एडवांस्ड सर्च

फैक्ट चेक: क्या विकास दुबे की रिश्तेदार की गिरफ्तारी पर अखिलेश ने उठाया ये सवाल?

क्या उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने योगी आदित्यनाथ सरकार पर ब्राह्मणों के साथ अपराधियों जैसा सुलूक करने का आरोप लगाया है? एक ट्वीट का स्क्रीनशॉट वायरल हो रहा है, जिसे देखकर लगता है कि यह ​ट्वीट अखिलेश यादव ने किया है.

Advertisement
aajtak.in
ज्योति द्विवेदी नई दिल्ली, 10 July 2020
फैक्ट चेक: क्या विकास दुबे की रिश्तेदार की गिरफ्तारी पर अखिलेश ने उठाया ये सवाल? वायरल ट्वीट

क्या उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने योगी आदित्यनाथ सरकार पर ब्राह्मणों के साथ अपराधियों जैसा सुलूक करने का आरोप लगाया है? सोशल मीडिया पर ऐसा ही दावा किया जा रहा है. दरअसल, एक ट्वीट का स्क्रीनशॉट वायरल हो रहा है, जिसे देखकर लगता है कि यह ​ट्वीट अखिलेश यादव ने किया है.

मैं इस ट्वीट का पुरजोर समर्थन करती हूं

Posted by Varsha Tiwari on Thursday, 9 July 2020

इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि यह दावा भ्रामक है. जिस ट्वीट के स्क्रीनशॉट को सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है, वह ट्वीट दरअसल अखिलेश यादव के पैरोडी अकाउंट से किया गया है.

अखिलेश यादव के इस ट्वीट पर फेसबुक से लेकर ट्विटर तक चर्चा छिड़ी हुई है. इसमें लिखा है, “नौ दिन पहले शादी होकर आई अमर दुबे की पत्नी को जेल किस आधार पर भेजा गया है? सरकार और पुलिस से सवाल करने की इजाजत अभी उत्तर प्रदेश में है या नहीं? शर्म आनी चाहिए इस अमानवीय कृत्य पर पुलिस की नजर में क्या सभी दुबे टाइटल के लोग अपराधी हैं। अपराधियों को पकड़ो UPP शर्म करो।”

पोस्ट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है. इस ट्वीट के स्क्रीनशॉट को बहुत सारे लोग असली समझकर शेयर कर रहे हैं. कोई लिख रहा है, ‘सरकार पूरी तरह नाकाम, अखिलेश यादव जिंदाबाद.’ तो कोई लिख रहा है, ‘बाबाजी जवाब दो, हत्यारे कुलदीप सेंगर की गाड़ी कब पलटेगी?’

दावे की पड़ताल

हमने पाया कि यह ट्वीट उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से नहीं किया गया है. यह ट्वीट एक पैरोडी अकाउंट से किया गया है. इसके बायो में यह बात स्पष्ट लिखी है कि यह उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का पैरोडी अकाउंट है.

फेसबुक पर इस ट्वीट का स्क्रीनशॉट शेयर किया जा रहा है, जिसे देखकर इसके असली या नकली होने का अंदाजा लगाना थोड़ा मुश्किल है. पैरोडी अकाउंट के हैंडल का जितना हिस्सा स्क्रीनशॉट में दिख रहा है, वह अखिलेश यादव के असली अकाउंट से मिलता है. अखिलेश यादव का आधिकारिक ट्विटर हैंडल है @yadavakhilesh और पैरोडी अकाउंट का हैंडल है @yadavakhiles143. वायरल स्क्रीनशॉट में सिर्फ ‘v’ तक के कैरेक्टर नजर आ रहे हैं, जो दोनों ही अकाउंट्स में एक जैसे हैं. डिस्प्ले पिक्चर भी एक जैसी लगी हुई है.

अखिलेश यादव ने हाल ही में विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद एक ट्वीट किया था, जो काफी चर्चा में रहा था.

अखिलेश यादव का अमर दुबे से जुड़ा कोई ट्वीट हमें नहीं मिला. अमर दुबे दरअसल विकास दुबे का भतीजा और बॉडीगार्ड था. वह हाल ही में उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में हुए पुलिस एनकाउंटर में मारा गया था. इस बारे में आज तक समेत सभी मीडिया संस्थानों में खबरें भी प्रकाशित हुई थीं.

उसकी शादी बीते 29 जून को हुई थी. बताया जा रहा है कि लड़की के परिवार वाले शादी के लिए राजी नहीं थे, पर उन्हें जबरन इसके लिए मजबूर किया गया. विकास दुबे की कोठी में ही अमर दुबे की शादी हुई थी. इस बारे में कई मीडिया रिपोर्ट भी आई थीं, जिन्हें यहां और यहां देखा जा सकता है.

पड़ताल से यह साफ है कि सोशल मीडिया पर किया जा रहा दावा भ्रामक है. वायरल हो रहा ट्वीट अखिलेश यादव के असली ट्विटर अकाउंट से नहीं, बल्कि एक पैरोडी ट्विटर अकाउंट से किया गया था.

फैक्ट चेक
फैक्ट चेक: क्या विकास दुबे की रिश्तेदार की गिरफ्तारी पर अखिलेश ने उठाया ये सवाल?
दावा गैंगस्टर विकास दुबे के भतीजे अमर दुबे की पत्नी की गिरफ्तारी पर सवाल उठाता यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव का ट्वीट.निष्कर्षवायरल ट्वीट दरअसल अखिलेश यादव के एक पैरोडी अकाउंट से किया गया है, जिसे लोग असली समझ रहे हैं.
झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • 1 कौआ: आधा सच
  • 2 कौवे: ज्यादातर झूठ
  • 3 कौवे: पूरी तरह गलत
Fact Check
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay