एडवांस्ड सर्च

Advertisement

अपने ड्राइ‍विंग लाइसेंस से फॉरेन में भी चला सकते हैं कार, ये है नियम

aajtak.in
08 July 2019
अपने ड्राइ‍विंग लाइसेंस से फॉरेन में भी चला सकते हैं कार, ये है नियम
1/7
ड्राइविंग लाइसेंस एक बेहद जरूरी  दस्तावेज है. ये हमें सड़क पर गाड़ी चलाने की कानूनी मान्यता देता है. यही नहीं अगर इस दौरान कोई घटना हो जाती है तो एक लाइसेंसधारक पर बिना लाइसेंस वाले से अलग मामला दर्ज होता है. कभी घर के पते और आइडेंटिटी के तौर पर भी ये इस्तेमाल होता है. लेकिन क्या आपको पता है कि आप अपने लाइसेंस से कई अन्य देशों में भी गाड़ी चला सकते हैं.
अपने ड्राइ‍विंग लाइसेंस से फॉरेन में भी चला सकते हैं कार, ये है नियम
2/7
अमेरिका: लाइसेंस यही मगर ड्राइविंग नियम अलग

आपके पास अगर वैलिड ड्राइविंग लाइसेंस है तो अमेरिका में आप तेज रफ्तार का लुत्फ उठा सकते हैं. बस आपको एक ये ही बात याद रखनी होगी कि वहां गाड़ी सड़क के राइट साइड में चलती है. साथ ही ये भी जान लें कि यदि ये ड्राइविंग लाइसेंस अंग्रेजी में नही है तो आपको अंतर्राष्ट्रीय ड्राइविंग परमिट के साथ फॉर्म I-94 की कॉपी भी अपने साथ रखनी होगी. इस फॉर्म में आपके अमेरिका आने की तारीख लिखी होती है.
अपने ड्राइ‍विंग लाइसेंस से फॉरेन में भी चला सकते हैं कार, ये है नियम
3/7
जर्मनी: छह माह यहां भी चल जाएगा काम

अमेरिका की ही तरह जर्मनी में भी ड्रा‍इविंग का नियम होता है. बस हां, यहां आपका इंडियन ड्राइविंग लाइसेंस 6 महीने तक ही वैलिड रहता है. यहां की सड़कों पर आपसे इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस नहीं मांगा जाता. भाषा के मामले में भी यहां ये छूट होती है कि आप इंडियन लाइसेंस की इंग्लिश में ट्रांसलेटेड कॉपी रख सकते हैं. दूतावास भी इसमें मदद करता है. .
अपने ड्राइ‍विंग लाइसेंस से फॉरेन में भी चला सकते हैं कार, ये है नियम
4/7
ऑस्ट्रेलिया: यहां है भारत की तरह ड्राइविंग

क्वींसलैंड की सड़को पर ड्राइविंग करते हुए वहां के नजारे आंखों में कैद करना चाहते हैं तो आपको यहां कोई दिक्कत नहीं होगी. वजह यहां का ट्रैफिक नियम भी भारत से मिलता जुलता है. यहां गाड़ी लेफ्ट साइड में चलाई जाती है. इसलिए 3 महीने तक क्वींसलैंड, न्यू साउथ वेल्स, दक्षिण ऑस्ट्रेलिया, उत्तरी क्षेत्र और ऑस्ट्रेलिया की राजधानी क्षेत्र में गाड़ी चला सकते हैं.
अपने ड्राइ‍विंग लाइसेंस से फॉरेन में भी चला सकते हैं कार, ये है नियम
5/7
सबसे इजी है मॉरीशस में ड्राइविंग

इंडिया का ड्राइविंग लाइसेंस है तो आप मॉरीशस जैसे खूबसूरत देश में गाड़ी लेकर पूरा देश घूम सकते हैं. यहां ड्राइविंग के लिए आपको अंतर्राष्ट्रीय ड्राइविंग परमिट की जरूरत होती है. ड्राइविंग भी यहां सड़क के लेफ्ट साइड में होती है.

अपने ड्राइ‍विंग लाइसेंस से फॉरेन में भी चला सकते हैं कार, ये है नियम
6/7
फ्रांस और नार्वे में भी है मान्य

फ्रांस और नार्वे में भी आप अपने देश के लाइसेंस से गाड़ी चला सकते हैं. दोनों ही देशों में सड़क के राइट साइड में गाड़ी चलाई जाती है. फ्रांस में फ्रेंच वर्जन में इस लाइसेंस से एक साल तक ड्राइव कर सकते हैं. वहीं नार्वे में सिर्फ तीन महीने इसे मान्यता मिलेगी.
अपने ड्राइ‍विंग लाइसेंस से फॉरेन में भी चला सकते हैं कार, ये है नियम
7/7
इन देशों में भी पूरा हो सकता है सपना

स्विट्जरलैंड और साउथ अफ्रीका जैसे खूबसूरत देशों में भी आप स्पीड का आनंद उठा सकते हैं. स्विट्जरलैंड में गाड़ी सड़क के दायीं ओर चलाई जाती है. यहां आप अंग्रेजी वर्जन लाइसेंस में एक साल तक गाड़ी चला सकते हैं. वहीं साउथ अफ्रीका में आपसे इंटरनेशनल परमिट की मांग भी की जाती है.
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay