एडवांस्ड सर्च

जानें- कौन था तैमूर, जिस पर करीना-सैफ ने रखा है अपने बच्चे का नाम

आपने बॉलीवुड अभिनेता सैफ अली खान और अभिनेत्री के बेटे तैमूर के बारे में तो बहुत कुछ सुना होगा. लेकिन क्या आप जानते हैं यह नाम किस पर रखा गया है और इतिहास में तैमूर कौन था. आइए जानते हैं कौन हैं तैमूर और क्यों इसके नाम पर इतना विवाद रहा था...

Advertisement
aajtak.in
मोहित पारीक नई दिल्ली, 22 December 2017
जानें- कौन था तैमूर, जिस पर करीना-सैफ ने रखा है अपने बच्चे का नाम प्रतीकात्मक फोटो

आपने बॉलीवुड अभिनेता सैफ अली खान और अभिनेत्री के बेटे तैमूर के बारे में तो बहुत कुछ सुना होगा. लेकिन क्या आप जानते हैं यह नाम किस पर रखा गया है और इतिहास में तैमूर कौन था. आइए जानते हैं कौन हैं तैमूर और क्यों इसके नाम पर इतना विवाद रहा था...

तैमूरलंग उर्फ तैमूर लंगड़ा (1336-1405) तुर्की से चलकर हिंदुस्तान आया था. उसका जन्म 1336 में बारअक्स में हुआ था. 1369 में तैमूर समरकंद का बादशाह बन गया. वही समरकंद जहां से बाबर आया था. चंगेज खान की तर्ज पर तैमूर ने भी लड़ाई से ज्यादा विनाश शुरू किया. इनकी पॉलिसी को बाद में स्कॉर्च्ड अर्थ पॉलिसी कहा गया. 1393 तक पूरे मेसोपोटामिया यानी इराक तक तैमूर का अधिकार हो गया.

जानें- 114 साल पहले कैसे राइट बंधुओं ने किया था हवाई जहाज का आविष्कार

1398 में भारत पहुंचा

उस वक्त भारत का नाम दुनिया में सम्मान से लिया जाता था. धनी देश हुआ करता था भारत. 1398 में तैमूर भारत के करीब पहुंचा और मुल्तान को जीता. उसके बाद भारत पर हमला कर दिया. 13 अक्टूबर 1398 को तैमूर सिंधु, रावी और झेलम को पार कर भारत में दाखिल हुआ. उसके बाद भटनेर और पानीपत होते हुए दिल्ली पहुंचा. तैमूर 15 दिन तक यहां की संपत्ति लादता रहा. कारीगरों को बंदी बनाकर ले जाता रहा. इन्हीं कारीगरों से उसने अपने यहां जामा मस्जिद बनवाई थी.

राज कपूर ने 10 रुपये की नौकरी से की थी शुरुआत, फिर बने महानायक

चीन पर भी हमला करने का था प्लान

वो मेरठ गया. हरिद्वार तक पहुंचा. उस पर यहां से कीमती सामानों को लूटने के आरोप लगे. जम्मू तक पहुंचा. मार्च 1399 में वापस लौट गया. वापस लौट कर उसने महान ऑटोमन साम्राज्य के शासक को हराया. उसके बाद चीन पर भी हमला करने का प्लान था इसका. पर 1405 में इसकी मौत हो गई.

हालांकि, तैमूर को उसकी मिलिट्री स्ट्रैटजी के लिए जाना जाता है. एक कुशल सेनापति जिसने अपने सैनिकों को हर तरह की लड़ाई के लिए तैयार किया. यहां तक कि चीन पर भी हमले के लिए तैयार कर लिया था. इसके साथ ही कई सारे कल्चर्स को जोड़ने का भी श्रेय तैमूर को प्राप्त है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay