एडवांस्ड सर्च

फैक्ट चेक: क्या बंगाल पुलिस ने जय श्री राम कहने पर की एक शख्स की पिटाई?

बंगाल में चुनाव के वक्त से शुरू हुआ जय श्री राम विवाद अब भी सोशल मीडिया पर थम नहीं रहा है. एक वायरल वीडियो में एक पुलिस अफसर एक आदमी को पिटते दिख रहा है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 11 July 2019
फैक्ट चेक: क्या बंगाल पुलिस ने जय श्री राम कहने पर की एक शख्स की पिटाई? पिटाई करती पुलिस (फोटो- स्क्रीनशॉट)

बंगाल में चुनाव के वक्त से शुरू हुआ जय श्री राम विवाद अब भी सोशल मीडिया पर थम नहीं रहा है. एक वायरल वीडियो में एक पुलिस अफसर एक आदमी को पिटते दिख रहा है. जिसमें वो इंसान चेन से बंधा है और जय बजरंग बली के नारे लगा रहा है. फेसबुक यूजर राजेश रावत का दावा है कि बंगाल पुलिस की पिटाई के बावजूद वो जय श्री राम का नारा लगाता रहा.

पोस्ट का आर्काइव यहां देखा जा सकता है.

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि ये दावा भ्रामक है. वायरल वीडियो पुराना है और 2014 से ही सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है. इस घटना का बंगाल से कोई लेना देना नहीं है.

फेसबुक यूजर राजेश रावत की इस पोस्ट को खबर लिखे जाने तक 52000 लोगों से शेयर किया जबकि 4000 से ज्यादा लोगों ने कमेंट किया है. कुछ इस घटना पर यकीन कर रहे हैं तो कुछ लोग मान रहे हैं कि ये बंगाल की घटना नहीं है.  

जब हमने वीडियो की फ्रेम्स को इनवीड और रिवर्स इमेज के जरिए सर्च किया तो पाया कि ये वीडियो 5 साल से यूट्यूब पर मौजूद है. India Zone नाम के यूजर ने इस वीडियो को 30 सितंबर 2014 को वेबसाइट पर डाला था. यूट्यूब यूजर “Virender Roj ” ने इसे दोबारा 2015 में अपलोड किया. कुछ और लोगों ने भी 2016 में अलग दावे के साथ इस वीडियो को यूट्यूब पर डाला था. 2017 में फैक्ट चेक वेबसाइट “Alt News ” ने भी इस खबर को फर्जी साबित किया था.

बंगाल के बीजेपी नेताओं ने भी इस वीडियो पर अपना दावा किया था, उनका कहना था कि 11 अप्रैल 2017 को हनुमान जयंती के दिन बीरभूम में दो मुसलमान अफसरों ने हिंदू की पिटाई की थी. बंगाल के आसनसोल में बीजेपी के आईटी सेल के हेड तरुण सेनगुप्ता ने ये फर्जी दावा किया था हालांकि अब ये पोस्ट डिलीट कर दी गई है.

बंगाल सीआईडी ने ट्वीट किया था कि फर्जी खबर फैलाने के आरोप में सेनगुप्ता को गिरफ्तार भी किया गया था.

बांग्ला न्यूज वेबसाइट “Zee 24 Ghonta ” ने ये खबर जुलाई 2017 में छापी थी. हम इस वीडियो की लोकेशन कंफर्म नहीं कर पाये लेकिन ये साफ है कि ये घटना बंगाल की नहीं है.

फैक्ट चेक
फैक्ट चेक: क्या बंगाल पुलिस ने जय श्री राम कहने पर की एक शख्स की पिटाई?
दावा जय श्री राम बोलने पर बंगाल में शख्स की पिटाईनिष्कर्षवीडियो 2014 से सोशल मीडिया पर है और इसका बंगाल से कोई लेना देना नहीं
झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • 1 कौआ: आधा सच
  • 2 कौवे: ज्यादातर झूठ
  • 3 कौवे: पूरी तरह गलत
Fact Check
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay