एडवांस्ड सर्च

8 नए कोर्सेज जिनमें मिलती है लाखों में सैलरी

स्प्रिचुअल थियोलॉजी से लेकर फूड फोटोग्राफी तक कई नए कोर्सेज चलन में हैं. यहां ऐसे ही कुछ कोर्सेज की जानकारी दी जा रही हैं, जिन्हें चुनकर आप अपना करियर बना सकते हैं

Advertisement
मालविका शर्मा और अदिति पै [Edited By: स्नेहा]नई दिल्ली, 10 July 2016
8 नए कोर्सेज जिनमें मिलती है लाखों में सैलरी symbolic image

स्प्रिचुअल थियोलॉजी से लेकर फूड फोटोग्राफी तक कई नए कोर्सेज चलन में हैं. यहां ऐसे ही कुछ कोर्सेज की जानकारी दी जा रही हैं, जिन्हें चुनकर आप अपना करियर बना सकते हैं..

1. लग्जरी ब्रांड मैनेजमेंट
अगर आपमें अच्छी चीजों के प्रति गहरा लगाव है और आपके अंदर सौंदर्यबोध है तो लग्जरी ब्रांड मैनेजमेंट आपके लिए अच्छा करियर हो सकता है. भारत में जिस तरह से दिनोदिन लग्जरी मार्केट विकसित होती जा रही है, उसे देखते हुए इस क्षेत्र में स्किल्ड रिटेल और सर्विस  प्रोफेशनल्स के लिए काफी मौके बनते जा रहे हैं.

लंदन स्कूल ऑफ बिजनेस एंड मैनेजमेंट लग्जरी मैनेजमेंट में स्पेशलाइजेशन के साथ एमबीए का कोर्स करा रहा है. आप यह कोर्स फुलटाइम, पार्टटाइम या ऑनलाइन कर सकते हैं. रेगुलर एमबीए की पढ़ाई के साथ-साथ यह कोर्स स्टुडेंट्स को यह भी सिखाता है कि लग्जरी ब्रांड के लिए मार्केटिंग रणनीतियों और ब्रांड वैल्यू के बीच किस तरह संबंध बनाए जाएं.

नौकरी के मौके
कोर्स करने वाले ग्रेजुएट लग्जरी सेल्स एडवाइजर, विजुअल मर्चेडाइजर, लग्जरी इवेंट प्लानर बन सकते हैं. फैशन और लग्जरी कंसल्टेंट या वार्डरोब मैनेजर के तौर पर भी काम पा सकते हैं.
वेतन
शुरुआती वेतन प्रति माह 40,000 रुपये से 45,000 रुपये के बीच हो सकता है. यह आगे चलकर प्रति माह 5 लाख रु. तक भी पहुंच सकता है. इन नौकरियों में वेतन के अलावा कई तरह के इन्सेंटिव और अन्य सुविधाएं भी शामिल हो सकती हैं.
कहां से करें कोर्स?
लंदन स्कूल ऑफ बिजनेस एंड फाइनांस के कई कैंपस लंदन, बर्मिंघम और मैनचेस्टर में हैं.
लग्जरी कनेक्ट बिजनेस स्कूल, गुडग़ांव.
www.isbf.org.uk
www.lcbs.edu.in;admission@org.uk

2. स्पा थेरेपी
जब आप किसी स्पा थेरेपिस्ट के बारे में सोचते हैं तो आपके दिमाग में सुखदायक आवाज, कोमल स्पर्श और आराम पहुंचाने वाले बर्ताव की तस्वीर उभरती है. ओरिएंट स्पा एकेडमी, जिसके कैंपस जयपुर और अहमदाबाद में हैं, स्पा थेरेपी में प्रोफेशनल डिप्लोमा का कोर्स कराती है.

यह कोर्स कोई भी कर सकता है, बशर्ते उसे लोगों को मानसिक और शारीरिक रूप से आराम पहुंचाने में रुचि हो और वह उसमें अपना करियर बनाने की इच्छा रखता हो. इस कोर्स में शुरुआत करने वाले स्टुडेंट्स को स्पा थेरेपी की सभी बुनियादी मसाज के तरीके सिखाए जाते हैं और उन्हें एक पेशेवर स्पा थेरेपिस्ट के तौर पर विकसित किया जाता है.

इसके तहत इंसानी शरीर की संरचना, शारीरिक क्रिया, आयुर्वेदिक और ओरिएंटल थेरेपियों और एस्थेटिक ट्रीटमेंट जैसे विषयों को शामिल किया गया है. इसमें कल्चर और कम्यूनिकेशन पर भी मॉड्यूल रखा गया है, जो बहुत जरूरी है ताकि स्टुडेंट यह सीख सकें कि स्पा में कैसा माहौल होना चाहिए और एक स्पा थेरेपिस्ट के तौर पर उन्हें किस तरह का व्यवहार करना चाहिए. इस कोर्स के एक अनिवार्य अंग के रूप में छात्रों को किसी पांचतारा स्पा रिसॉर्ट में प्रोफेशनल अनुभव लेने के लिए कहा जाता है. यह संस्थान स्पा मैनेजमेंट और ऑपरेशंस पर भी प्रोग्राम चलाता है.

नौकरी के मौके: इस कोर्स को पूरा करने वाले स्टुडेंट किसी स्पा और रेसॉर्ट में थिरेपिस्ट या ऐस्थेटीशियन की नौकरी पा सकते हैं. यह कोर्स करने के बाद आप स्वतंत्र रूप से अपना स्पा भी स्थापित कर सकते हैं.
वेतन:
पहले साल में शुरुआती वेतन एक से दो लाख रुपये तक हो सकता है.
कहां से करें कोर्स?
ओरिएंट स्पा एकेडमी एसपी-36बी, आरआइआइसीओ इंडस्ट्रियल एरिया, दिल्ली-जयपुर हाइवे, जयपुर
www.orientspaacademy.com
info@orientspaacademy.com

3. फूड फोटोग्राफी और स्टाइलिंग
जायकेदार और मन को लुभाने वाली मिठाइयों की आकर्षक तस्वीर खींचने का गुर सीखना हो तो लॉ कॉर्डन ब्लू के फूड फोटोग्राफी और स्टाइलिंग वर्कशॉप में दाखिला लें . इस कोर्स में आपको खाद्य पदार्थों की फोटोग्राफी के बुनियादी और मुख्य सिद्धांत सिखाए जाते हैं. इस कोर्स में फूड स्टाइलिंग के लिए प्लेट के डिजाइन, सही लाइटिंग और कैमरे की तकनीक के बारे में सभी जरूरी बारीकियां सिखाई जाती हैं.

आजकल जैसे हॉस्पिटेलिटी इंडस्ट्री में तेजी से इंटरनेशनल रेस्तरां श्रृंखलाओं का स्वागत हो रहा है और देशी रेस्तरां भी सफलता के झंडे गाड़ रहे हैं, उसे देखते हुए यह कोर्स प्रशिक्षित फूड फोटोग्राफरों और स्टाइलिस्टों के लिए काम के बेहतरीन अवसर उपलब्ध करा सकता है. यह तीन दिन का कोर्स है और इसके लिए किसी शैक्षिक योग्यता की जरूरत नहीं है.

कोर्स की फीस: 550 पाउंड
नौकरी के मौके:
नौकरी के मौके आवेदकों को लग्जरी और फूड पत्रिकाओं में काम मिल सकता है. रेस्तरां, हॉस्पिटेलिटी कंसल्टेंट और फूड ब्लॉगिंग जैसी फील्ड हैं.
वेतन:
आप 30,000 रुपये और उससे ऊपर कमा सकते हैं, जो आपके काम पर निर्भर करता है.
कहां से करें कोर्स?
यह कोर्स सितंबर, 2015 में लंदन में ला कॉर्डन ब्लू कैंपस में आयोजित किया जा रहा है.
www.cordonbleu.edu

4. पॉलिटिकल कम्युनिकेशंस:
पिछले कुछ साल में राजनीति और चुनाव प्रचार के तरीकों में भारी बदलाव आया है, जैसा हाल के चुनावों में देखा गया है. राजनैतिक पार्टियां चुनाव के दौरान और उसके बाद भी अपने संपर्क विभाग की मदद के लिए मंजे हुए पेशेवर लोगों की सेवाएं लेने लगी हैं. गुडग़ांव स्थित द इंडियन स्कूल ऑफ कम्यूनिकेशंस एंड रेपुटेशन इन दिनों पॉलिटिकल कम्यूनिकेशंस में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा कोर्स करा रहा है. इस कोर्स के तहत मैनेजिंग पॉलिटिकल सेंसटिविटीज, ऐज ऑफ सोशल इलेक्शंस और इवोल्युशन ऑफ पॉलिटिकल कम्यूनिकेशंस जैसे विषय पढ़ाए जाते हैं. इन सभी विषयों में वर्तमान भारतीय राजनैतिक व्यवस्था पर विशेष जोर दिया जाता है.

नौकरी के मौके:
स्टूडेंट कोर्स करने के बाद राजनैतिक कार्यालयों में कम्यूनिकेशन मैनेजर की नौकरी पा सकते हैं या कम्यूनिकेशन कंसल्टेंसी एजेंसियों में काम कर सकते हैं.
वेतन:

नौकरी के पहले साल में 3.5 लाख से 4 लाख रुपये सालाना का वेतन पा सकते हैं.
कहां से करें कोर्स?
द इंडियन स्कूल ऑफ कम्यूनिकेशंस ऐंड रेपुटेशन
एमजीएफ मेट्रोपॉलिस, एमजी रोड, गुडग़ांव
www.scoreindia.org:office@scoreindia.org

5. टी टेस्टिंग:
आप अपनी सुबह की चाय के बारे में शायद एक राज की बात नहीं जानते हैं. आपकी मनपसंद चाय का स्वाद बढ़ाने के लिए चाय की पत्ती बनाने वाली कंपनियां लंबे समय से पेशेवर टी टेस्टरों की सेवाएं लेती आ रही हैं. ये टी टेस्टर चाय की पत्ती के स्वाद, उसकी क्वालिटी और तैयारी को जांचने के लिए पेशेवरों को नौकरी पर रखती हैं.

बेंगलुरू के इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ प्लांटेशन मैनेजमेंट अपने सर्टिफिकेट प्रोग्राम के तहत चाय के बिजनेस मैनेजमेंट, मार्केट इन्फॉर्मेशन, टी टेस्टिंग की तकनीक और उसके तरीकों के बारे में अध्ययन कराता है. यह कोर्स टी बोर्ड ऑफ इंडिया और वाणिज्य मंत्रालय के सहयोग से कराया जाता है. टी उद्योग भी इस कोर्स को मान्यता देता है. इंस्टीट्यूट में टी टेस्टिंग की आधुनिक प्रयोगशाला मौजूद है, साथ ही राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय टी टेस्टिंग यूनिट के विशेषज्ञ स्टुडेंट्स को टी टेस्टिंग की तकनीक के बारे में शिक्षा देते हैं. स्टुडेंट्स को चाय को लेकर बाजार की जानकारी, मौकों और उसकी खपत के बारे में विस्तार से पढ़ाया जाता है.

नौकरी के मौके:
कोर्स करने वाले ग्रेजुएट भारतीय और अंतरराष्ट्रीय चाय कंपनियों के अलावा चाय के खरीदारों के यहां भी नौकरियां पा सकते हैं. बेवरेज कंपनियां और चाय के बागान भी नौकरी के लिए अच्छी जगहें हैं.
वेतन:

शुरुआती वेतन सालाना 3 लाख रु. से 5 लाख रु. तक हो सकता है.
कहां से करें कोर्स
?
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ प्लांटेशन मैनेजमेंट, ज्ञान भारती कैंपस, पी.ओ. मलाथल्ली, बेंगलूरू
www.iipmb.edu.in;admissions@iipmb.edu.in

6. स्प्रिचुअल थियोलॉजी
आध्यात्मिकता, जो साइंस, आर्ट और आस्था पर आधारित अलग किस्म का अध्ययन है, बहुत से लोगों के लिए हैरान करने वाला विषय है. पर जो स्टुडेंट्स आध्यात्मिकता में दिलचस्पी रखते हैं, वे बेंगलूरू के इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ स्प्रिचुअलिटी से डिप्लोमा कर सकते हैं. इस कोर्स में स्टुडेंट्स को पूरब और पश्चिम की आध्यात्मिकता के बारे में जानकारी दी जाती है. इसमें मनोविज्ञान, चर्च के उपदेश, यूथ एनिमेशन और सिविल लॉ के बारे में अध्ययन कराया जाता है. छात्रों को वैज्ञानिक विधिशास्त्र पर आधारित शोध निबंध तैयार करना होता है. उन्हें आश्रम के जीवन, अलग-अलग धर्मों के कार्यक्रमों और प्रार्थना सभाओं में हिस्सा लेना होता है ताकि उन्हें विभिन्न धर्मों में निहित आध्यात्मिक ज्ञान का परिचय मिल सके.

नौकरी के मौके:
इसके ग्रेजुएट आध्यात्मिक परामर्शदाता के रूप में काम कर सकते हैं. समाज सेवा में रुचि रखने वाले स्कूल में बच्चों को या घरों में बड़ी उम्र के लोगों को आध्यात्मिक सलाह या उपदेश दे सकते हैं.
वेतन: आध्यात्मिक कंसल्टेंट 18,000 से 25,000 रुपये मासिक वेतन पा सकते हैं.
कहां से करें कोर्स?

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ स्प्रिचुअलिटी, पी.बी. नंबर 5639, डॉ. राजकुमार रोड, राजाजी नगर, फर्स्ट ब्लॉक, बेंगलूरू
www.iisirituality.org;iispirituality@yahoo.com

7. फुटबॉल इंडस्ट्रीज में एमबीए:
यूनिवर्सिटी ऑफ लीवरपूल विश्व में एकमात्र यूनिवर्सिटी है जो फुटबॉल इंडस्ट्रीज में एमबीए की डिग्री देती है. इस कोर्स का लक्ष्य स्टुडेंट्स को आधुनिक स्पोर्ट्स इंडस्ट्री में मैनेजमेंट की नौकरी के लिए जरूरी योग्यता उपलब्ध कराना है. फुटबॉल मैनेजमेंट में बिजनेस के सिद्धांतों को लागू करके स्टुडेंट बिल्कुल अलग तरह से मैनेजमेंट थियोरी को समझने लगते हैं. इस कोर्स के तहत प्रैक्टिकल वोकेशनल ट्रेनिंग भी दी जाती है, जिससे स्टुडेंट्स में कम्युनिकेशन और लीडरशिप की योग्यता विकसित होती है ताकि वे पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा लोकप्रिय फुटबॉल के खेल में मैनेजर के तौर पर अपना करियर बना सकें.

लीवरपूल उत्तर-पश्चिम इंग्लैंड में फुटबॉल की गतिविधियों का केंद्र है, जिस वजह से इस कोर्स के स्टुडेंट्स को इंग्लिश फुटबॉल क्लबों से संपर्क बनाने का मौका मिल जाता है. यह यूनिवर्सिटी यूनियन ऑफ यूरोपियन फुटबॉल एसोसिएशनों और कई सारे फुटबॉल क्लबों जैसे संगठनों के साथ कार्य-आधारित प्रोजेक्ट करती है. यहां कोर्स के दौरान इन संस्थानों से अतिथि वक्ता आते हैं और स्टुडेंट्स को अपने अनुभवों और जानकारियों से रू-ब-रू कराते हैं.

नौकरी के मौके:
इस कोर्स के ग्रेजुएट फुटबॉल क्लबों और विभिन्न लीग में मैनेजर की नौकरी पा सकते हैं और अपने ज्ञान को फुटबॉल के मैदान में लागू कर सकते हैं.
वेतन:
अलग-अलग क्लबों में वेतन भी अलग-अलग हो सकता है. फिर भी शुरुआती वेतन सालाना 20,000 पौंड से लेकर 25,000 पौंड तक हो सकता है.
कहां से करें कोर्स:
यूनिवर्सिटी ऑफ लीवरपूल फाउंडेशन
बिल्डिंग, ब्राउनलो हिल, लीवरपूल
www.IIv.ac.uk

8. एथिकल हैकिंग:
कंप्यूटर प्रेमियों के लिए यह अच्छी खबर है. वे अब कोडिंग के ऊबाऊ काम से हटकर कुछ बेहद चुनौतीपूर्ण काम कर सकते हैं. ज्यादातर लोग हैकिंग को खराब शब्द मानते रहे हैं और उसे चोरी वाला काम समझते हैं लेकिन अब ऐसे पेशेवर लोगों की मांग बढ़ रही है जो हैकिंग के खतरों को अच्छी तरह समझते हैं. ये लोग हैकिंग के सारे दांवपेच जानने के कारण उसके खतरों का मुकाबला कर सकते हैं और हैकिंग करने वालों की कोशिशें नाकाम कर सकते हैं. कोलकाता में इंडियन स्कूल ऑफ एथिकल हैकिंग के सह-संस्थापक अबीर अतार्थी और संदीप सेनगुप्त कहते हैं, 'इन दिनों हैकिंग की घटनाएं तेजी से बढ़ती जा रही हैं इसलिए उन्हें रोकने के लिए हैकिंग के जानकार ऐसे पेशेवरों की जरूरत महसूस की जाने लगी है जो कॉर्पोरेट नेटवर्कों और वेबसाइटों को हैक होने से बचा सकें. कंपनी की अनुमति से एथिकल या वैध हैकर कॉर्पोरेट नेटवर्क की तह में जाता है और उसकी सुरक्षा के लिए कुछ नए उपाय निकालता है.'

इंडियन स्कूल ऑफ एथिकल हैकिंग वैध या नैतिक कहे जानी वाली हैकिंग पर सर्टिफिकेट कोर्स कराता है. इस कोर्स में यह भी सिखाया जाता है कि सुरक्षित कोडिंग कैसी लिखी जाए, ताकि वेबसाइटों को हैक होने से रोका जा सके. यह संस्थान कई तरह के अन्य विशेषज्ञता वाले कोर्स भी कराती है, जैसे कि नेटवर्क पेनेट्रेशन टेस्टिंग और वेब ऐप्लिकेशन पेनेट्रेशन टेस्टिंग और वेब ऐप्लिकेशन पेनेट्रेशन टेस्टिंग जिनका अध्ययन अतिरिक्त रूप से किया जा सकता है.

नौकरी के मौके:
एथिकल हैकरों को नेटवर्क पेनेट्रेशन टेस्टिंग और वेब पेनेट्रेशन टेस्टर के रूप में नौकरी मिल सकती है. वे खुद को आइटी सिक्योरिटी ऑडिटर और सिक्योरिटी एनालिस्ट के तौर पर पेश कर सकते हैं.
वेतन:
इस कोर्स के वे ग्रेजुएट जिनके पास बीटेक या एमसीए की भी डिग्री है उन्हें शुरुआती वेतन के तौर पर प्रति माह 27,000 से 30,000 रु. मिल सकते हैं. जिनके पास किसी अन्य विषय की डिग्री है उन्हें शुरुआत में प्रतिमाह 20,000 रु. का वेतन मिल सकता है.
कहां से करें कोर्स?
आइएसओईएच साल्टलेक
इनफिनिटी बेंचमार्क बिल्डिंग, साल्टलेक इलेक्ट्रानिक्स कांप्लेक्स, सेक्टर-5, कोलकाता.
www.isoeh.com;info@isoeh.com

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay