एडवांस्ड सर्च

देश का मिजाजः मोदी के सामने ममता की चुनौती

जुझारू ममता बनर्जी 2019 में मोदी के सामने मजबूत चुनौती पेश करने वाले नेताओं में सबसे आगे. असल में, जब से नीतीश कुमार महागठबंधन ने बंधन तोड़कर लालू प्रसाद के राजद से हाथ छुड़ाकर भाजपा का दामन थाम लिया, ममता लोकप्रियता के मामले में उनसे आगे निकल गईं. 

Advertisement
अजित कुमार झा 21 August 2018
देश का मिजाजः मोदी के सामने ममता की चुनौती ममता बनर्जी

जुलाई 2017 में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार यूपीए से एनडीए में आ गए, तो पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल नेता ममता बनर्जी उन्हें पछाड़कर देश की नंबर 1 मुख्यमंत्री बन गईं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मुखर विरोधी ममता लगातार तीन बार से देश की सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बन रही हैं. इसमें अगस्त 2018 का देश का मिज़ाज सर्वे शामिल है.

चूंकि सर्वे देशभर में वोटरों की धारणा का व्यक्तिपरक अध्ययन है, सो नंबर 1 का तमगा किसी नेता की शासन-व्यवस्था की परख से ज्यादा उसकी सियासी लोकप्रियता का आईना है. नतीजतन, लोकसभा में कांग्रेस (48 सांसदों) के बाद सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी (38 सांसद) की अध्यक्ष ममता, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बाद दूसरी सर्वाधिक लोकप्रिय नेता के रूप में उभरी हैं. उन्होंने 2011 में बंगाल में सीपीएम के 34 साल के शासन का अंत किया. दो बार मुख्यमंत्री और सात बार की सांसद ममता, 2019 के चुनावों के लिए मोदी की दमदार चुनौती के रूप में उभरी हैं.

दूसरे स्थान के लिए नीतीश और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल में कांटे की टक्कर रही. वहीं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तीसरे स्थान पर हैं. आंध्र के चंद्रबाबू नायडू चौथे तो मध्य प्रदेश के शिवराज सिंह चौहान और छत्तीसगढ़ के रमन सिंह पांचवें स्थान पर हैं. देश में सर्वाधिक लोकप्रिय मुख्यमंत्रियों के लिहाज से ओडिशा के नवीन पटनायक का स्थान भले छठा हो पर अपने राज्य में लोकप्रियता के मामले में वे नंबर एक हैं.

***

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay