एडवांस्ड सर्च

उत्तर प्रदेशः अप्रैल में और धार पकड़ेगी कोरोना के खिलाफ जंग

अप्रैल की पहली तारीख से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कोरोना संकट के बीच मजदूरों को मुफ्त राशन देने की योजना साकार होगी. योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर खाद्य एवं रसद विभाग की तरफ से 1 अप्रैल से खाद्यान्न का वितरण किया जाएगा

Advertisement
aajtak.in
आशीष मिश्रलखनऊ, 31 March 2020
उत्तर प्रदेशः अप्रैल में और धार पकड़ेगी कोरोना के खिलाफ जंग फोटोः इंडिया टुडे

कोरोना संकट के बीच उत्तर प्रदेश में पहली अप्रैल को मूर्ख दिवस के रूप में नहीं जाना जाएगा.

अप्रैल की पहली तारीख से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कोरोना संकट के बीच मजदूरों को मुफ्त राशन देने की योजना साकार होगी. योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर खाद्य एवं रसद विभाग की तरफ से 1 अप्रैल से खाद्यान्न का वितरण किया जाएगा. इसमें अंत्योदय कार्ड धारकों, नरेगा श्रमिकों, श्रम विभाग में रजिस्टर्ड श्रमिकों तथा नगर विकास विभाग के दिहाड़ी मजदूरों को निशुल्क राशन वितरण किया जाएगा.

सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि अप्रैल माह के द्वितीय चरण में दिनांक 15 अप्रैल से समस्त कार्ड धारकों को 5 किलो प्रति यूनिट की दर से निशुल्क राशन (चावल) भी दिया जाएगा.

कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत ई-पास से राशन वितरण के समय सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी है. ऐसे में प्रत्येक उचित दर दुकान पर सैनिटाइजर/साबुन एवं पानी रखे जाने के आदेश दिए गए हैं ताकि हाथ धुलने के उपरांत ही ई-पास का इस्तेमाल हो.

राशन की दुकानों पर भीड़ ना हो और सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे इसके लिए प्रत्येक दुकानदार रोस्टर के हिसाब से राशन वितरित करना सुनिश्चित करेगा. यदि कोई व्यक्ति, परिवार, समुदाय, कस्बा या कॉलोनी को होम क्वॉरेंटाइन किया गया है तो उस तक होम डिलीवरी के माध्यम से राशन पहुंचाने की सुविधा प्रदान की जाएगी.

राशन वितरण हेतु प्रत्येक उचित दर दुकान हेतु नोडल अधिकारी की नियुक्ति जिलाधिकारी द्वारा की गई है. उचित दर विक्रेता नोडल अधिकारी तथा ग्राम प्रधान की उपस्थिति में राशन का समुचित वितरण सुनिश्चित कराएंगे.

***

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay