एडवांस्ड सर्च

...इन्होंने दिलाया देश को परमाणु शक्ति का खिताब

परमाणु परीक्षण पी के अयंगर की वजह से ही सफल हो सका. वह बहुत ही शांतिप्रिय व्यक्त‍ि थे. यही वजह है कि उन्होंने शांति के लिए काफी काम किया.

Advertisement
aajtak.in
अनुज शुक्ला नई दिल्ली, 22 December 2017
...इन्होंने दिलाया देश को परमाणु शक्ति का खिताब Indian physicist Pk Iyengar

देश के जाने-माने भौतिक विज्ञानी (physicist) पी के अयंगर की आज पुण्यतिथि है. उनका जन्म 29 जून 1931 को हुआ था. वो ऐसे पहले शख्स थे, जिन्होंने देश को परमाणु शक्ति का खिताब दिलावाया था.

भिखारी ठाकुर: एक आम आदमी जिसने भोजपुरी को बना दिया खास...

जानें उनके बारे में...

दुनिया में भारत को परमाणु ताकतों की कतार में ला खड़ा करने वाला पोखरण-I साल 1974 में 18 मई को अंजाम दिया गया था. देश का पहला परमाणु परीक्षण भारतीय सेना ने सैन्य बेस राजस्थान पोखरण टेस्ट रेंज में किया था. इसके साथ ही संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पांच स्थाई सदस्यों से अलग परमाणु परिक्षण करने वाला भारत, दुनिया का पहला मुल्क बन गया.

जानें- कौन था तैमूर, जिस पर करीना-सैफ ने रखा है अपने बच्चे का नाम

भले ही डॉ. राजा रमन्ना प्रोजेक्ट हेड थे, पर इस परमाणु हथि‍यार को डॉ. पी के अयंगर ने बनाया और इसका डिजाइन तैयार किया था. दुनिया की नजरों से बचाने के लिए भारत ने इसका कोड नाम स्माइलिंग बुद्धा रखा था. जब तक परमाणु का सफलतापूवर्क परीक्षण नहीं कर लिया गया डॉ.पी के अयंगर ने इसकी डिजाइन और इसकी ताकत को सबसे गोपनीय ही रखा.

प्रतिभा पाटिल: रचा था यह इतिहास, गिफ्ट ले जाने से भी हुई चर्चा

1975 में पद्म भूषण और साल 1971 में शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार से सम्मानित किए जाने वाले अयंगर भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर के डायरेक्टर और एटॉमिक एनर्जी कमिशन के चेयरमैन भी रहे. हालांकि, परमाणु परीक्षण इनकी वजह से ही सफल हो सका, पर अयंगर बहुत ही शांतिप्रिय व्यक्त‍ि थे. यही वजह है कि उन्होंने शांति के लिए काफी काम किया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay