एडवांस्ड सर्च

अनवरत योद्धा ज्योतिबा फुले के जन्म पर उन्हें याद करते हुए...

समाजसेवी ज्योतिबा फुले की जन्मतिथि पर जानें उनसे जुड़ी कुछ खास बातें...

Advertisement
aajtak.in
स्नेहा 11 April 2016
अनवरत योद्धा ज्योतिबा फुले के जन्म पर उन्हें याद करते हुए... Jyotiba Phule

दुनिया में अधिकांश लोग पैदा होते हैं और सामान्य जीवन जीते हुए खत्म हो जाते हैं. वहीं कुछ ऐसे भी लोग होते हैं जिनकी जिंदगी किंवदंती हो जाती है.

ज्योतिबा फुले भी एक ऐसी ही किंवदंती का नाम है. वे साल 1827 में 11 अप्रैल को जन्मे थे.

उन्होंने निचली जातियों के लिए "दलित" शब्द को गढ़ने का काम किया था.

साल 1873 के सितंबर माह में उन्होंने 'सत्य शोधक समाज' नामक संगठन का गठन किया था.

वे बाल-विवाह के मुखर विरोधी और विधवा-विवाह के पुरजोर समर्थक थे.

ज्योतिबा फुले ने ब्राम्हणवाद को धता बताते हुए बिना किसी ब्राम्हण-पुरोहित के विवाह-संस्कार शुरू कराया और बाद में इसे मुंबई हाईकोर्ट से मान्यता भी दिलाई.

उनकी पत्नी सावित्री बाई फुले भी एक समाजसेविका थीं.

अपनी पत्नी के साथ मिल कर उन्होंने लड़कियों की शिक्षा के लिए एक स्कूल भी खोला था. यह भारत में अपने तरह का अलहदा और पहला मामला था.

सौजन्य : NEWSFLICKS

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay