एडवांस्ड सर्च

FB से डेटा मांगने में भारत सरकार नंबर-2, 2019 में मांगा 40 हजार लोगों का डेटा

पहले के मुकाबले 2019 में फेसबुक से दुनिया भर के देशों ने ज्यादा यूजर डेटा की मांग की है. अमेरिका नंबर-1 पर है, जबकि दूसरे नंबर पर भारत है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 14 May 2020
FB से डेटा मांगने में भारत सरकार नंबर-2, 2019 में मांगा 40 हजार लोगों का डेटा Representational Image

फेसबुक से यूजर डेटा की मांग में 9.5% की ग्लोबल बढ़ोतरी दर्ज की गई है. ये डेटा जुलाई से दिसंबर 2019 का है अमेरिका के बाद फेसबुक से यूजर डेटा मांगने में भारत सरकार दूसरे नंबर पर है.

फेसबुक की ताजा ट्रांस्पेरेंसी रिपोर्ट के मुताबिक इस दौरान भारत की तरफ से 39,664 अकाउंट्स के लिए 26,698 रिक्वेस्ट किए गए हैं. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि 57% केस में कुछ डेटा फेसबुक ने दिया है.

अमेरिका की बात करें तो फेसबुक से डेटा मांगने के मामले में ये देश नंबर-1 है. फेसबुक ट्रांस्पेरेंसी रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका की तरफ से 82,321 यूजर अकाउंट्स के लिए फेसबुक को 51,121 रिक्वेस्ट मिले हैं. कंपनी ने टोटल 88% डेटा दिया है.

2019 के पिछले छह महीनों में दुनिया भर में फेसबुक से डेटा की मांग करने में 9.5% की बढ़ोतरी दर्ज की गई है. ये पहले 1,28,617 थी जो बढ़ कर 1,40,875 हो चुकी है.

फेसबुक से यूजर डेटा मांगने में अमेरिका टॉप पर है, दूसरे नंबर पर भारत. इसके अलावा ब्रिटेन, जर्मनी, फ्रांस और इटली भी इस लिस्ट में हैं.

फेसबुक ने अपी रिपोर्ट में कहा है, 'हमेशा की तरह हम सरकार द्वारा यूजर डेटा को लेकर किए गए सभी रिक्वेस्ट को स्क्रूटिनाइज करते हैं और ये सुनिश्चित करते हैं कि ये लीगल तौर पर वैलिड है.अगर कोई रिक्वेस्ट अधूरा या ज्यादा ब्रॉड लगता है तो हम इस तरह के रिक्वेस्ट को वापस कर देते हैं और जरूरत पड़ने पर कोर्ट में लड़ते हैं'

फेसबुक ने ये भी कहा है कि कंपनी सरकार को बैक डोर यानी अनऑफिशियल तरीके से यूजर का डेटा प्रोवाइड नहीं करती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay