एडवांस्ड सर्च

Advertisement

इन दो लोगों की आवाज से खुलता है दिल्ली मेट्रो का दरवाजा, जानें- कौन हैं ये

aajtak.in [Edited by: प्रियंका शर्मा]
04 August 2018
इन दो लोगों की आवाज से खुलता है दिल्ली मेट्रो का दरवाजा, जानें- कौन हैं ये
1/10
दिल्‍ली मेट्रो आज दिल्लीवालों के लिए लाइफ लाइन बन गई है. लेकिन क्या आपने कभी इस बात पर गौर किया है कि सफर के दौरान मेट्रो में होने वाली अनाउंसमेंट के जरिए जो निर्देश यात्रियों को दिए जाते हैं आखिर वह आवाज किसकी है?
इन दो लोगों की आवाज से खुलता है दिल्ली मेट्रो का दरवाजा, जानें- कौन हैं ये
2/10
ज्यादातर लोगों का मानना है कि मेट्रो में होने वाली अनाउंसमेंट के पीछे कंप्यूटर वॉइस है. बता दें, इसके पीछे कोई कंप्यूटर वॉइस नहीं बल्कि दो बेहतरीन आवाजें हैं.
इन दो लोगों की आवाज से खुलता है दिल्ली मेट्रो का दरवाजा, जानें- कौन हैं ये
3/10
जिसमें पुरुष की आवाज शम्मी नारंग की है और महिला की आवाज रिनी सिमोन खन्ना की है. आइए जानते हैं इन दोनों के बारे में...
इन दो लोगों की आवाज से खुलता है दिल्ली मेट्रो का दरवाजा, जानें- कौन हैं ये
4/10
शम्मी नारंग: दिल्ली मेट्रो में यात्रा के दौरान जिस पुरुष की आवाज आपको लगातार हिन्दी भाषा में सुनाई देती है, वो आवाज आईआईटी दिल्ली से पोस्‍ट ग्रेजुएशन कर चुके शम्‍मी नारंग की है. बता दें, शम्मी नारंग IIT दिल्ली से इंजीनियरिंग में पोस्ट ग्रेजुएट हैं.
इन दो लोगों की आवाज से खुलता है दिल्ली मेट्रो का दरवाजा, जानें- कौन हैं ये
5/10
शम्मी नारंग जब 19 साल के थे तो उनकी आवाज एक विदेशी इंजीनियर ने सुनी जिसे सुनकर वह काफी प्रभावित हुए.

इन दो लोगों की आवाज से खुलता है दिल्ली मेट्रो का दरवाजा, जानें- कौन हैं ये
6/10
जिसके बाद उन्होंने शम्मी को ‘Voice of America’ के हिन्दी विभाग में मौका दिया. इसके बाद शम्मी नारंग दूरदर्शन से जुड़ गए और दूरदर्शन के जाने माने एंकर रहे. शम्मी नारंग की आवाज का प्रभाव इस बात से पता चलता है कि उन्हें दूरदर्शन ने 10,000 लोगों के बीच से चुना गया था.

इन दो लोगों की आवाज से खुलता है दिल्ली मेट्रो का दरवाजा, जानें- कौन हैं ये
7/10
रिनी सिमोन खन्ना: रिनी मेट्रो में अंग्रेजी में साफ उच्चारण के साथ सारे निर्देश देती हैं. इनके पिता भारतीय वायु सेना के एक अधिकारी थे. इसलिए रिनी को देश के 9 अलग-अलग स्कूलों में पढ़ाई करनी पड़ी. उन्होंने दूरदर्शन के साथ 1985-2001 में न्यूज रीडर की तरह काम किया था. उसके बाद उन्होंने कई जगह वॉइस ओवर आर्टिस्ट और कई इवेंट में एंकर की तरह काम किया.

इन दो लोगों की आवाज से खुलता है दिल्ली मेट्रो का दरवाजा, जानें- कौन हैं ये
8/10
शम्मी नारंग ने बताया जब मेट्रो के ट्रायल शुरू करने के बाद डीएमआरसी की एक मीटिंग चल रही थी तो उस दौरान डीएमआरसी के पूर्व चैयरमेन श्रीधरन बैठे हुए थे और उन्होंने कहा कि एक लड़का है जो काफी अच्छा पढ़ता है उसकी आवाज काफी अच्छी है और लड़कियों में रिनी सिमोन खन्ना की आवाज बेहतरीन है.

इन दो लोगों की आवाज से खुलता है दिल्ली मेट्रो का दरवाजा, जानें- कौन हैं ये
9/10
जिसके बाद मेट्रो के लिए इन दोनों की आवाजों का ट्रायल लिया गया. शम्मी ने बताया कि मुझे और रिनी को ये भी नहीं मालूम था कि 'अगला स्टेशन' के बाद क्या बोलना है. लेकिन ट्रायल के बाद सभी ने हम दोनों की आवाज को खूब पसंद किया. नारंग ने बताया दिल्ली, गुड़गांव और नोएडा हम दोनों के हिस्से में आ गया था.

इन दो लोगों की आवाज से खुलता है दिल्ली मेट्रो का दरवाजा, जानें- कौन हैं ये
10/10
फिर मेट्रो में हमारी आवाज में अनाउंसमेंट होने लगी. ये हमारे लिए गर्व की बात है. शम्मी ने एक इंटरव्यू ने बताया कि ये कहना गलत नहीं होगा कि मेट्रो ने हमारी आवाज को अमर कर दिया है. जब तक मेट्रो रहेगी हमारी आवाज भी रहेगी.

(सभी तस्वीरें फेसबुक से ली गई है)
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay