एडवांस्ड सर्च

हिसार उपचुनाव: बिश्नोई जीते, कांग्रेस की जमानत जब्‍त

एचजेसी-भाजपा गठबंधन के उम्मीदवार कुलदीप विश्नोई ने हिसार लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में कांटे के मुकाबले में जीत दर्ज की जिसमें हजारे पक्ष ने मतदाताओं से कांग्रेस को करारी शिकस्त देने की अपील की थी. उपचुनाव में कांग्रेस तीसरे स्थान पर रही और उसकी जमानत तक जब्‍त हो गई.

Advertisement
aajtak.in
आजतक ब्यूरोनई दिल्ली, 17 October 2011
हिसार उपचुनाव: बिश्नोई जीते, कांग्रेस की जमानत जब्‍त हिसार उपचुनाव के दिग्गज उम्मीदवार

एचजेसी-भाजपा गठबंधन के उम्मीदवार कुलदीप विश्नोई ने हिसार लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में कांटे के मुकाबले में जीत दर्ज की जिसमें हजारे पक्ष ने मतदाताओं से कांग्रेस को करारी शिकस्त देने की अपील की थी. उपचुनाव में कांग्रेस तीसरे स्थान पर रही और उसकी जमानत तक जब्‍त हो गई.

आजतक LIVE TV देखने के लिए क्लिक करें

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत भजन लाल के पुत्र विश्नोई (42 वर्ष) ने अपने निकटतम प्रतिद्वन्द्वी और राज्य के पूर्व मख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के पुत्र एवं इनेलोद सदस्य अजय सिंह चौटाला (50 वर्ष) को 6,323 मतों के अंतर से पराजित किया. उपचुनाव में नौ लाख से अधिक मत पड़े. प्रदेश में सत्तारूढ कांग्रेस उम्मीदवार और तीन बार सांसद रहे जयप्रकाश (58 वर्ष) तीसरे स्थान पर रहे.

2004 में ओमप्रकाश ने इस सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में जीत दर्ज की थी. भाजपा के साथ गठजोड़ कर चुनाव लड़ने वाली हरियाणा जनहित कांग्रेस (एचजेसी) के विश्नोई को 3,55,941 मत प्राप्त हुए जबकि चौटाला को 3,49,618 मत और तीसरे स्थान पर रहे जयप्रकाश को 1,49,785 मत प्राप्त हुए. हिसार में उपचुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला रहा हालांकि इसमें 40 उम्मीदवार मैदान में थे. इस सीट पर मतदाताओं की संख्या 13.32 लाख थी.

चेहरा पहचानें, जीतें ईनाम. भाग लेने के लिए क्लिक करें

चुनाव समीक्षक अभी भी किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचे हैं कि क्या अन्ना हजारे और उनकी टीम के अभियान से चुनाव नतीजों पर फर्क पड़ा है, लेकिन विश्नोई ने दावा किया कि इसका उनके प्रदर्शन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा. वहीं कांग्रेस का कहना है कि हिसार हमेशा से कुछ समूहों का गढ़ रहा है और उसने अच्छा मुकाबला किया.

दूसरी ओर, हजारे पक्ष के सदस्य अरविंद केजरीवाल ने कहा, ‘यह जनलोकपाल विधेयक पर जनमत संग्रह जैसा है. कांग्रेस को इससे सबक लेना चाहिए और अब जन लोकपाल विधेयक पास करना चाहिए.’ उन्होंने कहा कि विश्नोई की जीत से हजारे पक्ष का कोई लेना देना नहीं है.

हजारे ने जहां वीडियो के माध्यम से अपील में लोगों से कांग्रेस को पराजित करने की अपील की थी, वहीं टीम के अन्य सदस्यों ने अभियान चलाया था. विश्नोई के पिता भजन लाल ने 2009 लोकसभा चुनाव में हिसार सीट पर अपने निकटम प्रतिद्वन्द्वी इनेलोद के संपत सिंह पर 6,983 मतों से जीत दर्ज की थी. सिंह हालांकि बाद में कांग्रेस में शामिल हो गए थे. साल 2009 के चुनाव में भी जयप्रकाश तीसरे स्थान पर रहे थे. उस चुनाव में जयप्रकाश को 2,04,539 मत प्राप्त हुए थे जबकि इस बार उन्हें 1,49,785 मतों से संतोष करना पड़ा.

हिसार उपचुनाव के नतीजों पर मतदाताओं का धन्यवाद करते हुए विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज ने कहा, ‘भाजपा-एचजेसी गठबंधन भविष्य में भी जारी रहेगा.’ इसी तरह के विचार व्यक्त करते हुए विश्नोई ने कहा, ‘लोगों ने गठबंधन को वोट दिया है और यह गठबंधन काफी आगे तक जायेगा.’ भाजपा के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी ने कहा कि चुनाव के नतीजों से साफ है कि लोगों ने कांग्रेस की नीतियों के खिलाफ मत दिया है. उन्होंने कहा, ‘यह लोकतंत्र की जीत है.’

केंद्रीय वित्त मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रणब मुखर्जी ने कहा, ‘चुनाव में हार दुखद होती है. हमें इस बात का आकलन करना होगा कि हम उपचुनाव में क्यों हारे और इसका क्या कारण था.’ हजारे पक्ष की सदस्य किरण बेदी ने कहा, ‘यह मतदाताओं का निर्णय है. हजारे पक्ष ने लोकपाल विधेयक पर पार्टी स्थिति को ध्यान में रखने की अपील की थी.’ हिसार लोकसभा सीट पर नौ विधानसभाओं में विश्नोई पांच में आगे रहे जबकि चार में चौटाला की बढ़त रही. कांग्रेस उम्मीदवार सभी सीटों पर तीसरे स्थान पर रहे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay