एडवांस्ड सर्च

फैक्ट चेक: कानपुर में राजधानी एक्सप्रेस के टकराने की खबर झूठी

सोशल मीडिया पर पांच फोटो का एक कोलाज छाया हुआ है जिसके जरिए कुछ ऐसा ही दावा किया जा रहा है. कोलाज की तीन तस्वीरों में ट्रेन से आग की लपटें उठती दिख रही हैं, जबकि एक तस्वीर में ट्रेन के कुछ डिब्बे पटरी से उतरे हुए दिख रहे हैं.

Advertisement
aajtak.in
अर्जुन डियोडिया नई दिल्ली, 09 July 2019
फैक्ट चेक: कानपुर में राजधानी एक्सप्रेस के टकराने की खबर झूठी वायरल तस्वीर

सोशल मीडिया पर एक वायरल कोलाज के जरिए दावा किया जा रहा है कि 2 जुलाई को कानपुर में राजधानी एक्सप्रेस एक भयंकर हादसे का शिकार हुई है.

कोलाज में पांच फोटो हैं जिसमें से तीन तस्वीरों में ट्रेन से आग की लपटें उठती दिख रही हैं, जबकि एक तस्वीर में ट्रेन के कुछ डिब्बे पटरी से उतरे हुए दिख रहे हैं. इसके अलावा एक तस्वीर में एक घायल महिला को देखा जा सकता है. दावा किया जा रहा है कि यह घटना को कानपुर में हुई है.

ट्रैन से जुड़े कैप्शन में लिखा है - 'अभी अभी कानपुर में टकराई राजधानी एक्सप्रेस ,चलती ट्रेन से कूदे लोग'

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पड़ताल में पाया कि तस्वीरों के साथ किया जा रहा दावा पूरी तरह गलत है. दो जुलाई को कानपुर में ऐसा कोई रेल हादसा नहीं हुआ है. ये तस्वीरें अलग-अलग रेल हादसों की है और कानपुर से कोई लेना देना नहीं.

विजय भान यादव नाम के एक फेसबुक यूजर ने इस पोस्ट को 2 जुलाई को शेयर किया था जिसे अभी तक 12,000 से भी ज्यादा बार शेयर किया जा चुका है. ये भ्रामक पोस्ट पिछले साल से सोशल मीडिया पर शेयर हो रहा है.

पोस्ट की सच्चाई जानने के लिए हमने कोलाज की पांचों तस्वीरों को एक-एक कर रिवर्स सर्च किया और पाया- फोटो नंबर एक, दो और तीन जिसमें ट्रेन की बोगियों में आग लगी हुई दिख रही है, तस्वीरें पिछले साल मई की हैं जब नई दिल्ली-विशाखपट्नम एक्सप्रेस के दो कोच में आग लग गई थी. यह हादसा मध्य प्रदेश के ग्वालियर स्टेशन के पास हुआ था. इस हादसे को मीडिया में प्रमुखता से कवर किया गया था. घटना में कोई भी यात्री जख्मी नहीं हुआ था.  

फोटो नंबर चार जिसमें ट्रेन के कुछ डिब्बे पटरी से उतरे हुए दिख रहे हैं.

ये तस्वीर 2014 की है जब बिहार के सारण के पास  दिल्ली-डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस पटरी से उतर गई थी. हादसे में गाड़ी के 12 डब्बे पटरी से उतर गए थे जिसमें चार लोगों के मारे जाने की खबर थी.  

पांचवीं तस्वीर में एक घायल महिला रोती हुई नजर आ रही है. इस फोटो को रिवर्स सर्च करने पर हमें कोई खास परिणाम नहीं मिले, लेकिन कुछ सोशल मीडिया यूजर्स के मुताबिक, इस महिला का नाम राखी रॉय है. राखी ने साल 2018 में CPIM के टिकट पर आरामबाग से पश्चिम बंगाल जिला परिषद् का चुनाव लड़ा था. यूजर्स ने फोटो ट्वीट करते हुए लिखा था कि इस महिला पर टीएमसी के गुंडों ने हमला किया है.

कुछ न्यूज रिपोर्ट्स के अनुसार जिला परिषद् चुनाव के दौरान आरामबाग में राखी रॉय नाम की एक CPIM कार्यकर्ता पर हमला हुआ था, हालांकि रॉय के पति स्नेहाशीष के अनुसार तस्वीर में दिख रही महिला राखी नहीं है. तस्वीर में नजर आ रही महिला कौन है, यह कह पाना मुश्किल है.

हमने हाल ही के दिनों में कानपुर में हुए रेल हादसों के बारे में जानकारी जुटानी शुरू की तो पाया कि इसी साल अप्रैल में कानपुर में एक हादसा हुआ था. इस हादसे में Howrah-New Delhi Poorva Express पटरी से उतर गई थी और 15 लोगों के घायल होने की खबर आई थी. इसके अलावा कानपुर में किसी अन्य रेल हादसे की कोई खबर हमें नहीं मिली.

अगर राजधानी एक्सप्रेस का इस तरह का एक्सीडेंट हुआ होता तो उसको मीडिया में प्रमुखता से कवर किया जाता.

फैक्ट चेक
फैक्ट चेक: कानपुर में राजधानी एक्सप्रेस के टकराने की खबर झूठी
दावा अभी अभी कानपुर में राजधानी एक्सप्रेस एक रेल हादसे का शिकार हुई है.निष्कर्षतस्वीरों के साथ किया जा रहा दावा भ्रामक है. ये तस्वीरें अलग—अलग रेल हादसों की है और कानपुर से कोई लेना देना नहीं.
झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • 1 कौआ: आधा सच
  • 2 कौवे: ज्यादातर झूठ
  • 3 कौवे: पूरी तरह गलत
Fact Check
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay