एडवांस्ड सर्च

फैक्ट चेक: एक डॉक्टर की मौत नहीं बयां करती है यह वायरल तस्वीर

एक तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है जिसमें मुंह पर मास्क लगाए एक शख्स दूर से अपने बच्चों को देख रहा है. इस फोटो के साथ दावा किया जा रहा है कि कोरोना वायरस की वजह से उस डॉक्टर की मौत हो गई है.

Advertisement
aajtak.in
विद्या मुंबई, 25 March 2020
फैक्ट चेक: एक डॉक्टर की मौत नहीं बयां करती है यह वायरल तस्वीर वायरल तस्वीर

एक तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है जिसमें मुंह पर मास्क लगाए एक शख्स दूर से अपने बच्चों को देख रहा है. इस फोटो के साथ दावा किया जा रहा है कि कोरोना वायरस की वजह से उस डॉक्टर की मौत हो गई है. मरने से पहले वो डॉक्टर अपने परिवार को देखना चाहता था. पोस्ट में यह भी दावा किया जा रहा है कि घर के दरवाजे पर ली गई यह तस्वीर उस डॉक्टर की आखिरी तस्वीर है.

क्या है दावा

फेसबुक यूजर ‘Najaf Hyder’ ने एक लंबे-चौड़े पोस्ट में लिखा, “तस्वीर में गेट के बाहर नज़र आ रहे हैं वो डॉ हादियो अली हैं, जो जकार्ता, इंडोनेशिया में डॉक्टर थे. कोरोना-संक्रमित मरीजों का इलाज करते हुए खुद संक्रमित हो गए. जब उनकी स्थिति बहुत बिगड़ गयी तो वो आख़िरी बार परिवार से मिलने घर के दरवाजे पर आए. तस्वीर में वे घर से बाहर दरवाजे पर खड़े दिख रहे हैं और इस तरफ उनके दोनों बच्चे हैं. उनकी गर्भवती पत्नी ने यह तस्वीर ली है. वक़्त ख़त्म हो गया था डॉ हाडियो, उनकी पत्नी को पता था, सब एक दूसरे से गले लगना चाह रहे होंगे. बच्चे पिता से लिपटना चाहते होंगे लेकिन आखिरी वक़्त में सब एकदूसरे को आँख भरकर बस देखते रहे, दौड़कर गले भी नहीं लगा सके.”

इस पोस्ट पर कमेंट करते हुए अन्य यूजर्स ने डॉक्टर को सलामी दी है. स्टोरी के लिखे जाने तक इस पोस्ट को 100 से ज़्यादा लोगों ने शेयर किया. इस पोस्ट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है.

क्या है सच्चाई

इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज़ वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि वायरल तस्वीर मलेशिया के एक डॉक्टर की है जो ज़िंदा है. इंडोनेशिया में कोरोना वायरस की वजह से कुछ डॉक्टरों की मौत ज़रूर हुई थी. पर वायरल तस्वीर इंडोनेशिया के डॉक्टर की नहीं है.

आखिरी मुलाकात की तस्वीर नहीं

इंटरनेट पर कई रिपोर्ट मौजूद हैं जो बताती हैं कि दरअसल ये तस्वीर मलेशिया के एक डॉक्टर की है. इन रिपोर्ट्स के मुताबिक, जिस डॉक्टर की ये तस्वीर है, वे कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं हैं और लोगों की सेवा में लगे हुए हैं. मलेशिया के ये डॉक्टर सिर्फ अपने बच्चों को देखना चाहते थे, इसलिए वे घर गए थे. लेकिन परिवार को कोरोना वायरस का संक्रमण न हो जाए, इसलिए वे उन्हें दूर से ही देखकर वापस चले गए.

इंडोनेशिया में हुई डॉक्टरों की मौत

इंटरनेट पर हमने कुछ कीवर्ड्स टाइप किया और पाया कि डॉ हादियो अली के बारे में कई खबरें छपी हैं. इन खबरों के अनुसार, 22 मार्च तक, घातक कोरोना वायरस का संक्रमण होने से इंडोनेशिया के अलग-अलग इलाकों में 6 डॉक्टरों की मौत हो चुकी है. इन 6 डॉक्टरों में से एक नाम डॉ हादियो अली का भी है. लेकिन वायरल तस्वीर डॉ हादियो अली की नहीं है.

इंडोनेशिया में पिछले कुछ दिनों में 50 से अधिक मौतें दर्ज की गई हैं और 600 से अधिक लोगों को कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया है. वहीं मलेशिया में भी कोरोना वायरस की महामारी फैली हुई है. अब तक मलेशिया में कोरोना वायरस से 17 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि डेढ़ हज़ार से ज़्यादा लोग इस वक्त संक्रमित हैं.

कुछ समय पहले इंडोनेशिया की भी कुछ वेबसाइट जैसे radardepok.com ने भी यही पता लगाया कि वायरल तस्वीर डॉ हादियो अली की नहीं है.

फैक्ट चेक
फैक्ट चेक: एक डॉक्टर की मौत नहीं बयां करती है यह वायरल तस्वीर
दावा इंडोनेशिया में कोरोना वायरस की वजह से मरने वाले डॉक्टर हादियो अली की आखिरी तस्वीर.निष्कर्षतस्वीर डॉक्टर हादियो अली की नहीं, बल्कि मलेशिया के एक डॉक्टर की है, जो ज़िंदा हैं.
झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • 1 कौआ: आधा सच
  • 2 कौवे: ज्यादातर झूठ
  • 3 कौवे: पूरी तरह गलत
Fact Check
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay