एडवांस्ड सर्च

Advertisement

हिंदू-मुस्लिम करते हैं लंगर की तैयारी, करतारपुर की Exclusive फोटो

प्रियंका शर्मा
11 November 2019
हिंदू-मुस्लिम करते हैं लंगर की तैयारी, करतारपुर की Exclusive फोटो
1/11
करतारपुर कॉरिडोर 9 नवंबर को खोल दिया गया है. अब भारतीय सिख श्रद्धालु पाकिस्तान में पड़ने वाले अपने सबसे पवित्र स्थलों में से एक गुरुद्वारा दरबार साहिब करतारपुर की यात्रा आसानी से कर सकेंगे. बता दें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंजाब के गुरदासपुर में करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन किया था. उन्होंने डेरा बाबा नानक स्थित कॉरिडोर के चेकपोस्‍ट से 550 श्रद्धालुओं का पहला जत्था करतारपुर रवाना किया था. आइए ऐसे में देखते हैं कैसा 'गुरुद्वारा दरबार साहिब करतारपुर' और कैसे होती है लंगर की तैयारी.
हिंदू-मुस्लिम करते हैं लंगर की तैयारी, करतारपुर की Exclusive फोटो
2/11
करतारपुर कॉरिडोर सिखों का पवित्र तीर्थ स्थल है. यह सिखों के प्रथम गुरु, गुरुनानक देव जी का निवास स्थान था.

(करतारपुर गुरुद्वारे जाने वाला इंटरनेशनल हाइवे)
हिंदू-मुस्लिम करते हैं लंगर की तैयारी, करतारपुर की Exclusive फोटो
3/11
ये दुनिया का सबसे बड़ा गुरुद्वारा है. ऐसा माना जाता है  गुरु नानक 1522 में करतारपुर आए थे और अपनी जिंदगी के 17 साल 5 महीने 9 दिन यहीं गुजारे थे.

हिंदू-मुस्लिम करते हैं लंगर की तैयारी, करतारपुर की Exclusive फोटो
4/11
आपको बता दें, 1947 में देश के बंटवारे के साथ ऐसा पहली बार हुआ है जब करतारपुर गुरुद्वारा में श्रद्धालु आसानी से दर्शन कर सकते हैं.


हिंदू-मुस्लिम करते हैं लंगर की तैयारी, करतारपुर की Exclusive फोटो
5/11
जब भारतीय पाकिस्तान करतारपुर साहिब के दर्शन करने नहीं जा पाते थे, वह भारतीय सीमा में डेरा बाबा नानक स्थित गुरुद्वारा शहीद बाबा सिद्ध सैन रंधावा में दूरबीन की मदद से दर्शन करते हैं.

(लंगर की तैयारी करते हुए सेवक)
हिंदू-मुस्लिम करते हैं लंगर की तैयारी, करतारपुर की Exclusive फोटो
6/11
करतारपुर जाने वाले एक श्रद्धालु ने बताया था वहां का नजारा काफी भव्य दिया.


(
करतारपुर गुरुद्वारे का भव्य नजारा)
हिंदू-मुस्लिम करते हैं लंगर की तैयारी, करतारपुर की Exclusive फोटो
7/11
हिंदू- मुस्लिम समुदाय के दोनों लोग मिलकर बड़े प्यार से लंगर की तैयारी और सेवा करते हैं.

(करतारपुर जाने वाला हाइवे पर कड़ी सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं)
हिंदू-मुस्लिम करते हैं लंगर की तैयारी, करतारपुर की Exclusive फोटो
8/11
जिस दिन करतारपुर कोरिडोर का उद्घाटन हुआ था उसे बेहद ही खूबसूरत तरीके से सजाया गया था.




हिंदू-मुस्लिम करते हैं लंगर की तैयारी, करतारपुर की Exclusive फोटो
9/11
करतारपुर गुुरुद्वारे में श्रद्धालू के बैैठने के अच्छे इंतजाम किए गए हैं. जहां वह आराम से बैैठकर गुरुनानक का ध्यान कर सकते हैं.
हिंदू-मुस्लिम करते हैं लंगर की तैयारी, करतारपुर की Exclusive फोटो
10/11
गुरुनानक देवजी का समाधि स्थान. बता दें, करतारपुर गुरुद्वारे में गुरुनानक की समाधि और कब्र अब भी मौजूद है. समाधि गुरुद्वारे के अंदर है और कब्र बाहर है. इस कॉरिडोर को डेरा बाबा नानक जो गुरुदासपुर में है. वहां से लेकर इंटरनेशन बॉर्डर तक बनाया गया है. ये कॉरिडोर लगभग 3 से 4 किलोमीटर का है. बता दें, इस बनवाने के लिए दोनों देशों की सरकारों ने फंड दिया था.

(करतारपुर जाने वाला हाइवे)
हिंदू-मुस्लिम करते हैं लंगर की तैयारी, करतारपुर की Exclusive फोटो
11/11
करतारपुर कॉरिडोर जाने के लिए प्रत्येक भारतीय तीर्थयात्री से 20 अमेरिकी डॉलर यानी करीब 1,400 रुपये एंट्री फीस पाकिस्तान सरकार को देनी होगी. इसी गुरुद्वारे में सबसे पहले लंगर की शुरुआत हुई थी. 



Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay