एडवांस्ड सर्च

पाकिस्तान का इतिहास जानने के लिए 5 सबसे मुफीद किताबें

पाकिस्तान के इतिहास को समझने के लिए कुछ गंभीर किताबें लिखी गई हैं. आगे जानिए उन किताबों के बारे में, जो पाकिस्तान के इतिहास की हैं 5 सबसे बेहतरीन किताबें.

Advertisement
aajtak.in
विकास त्रिवेदीनई दिल्ली, 07 May 2015
पाकिस्तान का इतिहास जानने के लिए 5 सबसे मुफीद किताबें द आइडिया ऑफ पाकिस्तान- स्टीफिन पी कोहेन

बंटवारे के बाद पाकिस्तान का एक अलग और रोचक इतिहास रहा है. मोहम्मद अली जिन्ना का पाकिस्तान के निर्माण में बड़ा योगदान रहा. पाकिस्तान के इतिहास को लेकर फिल्मों से लेकर गली मोहल्लों के किस्सों की अपनी दास्तां हैं. लेकिन गंभीरता से दिलचस्पी रखने वाले लोग इन पांच किताबों का रुख करें. ये किताबें पड़ोसी देश के इतिहास का शानदार ब्योरा देती हैं. 

1. द ग्रेट डिवाइड ब्रिटेन-इंडिया-पाकिस्तान: एचवी हॉडसन की इस किताब में पाकिस्तान के अंतिम दिनों में ब्रिटिश शासन को बेहतर और विस्तार से समझाया गया. लेखक ने बंटवारे के अंतिम दिनों की सियायत और पाकिस्तान के बनने में हुई सियासी दिक्कतों को विस्तार से लिखा है.

2. द सोल स्पोक्समैन: जिन्ना, द मुस्लिम लीग एंड द डिमांड फॉर पाकिस्तान: इस किताब को आएशा जलाल ने लिखा. किताब में पाकिस्तान के निर्माण को लेकर फैली कई मिथ्याओं को दूर करने की कोशिश की गई. आएशा ने किताब के जरिए बताया कि किस तरह से जिन्ना ने भारत के मुस्लिमों का हित सोचते हुए ब्रिटिश सरकार से बात की. इसके साथ ही जिन्ना की सोच को बेहतर तरीके से बताया गया.

3. जिन्ना, क्रिएटर ऑफ पाकिस्तान: इस किताब को हेक्टर बोलिथो ने लिखा. जिन्ना की जिंदगी पर आधारित इस किताब को पहली प्रमाणिक बॉयोग्राफी माना जाता है. बोलिथो ने किताब लिखने के लिए कई जिन्ना के करीबियों का इंटरव्यू किया.

4. द आइडिया ऑफ पाकिस्तान: इस किताब को स्टीफिन पी कोहेन ने लिखा. पाकिस्तान को लेकर आम लोगों के बीच जो एक धारणा है. ये किताब उस धारणा को तोड़ने का काम करती है. इस किताब में पाकिस्तान में आर्मी का महत्व, विदेश नीति, इस्लाम का महत्व, अर्थव्यवस्था पर विस्तार से जिक्र किया गया. किताब में कुछ मुद्दों पर पाकिस्तान के विफल होने का भी जिक्र किया गया.

5. द मर्डर ऑफ हिस्ट्री: पाकिस्तान की किताबों में इतिहास की आलोचना करती इस किताब को केके अजीज ने लिखा. स्कूल में बच्चों को जो किताब में पढ़ाया जाता है, उसका उनकी भविष्य की सोच पर काफी असर रहता है. पाकिस्तान के स्कूलों में बच्चों को जो इतिहास पढ़ाया जाता है, उस इतिहास की आलोचना केके अजीज ने अपनी किताब में की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay