एडवांस्ड सर्च

हवा में घुली धूल से घटी विजिबिलिटी, चंडीगढ़ में विमानों की उड़ान पर ब्रेक

राजस्थान से उठी धूल भरी आंधी ने दिल्ली, पंजाब और हरियाणा के लोगों को परेशान कर दिया है. ताजा खबर ये है कि चंडीगढ़ के आसमान में धूल की ऐसी चादर बिछ गई है कि सुबह से विमानों की आवाजाही पर ब्रेक पर लग गया है. सुबह से चंडीगढ़ में ना विमानों की लैंडिंग हो रही है और ना ही टेकऑफ.

Advertisement
मनजीत सहगल [Edited By: अजीत तिवारी]नई दिल्ली, 14 June 2018
हवा में घुली धूल से घटी विजिबिलिटी, चंडीगढ़ में विमानों की उड़ान पर ब्रेक धूल भरी आंधी (फाइल फोटो)

धूल भरी आंधी ने दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और राजस्थान के लोगों का जीना दूभर कर दिया है. हवा में घुली धूल के कारण लोगों को सांस लेने में भी तकलीफ हो रही है. वहीं कम विजिबिलिटी होने के कारण चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर विमानों की आवाजाही पर रोक लगा दी गई है.

राजस्थान से उठी धूल भरी आंधी ने दिल्ली, पंजाब और हरियाणा के लोगों को परेशान कर दिया है. ताजा खबर ये है कि चंडीगढ़ के आसमान में धूल की ऐसी चादर बिछ गई है कि सुबह से विमानों की आवाजाही पर ब्रेक पर लग गया है. सुबह से चंडीगढ़ में ना विमानों की लैंडिंग हो रही है और ना ही टेकऑफ.

चंडीगढ़ के अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के अधिकारियों ने कहा कि आसमान में धुंध छाने से विजिबिलिटी बहुत कम हो गई है. इससे विमानों को उड़ाना या नीचे उतारना कठिन हो गया है. चंडीगढ़ हवाई अड्डे के विस्तार का काम अभी अधूरा है. इसके चलते खराब मौसम में यहां विमान उतरना या उड़ाना मुश्किल हो जाता है.

हवा में धूल के कणों की बढ़ी मात्रा के कारण विमानों की आवाजाही पूरी तरह से ठप हो गई है. ऐसा लग रहा है मानों मौसम का 'आफतकाल' लागू हो गया हो.

चंडीगढ़ के मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 36 घंटों तक यही स्थिति बनी रहेगी, यानी अगले 36 घंटों तक खराब मौसम के कारण यात्री परेशान होते रहेंगे.

चंडीगढ़ के मौसम विभाग के प्रमुख डॉक्टर सुरेंद्र पाल ने बताया कि यह धूल भरी हवाएं राजस्थान से चली हैं. इनमें पानी के कण होने के कारण उन पर धूल बैठ गई है. नतीजतन विजिबिलिटी कम हो गई. उन्होंने कहा कि शुक्रवार दोपहर बाद पश्चिमी विक्षोभ इन धूल भरी हवाओं से निजात दिला सकता है. अगले अगले 48 से 72 घंटों के दौरान बारिश या गरज के साथ छींटे पड़ सकते हैं.

दिल्ली में रुक सकता है कंस्ट्रक्शन

दिल्ली में सांस लेने पर आफत बनी हुई है. शहर के कई इलाकों में प्रदूषण का स्तर खतरनाक स्तर से भी काफी ऊपर पहुंच गया है. खबर है दिल्ली-एनसीआर में कुछ दिनों के लिए निर्माण कार्य पर रोक लग सकती है. सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के सचिव ए सुधाकर ने कहा कि अगर हालात इसी तरह बने रहे तो एनसीआर में निर्माण कार्य रोके जाएंगे. इस हालत से निजात सिर्फ और सिर्फ बारिश ही दिला सकती है, लेकिन फिलहाल दो दिनों तक इसकी कोई संभावना नहीं है.

कई राज्यों में कुदरत का कोप

बता दें कि दिल्ली -एनसीआर, पंजाब, हरियाणा, यूपी और राजस्थान के अलावा केरल में भी लोग कुदरत के कोप से परेशान हैं. केरल में भारी बारिश से सड़कें समंदर बन गईं तो यूपी में एक बार फिर मौत के तूफान ने 13 लोगों की जिंदगी छीन ली है. राजस्थान में रेत का तूफान उठा है और उसके असर से दिल्ली की हवा दमघोंटू बनी हुई है. उधर, पूर्वोत्तर के कई सूबों में बाढ़ का संकट खड़ा हो गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay