एडवांस्ड सर्च

Advertisement

DDA वर्ष 2015: नए मोबाइल ऐप और नए उपाध्यक्ष रहे प्रमुख हलचल

कामकाज में अधिक पारदर्शिता लाने और ग्राहकों की समस्याओं के आसान समाधान के लिए कई मोबाइल एप्पलिकेशंस और नए उपाध्यक्ष की नियुक्ति, वर्ष 2015 में दिल्ली विकास प्राधिकरण की मुख्य घटनाएं रहीं. डीडीए ने इस वर्ष नवंबर में चार नए ऐप लांच किए.
DDA वर्ष 2015: नए मोबाइल ऐप और नए उपाध्यक्ष रहे प्रमुख हलचल
aajtak.in [Edited By: लव रघुवंशी]नई दिल्ली, 18 December 2015

कामकाज में अधिक पारदर्शिता लाने और ग्राहकों की समस्याओं के आसान समाधान के लिए कई मोबाइल एप्पलिकेशंस और नए उपाध्यक्ष की नियुक्ति, वर्ष 2015 में दिल्ली विकास प्राधिकरण की मुख्य घटनाएं रहीं. डीडीए ने इस वर्ष नवंबर में चार नए ऐप लांच किए. इनमें से एक के जरिए प्राधिकरण ने उसकी हाउसिंग योजनाओं के तहत मकान पाने वालों से फीडबैक लिया. नए नेतृत्व के तहत तकनीक के सर्वोत्तम प्रयोग के तहत इन एप्प को शुरू किया गया है. अन्य ऐप को खेल परिसरों और गोल्फ कोर्स, सामुदायिक भवनों तथा हाउसिंग योजनाओं की निगरानी के लिए विकसित किया गया जबकि चौथा ऐप डीडीए की अपनी योजनाओं पर नजर रखने के लिए बनाया गया है.

ऐप से लिया फीडबैक
ऐप लांच के दिन डीडीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा था, ऐप के निर्माण फीडबैक के तहत सीपेज, दरवाजों, खिड़कियों की स्थिति, जलापूर्ति, स्वच्छता की स्थिति, भवन की हालत, लिफ्ट आदि की सूचना दी जा सकती है जबकि रखरखाव फीडबैक के तहत रंगाई-पुताई, छत की स्थिति आदि के संबंध में जानकारी दी जा सकती है. इन ऐप को डीडीए की आधिकारिक वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है. इसके अलावा लोग अपनी शिकायतें ऑनलाइन भी दर्ज करा सकते हैं. इसके लिए प्राधिकरण ने अपनी वेबसाइट पर लिंक दिया हुआ है. डीडीए के सिस्टम्स निदेशक पी. एस. तोमर ने कहा, डीडीए 2014 हाउसिंग योजना से संबंधित फीडबैक अब हमें दिया जा सकता है और चूंकि डीडीए-2010 हाउसिंग योजना के कुछ भवनों का पोजेशन अभी तक नहीं दिया गया है, वे भी इस सुविधा का उपयोग कर सकते हैं. प्राधिकरण का कहना है कि दूसरे मोबाइल ऐप के जरिए लोग डीडीए के सामुदायिक केन्द्रों में दी जाने वाली सुविधाओं की गुणवत्ता के संबंध में हमें फीडबैक दे सकते हैं. डीडीए के अधिकार क्षेत्र में शहर के विभिन्न स्थानों पर करीब 100 सामुदायिक केन्द्र हैं.

डीडीए को मिले नए उपाध्यक्ष
गुजर रहे इस वर्ष में डीडीए ने सिर्फ नए ऐप ही लांच नहीं किए, बल्कि प्राधिकरण को जुलाई के अंत में अरूण गोयल के रूप में नए उपाध्यक्ष भी मिले. गोयल ने बलविन्दर कुमार का स्थान लिया, जिनका तबादला कर एक जुलाई को खान मंत्रालय भेज दिया गया था. पंजाब कैडर के आईएएस अधिकारी गोयल ने 31 जुलाई को प्राधिकरण के प्रमुख के रूप में कार्यभार संभाला. कुमार के तबादले के बाद करीब एक महीने तक डीडीए बिना किसी प्रमुख के ही काम करता रहा. डीडीए में आने से पहले 1985 बैच के आईएएस अधिकारी गोयल वित्त मंत्रालय के राजस्व विभाग में संयुक्त सचिव (जून 2012 से) थे और उन्हें अतिरिक्त सचिव के रूप में पदोन्नत कर डीडीए भेजा गया.

कार्यभार संभालने के साथ ही गोयल ने सबसे पहले लोगों के हित में और उनके लाभ के लिए तकनीक के भरपूर प्रयोग पर जोर दिया. बतौर उपाध्यक्ष अपने पहले संवाददाता सम्मेलन मे गोयल ने कहा था, प्रौद्योगिकी का लाभ उठाकर और समय सीमा तय करके हम जवाबदेही बढ़ाना चाहते हैं. हम जनता और संबंधित विभागों के बीच पुल का काम करना चाहते हैं, और ये कदम उसी दिशा में उठाए गए हैं. इस साल डीडीए ने अपने मुख्यालय विकास सदन की मरम्मत करायी, पुराने ढ़ांचे में कुछ बदलाव किया और अपने कार्यालय को नयी सुविधाओं से लैस किया.

इनपुट- भाषा

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay