एडवांस्ड सर्च

मिशन मंगल के बाद अब चंद्रयान पर भी है अक्षय और विद्या की नजर

अक्षय कुमार हर उस परियोजना को फिल्म में बदलने का हुनर जानते हैं जिससे देश का सिर ऊंचा होता हो. ऐसे में मिशन मंगल की बड़ी सफलता से उत्साहित अक्षय कुमार की नजरें अब चंद्रयान प्रोजेक्ट पर भी हैं. इस प्रोजेक्ट में उनके साथ विद्या बालन भी होंगी.

Advertisement
aajtak.in
मंजीत ठाकुर मुंबई, 19 August 2019
मिशन मंगल के बाद अब चंद्रयान पर भी है अक्षय और विद्या की नजर फोटोः नवीन कुमार

मिशन मंगल की बड़ी सफलता के बाद अब अक्षय कुमार की नजर चंद्रयान पर भी है. उन्होंने कहा कि अगर अच्छी कहानी मिल गई तो वे चंद्रयान पर भी फिल्म बनाएंगे. यह भी संयोग ही है कि चंद्रयान-2 में जो दो महिला वैज्ञानिक हैं उनमें से एक मंगलयान और चंद्रयान-2 दोनों में हैं. अक्षय ने यह भी कहा कि कहानी बुनने में समय लगता है. इसलिए चंद्रयान बनाने में समय लगेगा. इधर मिशन मंगल में प्रोजेक्ट डायरेक्टर की भूमिका निभाने वाली विद्या बालन ने भी चंद्रयान को लेकर दिलचस्पी दिखाई है और उन्होंने अक्षय से साफ कहा है कि जब भी चंद्रयान बनेगी वह उसका भी हिस्सा जरूर बनना चाहेंगी. 

32 करोड़ की लागत से बनी मिशन मंगल कमाई के मामले में 100 करोड़ के क्लब में शामिल हो गई है. ट्रेड पंडितों की माने तो मिशन मंगल 200 करोड़ रूपए की कमाई आसानी से कर सकती है. फिल्म की इस सफलता के लिए अक्षय महिला वैज्ञानिकों को श्रेय दे रहे हैं जो मिशन मंगल की मुख्य कड़ी हैं. अक्षय ने कहा कि सिर्फ महिलाओं के भाग्य से इस फिल्म को सफलता मिली है. लोग उनके काम को देखने और सम्मान देने के लिए सिनेमाघरों में आ रहे हैं. साथ ही भावुक भी हो रहे हैं. 

अक्षय इस फिल्म के प्रोड्यूसर के अलावा मिशन डायरेक्टर राकेश धवन की भूमिका निभाने वाले कलाकार भी हैं. वे कहते हैं, 'मैंने जिंदगी में कई उतार-चढ़ाव देखे हैं. कई बार फ्लॉप फिल्में भी दी हैं. इसलिए मिशन मंगल की सफलता को देखकर उतावला नहीं हो रहा हूं. मैं संयमित हूं.' वहीं विद्या बताती हैं कि इस फिल्म के निर्माण के दौरान मंगलयान से जुड़ी किसी भी महिला साइंटिस्ट से फिल्म के कलाकारों ने मुलाकात नहीं की. वे कहती हैं, "एक डाक्युमेंट्री जरूर हमने देखी थी. फिल्म के प्रमोशन में भी उन महिला साइंटिस्टों का इस्तेमाल नहीं किया गया." 

इस फिल्म के लेखक जगन ने 32 पन्नों की स्क्रिप्ट दी थी जिसके सहारे यह फिल्म 32 दिनों में 32 करोड़ की लागत से तैयार हुई. विद्या आगे कहती हैं, 'अक्षय ऐसे सुपरस्टार और प्रोड्यूसर हैं जो महिलाओं को अपनी फिल्म में प्रमुखता से जगह दे रहे हैं. मिशन मंगल महिला प्रधान फिल्म है और अक्षय को बतौर ऐक्टर इस फिल्म में काम करने में घबराहट नहीं हुई.' 

बतौर प्रोड्यूसर यश जौहर और यश चोपड़ा को अपना आदर्श मानने वाले अक्षय उनके इस मूल मंत्र को मानते हैं बजट है तो फिल्म है. उनका कहना है कि उसी मंत्र पर उनकी प्रोडक्शन कंपनी चल रही है. हाल में उन्होंने 'टॉयलेट- एक प्रेम कथा' और 'केसरी' जैसी फिल्में बनाई जिसे बड़ी सफलता मिली. 

अक्षय से जब पूछा गया कि क्या वे पीएम के एजंडे के साथ लोगों में देशभक्ति की भावना भर रहे हैं? इस पर वे कहते हैं, 'मैं अपने प्राइम मिनिस्टर को पसंद करता हूं. 2014 से पहले मैंने किसी प्राइम मिनिस्टर को नहीं देखा जो पहले दिन से स्वच्छता का एजेंडा लेकर चला हो. कैपटाउन भी गए तो वहां भी इस मुद्दे पर कहा. वह ग्रेट हैं जो इस चीज पर ध्यान दे रहे हैं. साइंस और टेक्नालॉजी के लिए उन्होंने बजट में बढ़ोतरी की है और उसको 2 फीसदी से बढ़ाकर 18 फीसदी कर दिया है. हमारे देश का कमाल का नारा जो पहले जय जवान जय किसान था अब मैं समझता हूं इसको होना चाहिए जय जवान जय किसान जय विज्ञान.' 

***

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay