एडवांस्ड सर्च

दिल्ली का रास्ता अयोध्या से है: प्रवीण तोगडिय़ा

वीएचपी अध्यक्ष प्रवीण तोगडिय़ा ने आजतक चैनल के सीधी बात कार्यक्रम में हेडलाइंस टुडे के मैनेजिंग एडिटर राहुल कंवल से बातचीत की. बातचीत के प्रमुख अंश.

Advertisement
aajtak.in
राहुल कंवलनई दिल्‍ली, 24 February 2013
दिल्ली का रास्ता अयोध्या से है: प्रवीण तोगडिय़ा प्रवीण तोगडिय़ा

वीएचपी अध्यक्ष प्रवीण तोगडिय़ा ने आजतक चैनल के सीधी बात कार्यक्रम में हेडलाइंस टुडे के मैनेजिंग एडिटर राहुल कंवल से बातचीत की. बातचीत के प्रमुख अंश.

डॉ. तोगडिय़ा आपके खिलाफ एफआइआर दर्ज हुई है, आपको गिरफ्तार करने की बात चल रही है.
भोकर में जो सभा हुई उसमें मैंने हिंदुओं के रोजगार, शिक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षा और राम मंदिर जैसे मुद्दों की मांग की. इसके साथ मैंने भारत की कुछ घटनाओं का वर्णन किया. पुलिस ने मेरे भाषण के बाद मेरी कैसेट देखी, केस नहीं बनता था, परन्तु वह पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण का निर्वाचन क्षेत्र है. देश का हिंदू अपने अधिकारों की  मांग न करे और हिंदुओं की आवाज को दबाने के लिए यह किया गया. आज तक तोगडिय़ा बोलता था पर अब करोड़ों हिंदू बोलेंगे.  

मुस्लिम समुदाय के लोगों की तुलना आपने जानवरों से की. क्या यह ठीक है?
मैंने किसी का नाम नहीं लिया और बिना नाम लिए बात की है. अब डॉ. तोगडिय़ा की आवाज नहीं रुकेगी और न ही हिंदुओं के अधिकारों को दबाया जाएगा.

पर आपने वहां कई दंगों का जिक्र किया और कहा कि हमने वहां लाशें बहा दीं.
इतिहास की घटना का वर्णन करना क्या पाप है? हमने यह नहीं कहा कि लाशें बहाई हैं, हमने कहा इतिहास में हुआ है.

पर आप में और ओवैसी में क्या फर्क है?
मैंने 100 करोड़ हिंदुओं की मांग की बात की है. क्यों इस देश में हिंदू को अपमानित किया जाता है? मुसलमानों के बच्चों को शिक्षा दी जाती है, उत्तर प्रदेश में मुसलमानों की बेटियों को 30,000 रु. पर हिंदू की बेटी को कुछ नहीं, बंगाल में मुल्ला-मौलवियों को 2,500 रु. पर हिंदू को कुछ नहीं, किसान को कुछ नहीं. 

आप लोगों की मांग को उठा सकते हैं पर आप तो लोगों को उकसाते हैं?
मैंने हिंदुओं की आकांक्षा की बात की है, जिसे सुनने के लिए 50,000 लोग आए थे. 

धर्म संसद में नरेंद्र मोदी का नाम लेने पर साधु-संतों ने जबरदस्त तालियां बजाईं?
आज से लेकर पूर्व के 30-40 साल तक विश्व हिंदू परिषद ने किसी व्यक्ति या किसी दल को वोट देने की बात नहीं की और न ही किसी दल के समर्थन में कोई प्रस्ताव पारित किया.

पर इस बार तो मोदी की बात हो रही है?
व्यक्ति से बड़ा पक्ष है, पक्ष से बड़ा विचार. विश्व हिंदू परिषद कहती है कि जो व्यक्ति संसद में कानून बनाकर राम मंदिर बनवाएगा, जो कहेगा कि वह हिंदू राष्ट्र में श्रद्धा रखता है, जो धारा 370 को हटवाएगा, जो समान नागरिक संहिता में भरोसा रखेगा, उसको हिंदू समाज वोट दे. 

मोदी से इतना परहेज क्यों?
मुझे 100 करोड़ हिंदुओं से स्नेह है, उसमें सभी हिंदू आ जाते हैं. मुझे किसी हिंदू से द्वेष नहीं है. 

आपमें और मोदी में प्रतिस्पर्धा है कि हिंदुत्व का चेहरा कौन हो?
आपको क्या पता कि हम दोनों का भीतरी तालमेल क्या है और हो सकता है कि मोदी के चेहरे के पीछे हिंदू राष्ट्र के तोगडिय़ा का चेहरा हो.

तो क्या मोदी के पीछे डॉ. तोगडिय़ा का चेहरा है?
जो हिंदू राष्ट्र में विश्वास रखता है, उसके पीछे तोगडिय़ा का चेहरा है.

मोदी अहमदाबाद से दिल्ली आना चाहते हैं, इसलिए वे हिंदुत्व के रास्ते से हटकर कोई बीच का रास्ता पकडऩा चाहते हैं?
दिल्ली का हर रास्ता अयोध्या से गुजरता है.

सीधी बात कार्यक्रम आजतक चैनल पर हर रविवार रात 8.30 बजे प्रसारित होता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay