एडवांस्ड सर्च

Advertisement

लॉकडाउन: जब घर से निकलने पर हो रोक, तब ऐसे रहना होगा

aajtak.in
20 March 2020
लॉकडाउन: जब घर से निकलने पर हो रोक, तब ऐसे रहना होगा
1/8
कोरोना वायरस के संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए देश के 75 जिलों में लॉक डाउन का ऐलान हो चुका है. लोग अब अपने -अपने घरों में ही कैद रहेंगे और जरूरी कामों से ही बाहर जा सकेंगे. सिर्फ भारत ही नहीं दुनिया के कई देशों जैसे चीन, इटली, स्पेन, लंदन आदि में पूरी तरह लॉक डाउन की स्थ‍िति कायम है. आइए जानते हैं आख‍िर ये लॉक डाउन क्या है. इसका कानूनी प्रारूप क्या है, ये कब-कब और कहां किया गया.
लॉकडाउन: जब घर से निकलने पर हो रोक, तब ऐसे रहना होगा
2/8
कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने का अभी तक कोई पुख्ता इलाज नहीं निकल सका है. इससे बचने का एक ही रास्ता है, वो है संक्रमि‍त व्यक्ति‍ से बचाव. देश में जिस तरह से लगातार संक्रमित व्यक्ति‍यों की तादाद बढ़ रही है. उसे देखते हुए हर व्यक्‍त‍ि सोशल डिस्टेंसिंग को अपना रहा है. दिल्ली सरकार ने तो सिनेमा हॉल, स्कूल और मॉल तक बंद करने के आदेश पहले ही दे दिए थे. रविवार को दिल्ली के सातों जिलों में लॉकडाउन का ऐलान हो चुका है.
   
  
   
   
लॉकडाउन: जब घर से निकलने पर हो रोक, तब ऐसे रहना होगा
3/8
जानें- क्या होता है लॉकडाउन
दरअसल लॉकडाउन एक एमरजेंसी व्यवस्था है जो एपिडेमिक या किसी आपदा के वक्त शहर में सरकारी तौर पर लागू होती है. लॉक डाउन की स्थ‍िति में उस क्षेत्र के लोगों को घरों से निकलने की अनुमति नहीं होती है. उन्हें सिर्फ दवा या अनाज जैसी जरूरी चीजों के लिए बाहर आने की इजाजत मिलती है. या फिर बैंक से पैसा निकालने के लिए भी जा सकते हैं.
लॉकडाउन: जब घर से निकलने पर हो रोक, तब ऐसे रहना होगा
4/8
क्यों किया जाता है लॉकडाउन

किसी सोसायटी या शहर में रहने वाले वहां के स्थानीय लोगों को स्वास्थ्य या अन्य जोख‍िम से बचाव के लिए इसे लागू किया जाता है. इन दिनों कोरोना संक्रमण के मद्देनजर कई देशों में इसे अपनाया जा रहा है. लेकिन ये इतना सख्ती से अभी लागू नहीं है. इसे सरकार के बजाय इस बार लोग खुद अपने पर लागू कर रहे हैं. उदाहरण के लिए इटली के कई इलाकों में खुद ही लोगों ने अपने आपको घरों में कैद कर लिया था. ताकि कोरोना का संक्रमण उन तक न पहुंचे. वहीं जिन इलाकों में संक्रमित व्यक्ति‍ ज्यादा मिल जाते हैं, वहां भी लॉकडाउन लागू कर दिया जाता है.
लॉकडाउन: जब घर से निकलने पर हो रोक, तब ऐसे रहना होगा
5/8
चीन सहित इन देशों में लॉकडाउन

कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए चीन, डेनमार्क, लंदन, अमेरिका, अल सलवाडोर, फ्रांस, आयरलैंड, इटली, न्यूजीलैंड, पोलैंड और स्पेन में लॉकडाउन जैसी स्थिति है. बता दें कि चीन में ही सबसे पहले कोरोना वायरस संक्रमण का मामला सामने आया था, इसलिए सबसे पहले वहां लॉकडाउन किया गया. वहां की सरकार ने लोगों को एक तरह से हाउस अरेस्ट रहने के लिए कहा.
लॉकडाउन: जब घर से निकलने पर हो रोक, तब ऐसे रहना होगा
6/8
इसी तरह जब इटली में स्थिति इतनी चिंताजनक हो गई कि वहां हजारों की संख्या में संक्रमित लोग मिलने लगे. ऐसे में इटली के प्रधानमंत्री ने पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया. फिर इटली के नक्शेकदम पर स्पेन और फ्रांस ने भी कोरोना संक्रमण रोकने के लिए यही कदम उठाया.
लॉकडाउन: जब घर से निकलने पर हो रोक, तब ऐसे रहना होगा
7/8
2020 से पहले भी हुआ है लॉकडाउन

सबसे पहले अमेरिका में 9/11 के आतंकी हमले के बाद पूरा देश लॉकडाउन किया गया. तत्कालीन अमेरिकी सरकार ने वहां तीन दिन का लॉकडाउन किया गया था. दिसंबर 2005 में न्यू साउथ वेल्स पुलिस फोर्स ने दंगा रोकने के लिए लॉकडाउन किया था.
लॉकडाउन: जब घर से निकलने पर हो रोक, तब ऐसे रहना होगा
8/8
* 19 अप्रैल, 2013 को बोस्टन शहर को आतंकियों की खोज के लिए लॉकडाउन कर दिया गया था.
* नवंबर 2015 में पैरिस हमले के बाद संदिग्धों को पकड़ने के लिए साल 2015 में ब्रुसेल्स में पूरे शहर को लॉकडाउन किया गया था.
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay