एडवांस्ड सर्च

फेसबुक पर क्यों लगा 5 अरब डॉलर जुर्माना? जकरबर्ग ने कहा बदलेगा FB

Facebook को डेटा स्कैंडल और यूजर की प्राइवेसी से समझौता करने के लिए 5 बिलियन डॉलर बतौर जुर्माना देना होगा. इसके बाद जकरबर्ग ने कहा है कि कंपनी का तरीका और प्राइवेसी में बदलाव किए जाएंगे.

Advertisement
aajtak.in
मुन्ज़िर अहमद नई दिल्ली, 25 July 2019
फेसबुक पर क्यों लगा 5 अरब डॉलर जुर्माना? जकरबर्ग ने कहा बदलेगा FB Representational Image

दुनिया की सबसे बड़ी सोशल नेटवर्क कंपनी Facebook पर अमेरिकी फेडरल ट्रेड  कमीशन ने 5 अरब डॉलर का जुर्माना लगाया है. Facebook ने पेनाल्टी देने के लिए हां कर दी है. वजह क्या है? बड़ी वजह Cambridge Analytica डेटा स्कैंडल है. लेकिन सिर्फ पेनाल्टी ही नहीं, बल्कि Facebook को FTC द्वारा दी गई गाइडलाइन को फॉलो करना होगा.

तीन बड़ी वजहें जिसकी वजह से Facebook देगा 5 अरब डॉलर का जुर्माना

1.    कैंब्रिज अनालिटिका डेटा स्कैंडल.

2.    यूजर से झूठ बोल कर फेशियल रिकॉग्निशन को डिफॉल्ट तौर पर ऑन रखा गया.

3.    यूजर से सिक्योरिटी का हवाला देकर फोन नंबर मांगा गया और इसे टार्गेटेड विज्ञापन के लिए इस्तेमाल किया गया

5 अरब डॉलर जुर्माना लगने के बाद Facebook में होंगे ये बदलाव

इस सेटलमेंट के लिए Mark Zuckerberg को कुछ बदलाव भी करने होंगे. Facebook को कंप्लाइंस अधिकारी अप्वॉइंट करना होगा जो हर तिमाही और सलाना रिपोर्ट देगा. इसके अलावा अब Facebook को ये सुनिश्चित करके बताना होगा कि यूजर की प्राइवेसी प्रोटेक्शन के लिए कंपनी क्या कदम उठा रही है.

बताया जा रहा है कि FTC द्वारा दिए गए इस आदेश के बाद Facebook यूजर की प्राइवेसी को लेकर गलत स्टेटमेंट नहीं दे पाएगा. CNET की एक रिपोर्ट के मुताबिक FTC के इस आदेश के बाद प्राइवेसी से जुड़े फैसलों पर कंपनी के फाउंडर और सीईओ Mark Zuckerberg का कंट्रोल थोड़ा कम होगा. क्योंकि इसके लिए कंपनी को बोर्ड ऑफ डायरेक्टर में से इंडिपेंडेट प्राइवेसी कमीटी तैयार की जाएगी.

FTC के चेयरमैन ने क्या कहा?

FTC के चेयरमैन Joe Simons ने कहा है, ‘दुनिया भर के अरबों यूजर्स से लगातार वादे करके वो (Facebook) ये कंट्रोल कर सकते थे कि उनकी पर्सनल जानकारियां कैसे शेयर की जाएंगी. Facebook ने कंज्यूमर के च्वॉइस को कम आंका गया है.  ये न सिर्फ भविष्य में किए जाने वाले उल्लंघन को रोकने के लिए है, बल्कि ज्यादा महत्वपूर्ण ये है कि Facebook की तमाम प्राइवेसी कल्चर का बदलाव करके इस तरह के उल्लंघन को कम करना है’

Facebook के फाउंडर और सीईओ का क्या है कहना?

Facebook CEO Mark Zuckerberg ने एक बयान में कहा है, ‘कंपनी बड़े बदलाव करेगी. हमारे ऊपर लोगों की प्राइवेसी को प्रोटेक्ट करना की जिम्मेदारी है, हम पहले से ही इस जिम्मेदारी पर खरा उतरने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं, लेकिन अब हम इंडस्ट्री के लिए एक पूरी तरह नया स्टैंडर्ड सेट करेंगे’

Mark Zuckerberg का बयान

हम आखिरकार फेडरल ट्रेड कमीशन के साथ प्राइवेसी को लेकर सेटलमेंट कर रहे हैं. हम ऐतिहासिक फाइन देने के लिए तैयार हैं, लेकिन इससे भी महत्वपूर्ण ये है कि, हम बड़े बदलाव जा रहे हैं. ये बदलाव इस बात को लेकर होगा कि किस तरह से प्रॉडक्ट बनाते हैं और कंपनी चलाते हैं.

जकरबर्ग ने कहा है कि कंपनी के ऊपर डेटा प्रोटेक्शन की जिम्मेदारी है और वो इसे निभाएंगे. इसके लिए एक स्टैंडर्ड सेट करेंगे. प्राइवेसी कंट्रोल पर ज्यादा फोकस होगा. कमीटी बनाई जाएगी और कंपनी के सबसे अनुभवी प्रॉडक्ट लीडर्स को चीफ प्राइवेसी ऑफिसर बनया जाएगा.

ये है Facebook के सीईओ Mark Zuckerberg का Facebook पोस्ट जिसमें उन्होंने Facebook में बदलाव के बारे में लिखा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay