एडवांस्ड सर्च

फैक्ट चेक: नितिन गडकरी की तस्वीर भ्रामक दावे के साथ हुई वायरल

इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पड़ताल में पाया कि वायरल तस्वीरों के साथ किया जा रहा दावा भ्रामक है. तस्वीरों में गडकरी नागपुर में आयोजित हुए मल्टी स्पोर्ट्स इवेंट "खासदार क्रीड़ा महोत्सव 2020" के दौरान विजेता महिला बॉ​डीबिल्डर्स को सम्मानित कर रहे हैं.

Advertisement
aajtak.in
फैक्ट चेक ब्यूरो नई दिल्ली, 17 January 2020
फैक्ट चेक: नितिन गडकरी की तस्वीर भ्रामक दावे के साथ हुई वायरल फैक्ट चेक

"भाजपा का यह कैसा महिला सम्मान? महिलाओं के सम्मान में उन पर शॉल अपर्ण करना भारतीय संस्कार है, उनके कपड़े उतरवाना नहीं." इस दावे के साथ स​ड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी की दो तस्वीरों का एक कोलाज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. तस्वीरों में गडकरी स्टेज पर बिकिनी पहने दो महिलाओं को ईनाम व सर्टिफिकेट देते नजर आ रहे हैं.

तस्वीरों के जरिए ऐसा दर्शाने की कोशिश की जा रही है कि भारतीय संस्कृति को संरक्षित करने का दावा करने वाली बीजेपी और आरएसएस के नेता खुद संस्कारी नहीं हैं.

इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पड़ताल में पाया कि वायरल तस्वीरों के साथ किया जा रहा दावा भ्रामक है. तस्वीरों में गडकरी नागपुर में आयोजित हुए मल्टी स्पोर्ट्स इवेंट "खासदार क्रीड़ा महोत्सव 2020" के दौरान विजेता महिला बॉ​डीबिल्डर्स को सम्मानित कर रहे हैं.

पोस्ट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है.

फेसबुक पेज "With Congress " ने तस्वीरों का कोलाज पोस्ट किया. इस पर लिखा गया है: "भाजपा का यह कैसा महिला सम्मान? महिलाओं के सम्मान में उन पर शॉल अपर्ण करना भारतीय संस्कार है, उनके कपड़े उतरवाना नहीं, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का नागपुर में सांसद महोत्सव..."

वायरल तस्वीरों के साथ किए जा रहे दावे की पड़ताल करने के लिए हमने इंटरनेट पर "nitin gadkari+Nagpur+Saansad Mahotsav" लिख कर सर्च किया तो हमें हाल ही नागपुर में शुरू हुए "खासदार क्रीड़ा महोत्सव चक दे" से जुड़ी कुछ मीडिया रिपोर्ट्स मिलीं. वायरल तस्वीरें 12 जनवरी को आयोजित हुई इस महोत्सव के ओपनिंग सेरेमनी के दौरान की हैं.

हमें कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में इस आयोजन का वीडियो भी मिला, जिसमें कुछ महिला बॉडी बिल्डर्स अपनी मसल्स दिखाती नजर आ रही हैं और वीडियो में आगे गडकरी इनमें से एक महिला को ट्रॉफी देते दिख रहे हैं. इस तरह की प्रतियोगिताओं में महिला बॉडी बिल्डर्स का ड्रेस कोड बिकिनी ही होता है. वीडियो के दो मिनट तीन सेकंड पर सभी महिला प्रतिभागियों को इसी तरह की ड्रेस में देखा जा सकता है. 

नितिन गडकरी 12 जनवरी को इस महोत्सव से ट्विटर पर लाइव आए थे. साथ ही उन्होंने कुछ तस्वीरें भी ट्वीट की थीं, हालांकि इसमें वायरल तस्वीरें शामिल नहीं हैं.

नागपुर में 12 से 23 जनवरी तक चलने वाले इस महोत्सव में क्रिकेट, जिमनास्टिक, साइकलिंग, बॉडी बिल्डिंग, स्विमिंग, चेस, जूडो आदि 32 खेल खेले जाएंगे. खासदार क्रीड़ा महोत्सव गडकरी का ही आइडिया था और यह इस महोत्सव का तीसरा सीजन है.

पड़ताल में साफ हुआ कि वायरल तस्वीर के साथ किया जा रहा दावा भ्रामक है, तस्वीर में गडकरी महिला बॉडी बिल्डर को सम्मानित कर रहे हैं.

फैक्ट चेक
फैक्ट चेक: नितिन गडकरी की तस्वीर भ्रामक दावे के साथ हुई वायरल
दावा भारतीय संस्कारों की परवाह न करते हुए नितिन गडकरी अर्धनग्न लड़कियों के साथ तस्वीर खिंचवा रहे हैंनिष्कर्षवायरल तस्वीर में नितिन गडकरी महिला बॉडी बिल्डर को सम्मानित कर रहे हैं.
झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • 1 कौआ: आधा सच
  • 2 कौवे: ज्यादातर झूठ
  • 3 कौवे: पूरी तरह गलत
Fact Check
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay