एडवांस्ड सर्च

गावस्‍कर-बार्डर सीरीज एशेज से बड़ी: सहवाग

हाल के दिनों में भारत ने अच्‍छा खेल दिखाया है और हमारे पास विराट कोहली, शिखर धवन, आकाश चोपड़ा और प्रदीप सांगवान जैसे काफी टैलेंट युवा खिलाड़ी हैं. जबकि आस्‍ट्रेलिया के पास अब शेन वार्न और मैक्‍ग्रा नहीं हैं. आस्ट्रेलिया को इनकी कमी खलेगी.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.inनई दिल्‍ली, 02 October 2008
गावस्‍कर-बार्डर सीरीज एशेज से बड़ी: सहवाग सहवाग

भारत में क्रिकेट का सीजन आने वाला है. ईरानी ट्राफी के बाद आस्‍ट्रेलिया दौरा होने वाला है. यह सीजन भारत के लिए कहीं ना कहीं परीक्षा की तरह हो सकता है. इस बारे में बात करने के लिए हमारे साथ हैं वीरेंद्र सहवागः

बड़ा सीजन, अच्‍छा सीजन हो सकता है भारत के लिए?
जी जरूर, ईरानी ट्राफी के बाद आस्‍ट्रेलिया और इंग्‍लैंड की टीम भारत आ रही है और उसके बाद हमलोग पाकिस्‍तान जा रहे हैं, तो काफी अच्‍छा क्रिकेट सीजन है. खासकर टेस्‍ट क्रिकेट है. दर्शकों को अगले तीन महीने में क्रिकेट देखने को मिलेगा. काफी मजा आएगा और हम इसी के बारे में सोच रहे हैं. भारत-आस्‍ट्रेलिया और भारत-इंग्‍लैंड के टेस्‍ट मैच दर्शक देख सकते हैं. मुझे इससे कहीं ज्‍यादा मजा ईरानी ट्राफी में आएगा, जहां दिल्‍ली की टीम शेष भारत के साथ खेलेगी.

जी, और ईरानी ट्राफी इस सीजन में भारतीय टीम को गति दे सकती है?
बिल्‍कुल, ईरानी ट्राफी में अगर दिल्‍ली का कोई लड़का बढि़या परफार्म करता है तो उन्‍हें भी आने वाले सीरीज में खेलने का मौका मिल सकता है. विराट कोहली, शिखर धवन, आकाश चोपड़ा और प्रदीप सांगवान की बात भी चल रही है. काफी टैलेंट है. ये ईरानी ट्रॉफी में अच्‍छा परफार्म करते हैं तो इन्‍हें मौका मिल सकता है.

साइमन कैटिच ने अभी कहा कि एशेज से बड़ी है भारत-आस्‍ट्रेलिया सीरीज?
बिल्‍कुल सही है, भारत-आस्‍ट्रेलिया सीरीज ऐशज से बड़ी है.आस्‍ट्रेलिया और इंग्‍लैंड की आबादी को मिला दी जाए तो भारत उससे कहीं बड़ा देश है. भारत में उससे कहीं ज्‍यादा दर्शक सीरीज को देखते हैं. इसके साथ जोश बहुत है, दर्शक ज्‍यादा है, कवरेज ज्‍यादा है तो खुद ब खुद यह बड़ी सीरीज हो जाती है. हाईप भी बहुत ज्‍यादा है. वैसे भी विश्‍व चैंपियन आस्‍ट्रेलिया के साथ खेलते हुए मजा आता है. काफी मजबूत टीम है आस्‍ट्रेलिया.

हां, एक बात और भारत आस्‍ट्रेलिया के बीच एकतरफा मैच नहीं होता. भारत भी कड़ा संघर्ष देता है.
जी, पिछले कुछ समय से ऐसा हो रहा है कि दोनों टीम एक एक मैच जीतती है और अंतिम में जो मैच जीतता है वह विजेता हो जाता है.

इस बार जो आस्‍ट्रेलियाई टीम है उसको देखते हुए क्‍या यह माना जा सकता है कि भारत फेवरेट होगा?
कह सकते हैं. इधर भारत ने अच्‍छा खेल दिखाया है. भारत का पलड़ा सचमुच में भारी है. आस्‍ट्रेलिया की गेंदबाजी में इस बार कमी दिखेगी. शेन वार्न और मैक्‍ग्रा जैसे गेंदबाज अब आस्‍ट्रेलियाई टीम का हिस्‍सा नहीं है. स्पिन गेंदबाज की कमी खलेगी क्‍योंकि भारत में पिच स्पिन गेंदबाजी को मदद देती हैं.

अच्‍छा, तो क्‍या यह एक बल्‍लेबाज बोल रहा है या...
जी बिल्‍कुल, किसी भी टीम को देखिए तो पता चलेगा कि जो तेज गेंदबाजी को खेल लेता है, उसे फिर बढि़या स्पिन गेंदबाजी आउट कर सकती है, जो फिलहाल आस्‍ट्रेलिया के पास नहीं है.

आप के खुद के लिए इस सीरीज या इस सीजन के क्‍या मायने हैं?
बहुत मायने हैं, मैं चाहूंगा कि आस्‍ट्रेलिया के खिलाफ रन बनाऊं, बड़े स्‍कोर करूं जो मैं करता आया हूं क्‍यों‍कि जब आप अच्‍छी टीम के खिलाफ रन बनाते हैं तो इसकी प्रशंसा होती है और हर खिलाड़ी चाहता है कि उसके खेल को प्रशंसा मिले.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay