एडवांस्ड सर्च

Board Exam 2018: आंसर शीट में इन बड़ी गलतियों को करने से बचें

बोर्ड एग्जाम के दौरान छोटी सी गलती भारी पड़ जाती है. जानें- कौन-सी गलतियां आंसर शीट में न करनी चाहिए. 

Advertisement
aajtak.in
परमीता शर्मा नई दिल्ली, 17 February 2018
Board Exam 2018: आंसर शीट में इन बड़ी गलतियों को करने से बचें प्रतीकात्मक फोटो

बोर्ड एग्जाम के दौरान छोटी सी गलती भारी पड़ जाती है. वहीं छात्रों को आंसर शीट में जवाब लिखते समय सावधानियां बरतनी चाहिए, ताकि परीक्षा के परिणाम में किसी भी प्रकार का प्रभाव ना पड़े.

जानें- कौन-सी गलतियां आंसर शीट में न करें...

- अक्‍सर टीचर शिकायत करते हैं कि स्टूडेंट्स आंसर शीट में ऐसे लिखते हैं, जिन्हें पढ़ पाना बेहद मुश्किल होता है. वह कई कॉपियों में प्रश्नों को काटकर दोबारा उत्तर लिख देते हैं. जिससे एग्जामिनर को कॉपियां चेक करने में खास दिक्कत होती है. इसलिए आज से ही साफ-सुथरा लिखने की आदत डालें.

- अगर आपकी राइटिंग खराब है तो ऐसे में एग्जामिनर आपके मार्क्स काट सकता है. इसलिए सही आंसर के साथ साफ-सुथरा लिखें.

NEET-2018 की परीक्षा का नोटिफिकेशन जारी, 6 मई को होगा एग्जाम

- पेपर के शुरुआत के दो-चार सवाल पढ़ कर आंसर लिखने की कोशिश ना करें. पहले पेपर को अच्‍छे से पढ़ लें फिर उत्तर लिखना शुरू करें. कठिन सवालों को पहले हल करने की जल्दबाजी कतई ना करें. इससे समय बर्बाद हो जाता है और कई बार आता हुआ उत्तर भी छूट जाता है.

NEET 2018 : ऐसे करें तैयारी, पाएं कामयाबी

- अगर कोई सवाल का उत्तर लिखते समय ज्‍यादा टाइम लग रहा है तो उसे छोड़कर आगे बढ़ें. बाद में टाइम बचने पर उसे करें.

CCTV निगरानी में UP बोर्ड की परीक्षा, 2 दिन में 5 लाख छात्र नदारद

- आंसर शीट को पढ़ने के लिए अंत में 10 मिनट जरूर निकालें. साथ ही पेपर के ऊपर रोल नंबर और नाम के सिवा कुछ ना लिखें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay