एडवांस्ड सर्च

आभासी शतरंज का लुत्फ लिया क्या ?

इस फॉर्मेट में 14 वर्ष की उम्र के किशोर ग्रैंड मास्टर्स को चुनौती दे सकेंगे.

Advertisement
देवांशु दत्तानई दिल्ली, 08 March 2018
आभासी शतरंज का लुत्फ लिया क्या ? इलेस्ट्रशनः तन्मय चक्रव्रर्ती

बीते सप्ताह द मुंबई मूवर्स ने वोल्गा स्टॉर्मब्रिंगर्स को धो डाला. दिल्ली डायनामाइट ने रीगा मैजिशियंस को धराशायी कर दिया. मार्सिले माइग्रेन, स्टॉकहोम स्नोबॉल के लिए बड़ा सिरदर्द साबित हुआ.

वेद्ब्रस्टर विंडमिल ने मिनिसोटा ब्लिजर्ड को उखाड़ फेंका और सैन होज हैकर ने चेंगंडू पांडाज के पर कतर दिए. आपका प्रो चेस लीग में स्वागत है. 12 सप्ताह के इस ऑनलाइन शतरंज टूर्नामेंट में दुनिया के शीर्ष खिलाड़ी दो-दो हाथ करते दिखेंगे.

शतरंज विश्व चैंपियन मैगनस कार्लसन (नॉर्वे नोम्स), पूर्व विश्व चैंपियन विश्वनाथन आनंद (मुंबई मूवर्स) से लेकर मौजूदा टॉप 20 शतरंज खिलाड़ियों में से ज्यादातर इसमें हिस्सा ले रहे हैं.

जहां तक दर्शकों का सवाल है, एक आभासी शतरंज प्रतियोगिता का लुत्फ लेने तो चुनिंदा लोग ही आएंगे. लेकिन यह शतरंज के खेल का एक ताजातरीन संस्करण है जिसे लोगों को अपने साथ आसानी से जोड़ने के नजरिए से डिजाइन किया गया है. इस लीग के कमिशनर ग्रेग शाहेदे कहते हैं, ''मैंने अमेरिकन फुटबॉल और यूरोपीय फुटबॉल प्रतियोगिताओं से आइडिया लिया.

मेरे पास 10 साल तक यूएस चेस लीग को भी चलाने का अनुभव है.'' आठ टीमों के साथ चार डिवीजन बनाए गए हैं. मैच ज्यादातर बुधवार और शनिवार को खेले जाते हैं.

हर मैच में चार खिलाड़ियों की टुकड़ी जोड़े में बनाई जाती है और हर खिलाड़ी को विपक्षी टीम के सभी खिलाड़ियों के साथ खेलना होता है. खेल का फॉर्मेट रैपिड कंट्रोल वाला रखा गया है (हर खेल में प्रत्येक खिलाड़ी को 15 मिनट मिलते हैं) ताकि हर मैच दो से तीन घंटे में पूरा हो जाए.

हर डिविजन से दो टीमें नॉक आउट मुकाबले के लिए क्वालिफाइ करती हैं और नॉक ऑउट मुकाबले तब तक चलते हैं जब तक कि कोई चैंपियन टीम न मिल जाए.

टूर्नामेंट अप्रैल के पहले हफ्ते में पूरा होगा.

टीम के सदस्य कहीं से भी खेल रहे होते हैं. किसी प्रकार की हेराफेरी की संभावना को खत्म करने के लिए उनकी वीडियोग्राफी और मॉनिटरिंग होती है. हर गेम का Chess.com और Twitch.tv पर लाइव वेब प्रसारण होता है.

कमेंटरी प्राय: सुपरस्टार्स किया करते हैं. हर डिविजन की सबसे नीचे रह गई दो टीमों को मुकाबले से बाहर कर दिया जाता है. खाली हुई आठ जगहों को भरने के लिए फिर से क्वालिफायर होते हैं.

शाहेदे कहते हैं, ''क्वालिफायर अक्तूबर 2017 में कराए गए थे और प्रो चेस लीग के आठ स्थानों के लिए 40 टीमें चुनी गई थीं. वैसे तो हमारी मुख्य लीग में 32 टीमें हैं पर वास्तव में हमारे पास 70 से अधिक टीमें उपलब्ध हैं!''

टीमें अपना बड़ा दल रख सकती हैं जिसमें सुपर ग्रैंडमास्टर भी शामिल हो सकते हैं. लेकिन मैचों में खिलाड़ियों की औसत रेटिंग बनाए रखना जरूरी है. मसलन अगर मुंबई मूवर्स अपने दोनों ग्रैंड मास्टर्स आनंद और विदित गुजराती (भारत के नंबर 3 और विश्व रैंकिंग में 30वें स्थान के खिलाड़ी) के साथ खेलता है तो इसे दो अपेक्षाकृत कमजोर खिलाड़ी भी साथ में रखने होंगे ताकि रेटिंग नीचे रहे.

प्रत्येक टीम को हर मैच में कम से कम तीन घरेलू खिलाड़ी रखने होंगे. चैथा खिलाड़ी एक 'फ्री एजेंट' हो सकता है जिसे कहीं से भी लिया जा सकता है. मुंबई मूवर्स छह राउंड के खेल के बाद ईस्टर्न डिविजन में सबसे आगे चल रहे थे. दिल्ली डायनामाइट और आर्मेनिया ईगल्स ने दूसरे स्थान के लिए बराबरी पर खेल रोका.

दिल्ली डायनामइट की किशोरवय मैनेजर देवांशी राठी कहती हैं, ''इंटरनेशनल मास्टर विशाल सरीन और मैंने मिलकर यह टीम बनाई है. हमने लॉजिस्टिक्स का इंतजाम किया और योजना तैयार की.

हमने पिछले साल के अपने ज्यादातर खिलाड़ियों पर फिर से दांव खेला है. इंटरनेशनल मास्टर हेमंत शर्मा और भारत के नंबर 2 और विश्व रैंकिंग में 25वें नंबर के खिलाड़ी पेंटल हरिकृष्ण जैसे खिलाड़ी इस बार टीम के साथ जुड़े हैं.

हमारी टीम में अभिजीत गुप्त, सलीम सालेह, वैभव सूरी, सहज ग्रोवर, ललित बाबू के रूप में ग्रैंड मास्टर्स और तानिया सचदेव और निहाल सरीन के रूप में इंटरनेशनल मास्टर्स भी हैं. हमारे टीम की आराध्या गर्ग, जिनके पास अभी कोई टाइटल नहीं है, ने पिछले साल मैगनस कार्लसेन को लगभग हरा दिया था.''

इस खेल के प्रायोजक और वेबहोस्ट Chess.com ने 56,000 डॉलर की इनामी राशि रखी है. इसमें 10,000 डॉलर विजेता टीम के लिए, 2,500 डॉलर सबसे कीमती खिलाड़ी के लिए रखने के अलावा कुछ छोटे-छोटे इनाम (जैसे गेम ऑफ द वीक के लिए 100 डॉलर, मूव ऑफ द वीक के लिए 100 डॉलर) भी हैं.

एक फैंटेसी लीग भी है जहां प्रशंसक अपने चार सर्वश्रेष्ठ खिलाडिय़ों का चयन करते हैं. शाहेदे कहते हैं कि Chess.com जैसे वेबकास्टर को साथ जोड़ना 2018 प्रो चेस लीग के लिए एक बड़ी बात है. प्रो चेस लीग के लिए माहौल बनाने का फायदा यह होगा कि इससे शतरंज आधारित अन्य गतिविधियों के लिए भी मौके बनेंगे.

***

पाएं आजतक की ताज़ा खबरें! news लिखकर 52424 पर SMS करें. एयरटेल, वोडाफ़ोन और आइडिया यूज़र्स. शर्तें लागू
Advertisement
पाएं आजतक की ताज़ा खबरें! news लिखकर 52424 पर SMS करें. एयरटेल, वोडाफ़ोन और आइडिया यूज़र्स. शर्तें लागू
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay