एडवांस्ड सर्च

डॉक्टर ने एक लिंक पर किया क्लिक, और खाते से उड़ गए 3 लाख रुपये

Mumbai Man held for Alleged Cyber Fraud मुंबई पुलिस ने एक युवक को कथित साइबर फ्रॉड के आरोप में गिरफ्तार किया. युवक ने बैंक कर्मचारी बनकर मुंबई के एक डॉक्टर से धोखाधड़ी किया और उसके अकाउंट से करीब 3 लाख रुपये चोरी कर लिए. बाद में युवक को पुणे से गिरफ्तार किया गया. 

Advertisement
aajtak.in [Edited by: साकेत सिंह बघेल]नई दिल्ली, 11 February 2019
डॉक्टर ने एक लिंक पर किया क्लिक, और खाते से उड़ गए 3 लाख रुपये Photo For Representation

मुंबई पुलिस ने शनिवार को एक 28 वर्षीय युवक को पुणे से गिरफ्तार किया है. युवक पर आरोप है कि इसने कथित तौर पर एक साउथ मुंबई बेस्ड डॉक्टर के बैंक अकाउंट से करीब 3 लाख रुपये साइबर फ्रॉड के जरिए उड़ा लिए. पुलिस के मुताबिक, आरोपी बिपिन महतो ने पिछले साल 21 नवंबर को डॉक्टर को बैंक कर्मचारी बनकर फोन किया. फिर आरोपी ने डॉक्टर के बैंक अकाउंट का 10-डिजिट नंबर मांगा और घटना को अंजाम दिया.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, एक पुलिस अधिकारी ने कहा, 'शुरू में, शिकायतकर्ता डॉक्टर अपने बैंक अकाउंट की जानकारी नहीं दे रहे थे. बाद में, फोन करने वाले आरोपी ने कहा कि वो बैंक के आवेदन को अधिकृत करना चाहता है और उसे केवल अकाउंट नंबर की जरूरत है. आरोपी ने ये भी गारंटी दी कि वो पिन या पासवर्ड नहीं मांगेगा. इस तरह डॉक्टर को किसी भी धोखाधड़ी का शक नहीं हुआ और उन्होंने अपना बैंक अकाउंट आरोपी को दे दिया.'

पुलिस ने बताया कि उसके बाद शिकायतकर्ता के मोबाइल नंबर के लिए एक लिंक जेनरेट किया गया. फिर आरोपी ने लिंक क्लिक कर वो मैसेज अपने नंबर पर फॉर्वर्ड करने को कहा. जैसे ही डॉक्टर ने वो मैसेज आरोपी को फॉर्वर्ड किया. डॉक्टर के अकाउंट से कुल 2.9 लाख रुपये चार अलग-अलग ट्रांजैक्शन के जरिए पार कर लिया गए. डॉक्टर के अकाउंट में 1 लाख रुपये के दो और 50,000 रुपये और 40,000 रुपये के दो ट्रांजैक्शन हुए.

घटना होने के बाद डॉक्टर ने गामदेवी पुलिस स्टेशन में संपर्क किया और किसी अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ केस रजिस्टर कराया. फिर उस बैंक अकाउंट की जांच करने के लिए एक टीम बनाई गई जिसमें ये पैसा ट्रांसफर किया गया था.

गामदेवी पुलिस स्टेशन के एक अधिकारी ने बताया कि, ये बैंक अकाउंट महतो नाम के एक युवक का है और ये अकाउंट एक बैंक के पुणे ब्रांच में खोला गया है. अधिकारियों की एक टीम को उसके पते पर भेजा गया और उसे पूछताछ के लिए पुलिस स्टेशन लाया गया. पुछताछ के दौरान युवक ने अपना जुर्म कुबुल कर लिया.

पुलिस ने कहा कि वे इस बात की पुष्टि कर रहे हैं कि क्या आरोपी और भी मामलों में वांटेड है. आरोपी को रविवार को किला अदालत में पेश किया गया और पुलिस हिरासत में भेज दिया गया. गामदेवी पुलिस ने भारतीय दंड संहिता और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay