एडवांस्ड सर्च

Advertisement

पाबंदियों के बीच कश्मीरियों का दिल जीत रहीं ये दो महिला अफसर

aajtak.in
13 August 2019
पाबंदियों के बीच कश्मीरियों का दिल जीत रहीं ये दो महिला अफसर
1/13
धारा 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर के कई इलाकों में धारा 144 लागू है. ऐसे में लोगों की मदद के लिए दो महिला अफसर अहम भूमिका निभा रही हैं. ये घाटी के लोगों को सुरक्षा प्रदान कर रही हैं.
पाबंदियों के बीच कश्मीरियों का दिल जीत रहीं ये दो महिला अफसर
2/13
2013 बैच की IAS अफसर डॉ. सईद सहरीश और 2016 बैच की IPS अफसर पीके नित्य की तैनाती श्रीनगर में हुई है. 
पाबंदियों के बीच कश्मीरियों का दिल जीत रहीं ये दो महिला अफसर
3/13
क्या है दोनों की जिम्मेदारी

डॉ. सईद सहरीश घाटी के लोगों को अपने से सैकड़ों किलोमीटर दूर बैठे रिश्तेदारों से बात कराने में मदद कर रही हैं. साथ ही उनके लिए डॉक्टर मुहैया कराने में भी वह लोगों की सहायता कर रही है. यही उनकी जिम्मेदारी है.
पाबंदियों के बीच कश्मीरियों का दिल जीत रहीं ये दो महिला अफसर
4/13
IPS अफसर पीके नित्या को राम मुंशी बाग से लेकर हरवन दागची गांव तक की जिम्मेदारी सौंपी गई है. आपको बता दें, कि 40 किमी के इस संवेदनशील हिस्से में डल झील क्षेत्र और राज्यपाल का निवास है. ये वही क्षेत्र हैं जहां हिरासत में लिए गए वीआईपी लोगों को रखा गया है.
पाबंदियों के बीच कश्मीरियों का दिल जीत रहीं ये दो महिला अफसर
5/13
5 अगस्त को मोदी सरकार ने अनुच्छेद 370 को हटाकर जम्मू-कश्मीर को क्रेंद शासित प्रदेश घोषित कर दिया था. जिसके बाद घाटी में धारा 144 लागू कर दी गई थी. आपको बता दें, जम्मू कश्मीर के केंद्र शासित प्रदेश घोषित होने के 4 दिन बाद ही IAS डॉ. सईद सहरीश असगर को श्रीनगर में जम्मू-कश्मीर प्रशासन का सूचना निदेशक नियुक्त किया गया था. वैसे तो उनका काम सरकार की योजना के बारे में लोगों को जानकारी देना है, लेकिन पिछले 8 दिनों से वह घाटी के लोगों की परेशानियां सुनकर उनकी मदद कर रही हैं. दूसरे शब्दों में कहे तो अभी उनका काम क्राइसिस मैनेजमेंट का है.
पाबंदियों के बीच कश्मीरियों का दिल जीत रहीं ये दो महिला अफसर
6/13
घाटी में सिर्फ 2 महिला अफसर की तैनाती

ये जानकर आपको गर्व महसूस होगा कि घाटी में चल रही तनाव की स्थिति के दौरान सईद सहरीश असगर और पी के नित्या दो ऐसी महिला ऑफिसर हैं जिन्हें घाटी के लोगों की सुरक्षा के लिए तैनात किया गया है. वहीं अन्य सभी शीर्ष महिला अफसर को लद्दाख में तैनात किया गया है.
पाबंदियों के बीच कश्मीरियों का दिल जीत रहीं ये दो महिला अफसर
7/13
जानें- IAS अफसर डॉ. सईद सहरीश असगर के बारे में


सईद सहरीश असगर का एक साल का बेटा है. उन्होंने MBBS की डिग्री ली है और बतौर डॉक्टर जम्मू में प्रैक्टिस कर चुकी हैं. बाद में प्रैक्टिस को बीच में छोड़कर UPSC परीक्षा की तैयारी शुरू की.
पाबंदियों के बीच कश्मीरियों का दिल जीत रहीं ये दो महिला अफसर
8/13
टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने बताया कि बतौर डॉक्टर मैं मरीजों की देखभाल कर चुकी हूं. लेकिन आज घाटी में काम करने की चुनौती अलग ही है. इस समय घाटी के लोगों को कड़ाई और इमोशनल सपोर्ट की जरूरत है. सईद सहरीश असगर कहती हैं अगर महिलाएं समाज में बदलाव ला सकती हैं, तो मुझे सबसे ज्यादा खुशी होगी. उनके पति इस वक्त पुलवामा में कमिश्नर हैं.
पाबंदियों के बीच कश्मीरियों का दिल जीत रहीं ये दो महिला अफसर
9/13
कौन हैं  IPS पी के नित्या

28 साल की पी के नित्या चंडीगढ़ से हैं. IPS ऑफिसर बनने से पहले वह छत्तीसगढ़ में एक सीमेंट कंपनी में मैनेजर के पद पर कार्यरत थीं. कॉर्पोरेट नौकरी को छोड़ने के बाद वह IPS बनीं.
पाबंदियों के बीच कश्मीरियों का दिल जीत रहीं ये दो महिला अफसर
10/13
पी के नित्या ने बताया कि लोगों की सुरक्षा करना कॉर्पोरेट नौकरी से कहीं ज्यादा चुनौतीपूर्ण है. घाटी में लोगों की सुरक्षा करना आसान नहीं है. ये छत्तीसगढ़ में मेरी जिंदगी से काफी अलग है.
पाबंदियों के बीच कश्मीरियों का दिल जीत रहीं ये दो महिला अफसर
11/13
बता दें, वह नेहरू पार्क की सब-डिविजनल पुलिस ऑफिसर हैं. जहां उन्हें आम नागरिकों की सुरक्षा के साथ ही वीवीआईपी की सुरक्षा भी देखनी होती है.
पाबंदियों के बीच कश्मीरियों का दिल जीत रहीं ये दो महिला अफसर
12/13
उन्होंने बताया कई बार हमें गुस्साए लोगों का सामना करना पड़ता है. जिसमें आने-जाने वाले यात्री, व्यापारी और शिक्षकों शामिल होते हैं. जिनसे निपटना पड़ता है. उन्हें कंट्रोल करना पड़ता है. उन्होंने बताया कि मैं छत्तीसगढ़ के दुर्ग से हूं. जहां का माहौल काफी शातिपूर्ण हैं. लेकिन मुझे चुनौतियां पसंद हैं. जिसका मैं डटकर सामना कर रही हूं.
पाबंदियों के बीच कश्मीरियों का दिल जीत रहीं ये दो महिला अफसर
13/13
नित्य ने केमिकल इंजीनियरिंग से बीटेक की पढ़ाई की है वह कश्मीरी और हिंदी के अलावा तेलुगू भी बहुत अच्छी बोल लेती हैं.
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay