एडवांस्ड सर्च

टॉक्सीकोलॉजी में बनाएं करियर

टॉक्सीकॉलॉजी में मनुष्य, पशु, पौधों और पर्यावरण पर जहरीली चीजों की वजह से होने वालों नुकसानों के प्रभाव का अध्ययन किया जाता है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in [Edited By: अनुराधा पांडे]नई दिल्ली, 10 March 2015
टॉक्सीकोलॉजी में बनाएं करियर Lab

मेडिकल टॉक्सीकोलॉजी, टॉक्सीकोलॉजी की वो ब्रांच है जिसे फिजिशियन द्वारा ऑपरेट किया जाता है. मेडिकल टॉक्सीकोलॉजी का फोकस डायग्नोसिस, मेडिकेशन, पर्यावरण के जहरीले टॉक्सीन की रोकथाम और मैनेजमेंट पर होता है. टॉक्सीकोलॉजी में मनुष्य, पशु, पौधों और पर्यावरण पर जहरीली चीजों की वजह से होने वालों नुकसानों के प्रभाव का अध्ययन करता है. इनका काम केमिकल, नुकसानदायक गैसों के इफेक्ट की स्टडी करना है. जहरीले पदार्थों और रेडिएशन का लोगों पर क्या प्रभाव पड़ रहा है इसका निरीक्षण टॉक्सीकॉलॉजिस्ट ही करते हैं.

कहां मिलेगी नौकरी
फॉरेंसिक टॉक्सीकोलॉजी में भी जॉब के कई मौके हैं. फॉरेंसिक टॉक्सीकोलॉजी एक टीम होती है जो क्राइम की इंवेस्टीगेशन करती है. इसके अलावा आप फार्मास्युटिकल, केमिकल, एग्रीकल्चरल, कॉस्मेटिक, एकेडमिक इंस्टिट्यूट, गवर्नमेंट एजेंसियों, टॉक्सीकोलॉजी लैब्स में भी नौकरी पा सकते हैं.

कहां से कर सकते हैं कोर्स
डॉ बी आर राव अंबेडकर यूनिवर्सिटी, उत्तर प्रदेश
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टॉक्सीकोलॉजी रिसर्च, लखनऊ
इंडियन वेटरिनरी रिसर्च इंस्टिट्यूट, बरेली
जामिया हमदर्द, दिल्ली
सेंट्रल ड्रग रिसर्च इंस्टिट्यूट, लखनऊ

कितनी होगी सैलरी
टॉक्सीकोलॉजी में एमएससी करने वाले कैंडिडेट्स 20,000 से 30,000 रुपए सैलरी
पीजी कैंडिडेट्स: 50,000 रुपए की सैलरी
एमबीबीएस कैंडिडेट्स: 1,00000 रुपए की सैलरी तक कमा सकते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay