एडवांस्ड सर्च

लच्छू महाराज पर आज का डूडल, पद्मश्री लेने से किया था इनकार

सर्च इंजन गूगल ने डूडल के माध्यम से महान तबला वादक पंडित लच्छू महाराज को याद किया है. डूडल में लच्छू महाराज की तस्वीर को नीले, पीले, लाल और हरे रंगों से तैयार किया गया है.

Advertisement
aajtak.in
मोहित पारीक नई दिल्ली, 16 October 2018
लच्छू महाराज पर आज का डूडल, पद्मश्री लेने से किया था इनकार गूगल डूडल (लच्छू महाराज)

देश के महान तबला वादक पंडित लच्छू महाराज की 74वीं जयंती पर गूगल ने डूडल बनाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी है. पंडित लच्छू महाराज बनारस घराने के महान तबला वादक थे. पंडित लच्छू महाराज का नाम लक्ष्मी नारायण सिंह था और उनका जन्म 1944 में हुआ था.

गूगल ब्लॉग के अनुसार, इस डूडल में लच्छू महाराज की तस्वीर को नीले, पीले, लाल और हरे रंगों से तैयार किया गया है. वह तबला बजाते नजर आ रहे हैं. उनके मुख पर मुस्कान और आंखों में संतुष्टि के भाव हैं. इसे गेस्ट आर्टिस्ट साजिद शेख ने तैयार किया है.

जानें जाकिर हुसैन के तबले की धुन पर क्यों कहती है दुनिया 'वाह उस्ताद'

उन्हें अपने पिता वासुदेव महाराज से प्रशिक्षण मिला. वह अपने समय के सबसे लोकप्रिय थे. उन्होंने कम उम्र में ही सार्वजनिक कार्यक्रमों में तबला बजाना शुरू कर दिया था. उन्होंने फ्रांस की एक महिला टीना से शादी की और उनकी एक बेटी नारायणी है.

संगीत क्षेत्र में अपने योगदान के लिए लच्छू महाराज को 1957 में संगीत नाटक अकादमी अवॉर्ड से नवाजा गया. वह पद्मश्री के लिए भी नामांकित हुए, लेकिन उन्होंने यह पुरस्कार लेने से इनकार कर दिया.

जानें- कौन है 'नृत्य समरागिनी' सितारा देवी

उनका कहना था कि दर्शकों की सराहना ही उनके लिए सबसे बड़ा सम्मान है. लच्छू महाराज ने 28 जुलाई, 2016 को आखिरी सांस ली. उनका अंतिम संस्कार वाराणसी के मणिकर्णिका घाट पर किया गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay