एडवांस्ड सर्च

Advertisement

'महीनों पहले से विश्व कप पर थी नजरें' । धोनी बनाम संगाकारा

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि विश्व कप पर दो साल पहले ही से उनकी नजरें थी और वे अपने प्रमुख खिलाड़ियों को फिट तथा फार्म में रखना चाहते थे.
'महीनों पहले से विश्व कप पर थी नजरें' । <a style='COLOR: #d71920' href='http://is.gd/IoH4Sl' target='_blank'>धोनी बनाम संगाकारा</a>
भाषामुंबई, 03 April 2011

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि विश्व कप पर दो साल पहले ही से उनकी नजरें थी और वे अपने प्रमुख खिलाड़ियों को फिट तथा फार्म में रखना चाहते थे.

धोनी ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि हमने बड़ी उपलब्धि हासिल की है. करीब डेढ साल पहले ही हमने विश्व कप पर नजरें गड़ा ली थी. मैदान पर हम चाहे जैसा भी खेलें, हमारा दीर्घकालिक लक्ष्य विश्व कप जीतना था. हम खिलाड़ियों को फिट रखना चाहते थे.

उन्होंने कहा कि हम चाहते थे कि हमारे सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी फार्म में और फिट रहे. यह बड़ी चुनौती थी. हम मैदान पर सौ फीसदी से अधिक देने में कामयाब रहे. सही समय पर अच्छा प्रदर्शन किया. हम एक दूसरे के लिये जीतना चाहते थे.

यह पूछने पर कि विजयी छक्का मारने के बाद भी उन्होंने अपने जज्बात जाहिर क्यों नहीं किये, कैप्टन कूल ने कहा कि मैं दुविधा में था, मैं स्टम्प चाहता था. मैं बीच के बीच था और युवराज दूसरी ओर. मुझे लगा कि एक दूसरे के गले बाद में लग जायेंगे लेकिन वह आया और मुझ पर कूद गया. धोनी ने यह भी कहा कि जीत के खुमार में डूबने का खिलाड़ियों के पास समय नहीं है क्योंकि आठ अप्रैल से आईपीएल भी शुरू हो रहा है.

उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि हमारे पास पर्याप्त समय है. मैं रविवार को दिल्ली जा रहा हूं. इसके बाद आईपीएल है. विश्व कप जीतने के खुमार में डूबने का समय नहीं है. आईपीएल टीम के लिये खेलने का भी काफी दबाव होता है.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay