एडवांस्ड सर्च

सत्य रावत को मिला 'शटरबग ट्रैक ऑफ द ईयर 2017' का बेस्ट फोटोग्राफी पुरस्कार

सत्य रावत ने चांईशील यात्रा के दौरान यूंही फोटो क्लिक कर दिए थे. शटरबग के फेसबुक पेज पर उन्होंने फोटोकांटेस्ट के बारे में पढ़ा और अपने कुछ फोटो भेज दिए और उन्हें बेस्ट फोटोग्राफर का अवार्ड मिल गया.

Advertisement
aajtak.in
संध्या द्विवेदी/ मंजीत ठाकुर 16 February 2018
सत्य रावत को मिला 'शटरबग ट्रैक ऑफ द ईयर 2017' का बेस्ट फोटोग्राफी पुरस्कार फोटोकांटेस्ट में भेजी गई फोटो

क्या है ट्रैक ऑफ़ द ईयर?

उत्तराखंड पर्यटन विभाग हर वर्ष किसी एक दुर्गम ट्रैक को 'ट्रैक ऑफ द ईयर' घोषित करता है. हर बार एक नए रूट को चुना जाता है. जिसमें लंबी पैदल और कठिन यात्रा के शौकीन देश-विदेश के ट्रैकर भाग लेते हैं. प्राकृतिक सौंदर्य से सराबोर दृश्यों को कैद करने के लिए नेचर फोटोग्राफर अवश्य भाग लेते हैं.

हर कोई ट्रैकर उन पलों को कैद करना चाहता है जहां उसे मुश्किल हालात और आत्मिक शांति मिलती है. 2017 में चांईशील को 'ट्रैक ऑफ़ द ईयर' चुना गया था.

कहां है  चांईशील?

उत्तराखंड में दयारा और बेदनी बुग्याल जैसे ही चांईशील भी एक बुग्याल है. बुग्याल एक महीन रोएं जैसी घास है जो पूरी सर्दी बर्फ से ढकी रहती है और गर्मियों में जब बर्फ पिघलती है तो ये मखमल सी महसूस होती है. उत्तरकाशी से शुरू चांईशील ट्रेक लगभग 46 किमी है.

इसमें प्रथम पड़ाव बलावट गांव है और उसके बाद सुनवाड़ी सहित सम्पाथात, टिकुलाथात और दंगाणमोरियाट पड़ाव को पार कर चांईशील बुग्याल (लगभग 12000 फ़ीट) पहुंचा जाता है. इस बीच सरु ताल (झील) का मनमोहक नजारा भी दिखता है.

शटरबग ट्रैक ऑफ़ द ईयर 2017 फोटो प्रतियोगिता

उत्तराखंड सरकार के जलागम विभाग में नियुक्त यूनिट अधिकारी सत्य रावत पहाड़ों में घूमने के बड़े शौकीन हैं. उनकी फेसबुक पोस्ट से पता चलता है; उन्होंने चांईशील यात्रा के दौरान यूंही फोटो क्लिक कर दिए थे.

शटरबग के फेसबुक पेज पर उन्होंने फोटोकांटेस्ट के बारे में पढ़ा और अपने कुछ फोटो भेज दिए. पहला पुरस्कार पाकर सत्य रावत अब सेरिसियस फोटोग्राफी करने की सोच रहे हैं.

***

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay