एडवांस्ड सर्च

सेलिब्रेटिज, महिलाओं, समलैंगिकता पर क्या है देश का मिजाज

महिलाओं के लिए पूरी तरह सजग पर समलैंगिकों से बेखबर भारत. यह देश अपनी महिलाओं के अधिकारों के लिए सड़कों पर खड़ा है, लेकिन स्वीकार्य नैतिक दायरों से बाहर की सेक्सुअल पसंद से चोट खा जाता है.

Advertisement
aajtak.in
एस. प्रसन्नाराजननई दिल्ली, 04 February 2014
सेलिब्रेटिज, महिलाओं, समलैंगिकता पर क्या है देश का मिजाज

भारत विरोधाभासों का देश है. यह देश अपनी महिलाओं के अधिकारों के लिए सड़कों पर खड़ा है, लेकिन स्वीकार्य नैतिक दायरों से बाहर की सेक्सुअल पसंद से चोट खा जाता है. फीकी पड़ती सानिया मिर्जा को अपनी पीढ़ी में क्रिकेट से बाहर सबसे बड़ा खिलाड़ी मानने वाला देश लिएंडर पेस और मैरी कॉम के नाम के बारे में सोचता तक नहीं, हालांकि सानिया ने वर्षों से एक भी बड़ा टूर्नामेंट नहीं जीता है.


 जिस देश के लोगों का दिल हमेशा सलमान खान के साथ धड़कता है, उन्हें इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि एक साल से ज्यादा समय से उनकी एक भी फिल्म रिलीज नहीं हुई जबकि दूसरे खान अभिनेताओं ने बॉक्स ऑफिस पर रिकॉर्ड तोड़े हैं. दीपिका पादुकोण ने 2013 में चार धमाकेदार फिल्में दीं, फिर भी उनका नाम भारत की मनपसंद हीरोइन कैटरीना कैफ के बाद आता है. लेकिन दूसरे अहम मामलों में यह भावना कहीं दिखाई नहीं देती.

सर्वेक्षण में शामिल आधे लोग महिलाओं के प्रति अपराध रोकने के लिए और कड़े कानून चाहते हैं, जबकि उनमें से ज्यादातर का यकीन है कि सोच बदले बिना सिर्फ कानून बदलने से समस्या नहीं सुलझेगी. इंडिया टुडे ग्रुप-सी वोटर देश का मिजाज सर्वेक्षण से उभरते इसी तरह के विरोधाभासों की वजह से ही तो भारत दिलचस्प लेकिन तमाम अनुमानों से परे का देश है.








आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay