यूटिंग एंड मैथेमेटिकल साइंसेज जाॅइन करेंगी.
जानें- कौन हैं वो लड़की, जिसने संसार को दी पहली ब्लैक होल की फोटो
8/8
ब्लैक होल की तस्वीर को जुटाने के लिए हवाई, चिली, मेक्सिको, स्पेन, एरिजोना और अंटार्कटिका से आठ रेडियो टेलिस्कोप इकट्ठा किए गए थे और फिर एक डाटा तैयार किया गया. बाॅमेन ने तीन रिसर्चर्स की टीम के साथ मिलकर एल्गोरिदम्स तैयार किए जिसकी वजह से आज हम ब्लैक होल की तस्वीर देख रहे हैं.
Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay