एडवांस्ड सर्च

Advertisement

हंसराज हंस से निरहुआ तक, कितने राजनीतिक हैं ये फिल्मी सितारे?

aajtak.in [Edited By: विशु सेजवाल]
16 May 2019
हंसराज हंस से निरहुआ तक, कितने राजनीतिक हैं ये फिल्मी सितारे?
1/10
लोकसभा चुनाव में अक्सर मनोरंजन जगत के सितारों को राजनीतिक पार्टियां अपना प्रत्याशी घोषित करती रही हैं. इनमें से ज्यादातर सितारे अपनी लोकप्रियता को भुनाते हुए चुनाव जीत भी जाते हैं.
हंसराज हंस से निरहुआ तक, कितने राजनीतिक हैं ये फिल्मी सितारे?
2/10
आमतौर पर चुनाव से चंद रोज पहले टिकट हासिल करने वाले इन सितारों की ज्यादातर मामलों में खुद की कोई विचारधारा नजर नहीं आती. लेकिन क्या एंटरटेनमेंट जगत के ये सितारे संसद की अति महत्वपूर्ण भूमिका को ठीक से निभा पाते हैं? जानते हैं लोकसभा चुनावों के प्रचार के दौरान सितारों के कुछ विवादित बयानों के बारे में जिन्हें देखकर कहा जा सकता है कि इनको अपनी भूमिकाओं को गंभीरता से लेने की जरूरत है.
हंसराज हंस से निरहुआ तक, कितने राजनीतिक हैं ये फिल्मी सितारे?
3/10
सनी देओल पंजाब के गुरदासपुर से चुनाव लड़ रहे हैं. उन्हें बीजेपी से टिकट मिला है. सनी देओल से जब एक रिपोर्टर ने बालाकोट स्ट्राइक के बारे में पूछा तो उन्होंने साफ कहा कि क्या स्ट्राइक, कौन सी स्ट्राइक? मुझे ये सब कुछ पता नहीं है. मुझे तो बस चुनाव जीतना है.  हालांकि आज तक के साथ हालिया इंटरव्यू में सनी देओल ने बयान पर सफाई दी कि उस वक्त पापा पर हुए एक सवाल से उनका मूड खराब हो गया था. इसी वजह से उन्होंने बालाकोट पर तब ऐसा बयान दे दिया था.
हंसराज हंस से निरहुआ तक, कितने राजनीतिक हैं ये फिल्मी सितारे?
4/10
सूफी सिंगर हंसराज हंस को भी बीजेपी ने दिल्ली से अपना लोकसभा प्रत्याशी बनाया है. मोदी सरकार की सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में एंकर ने कहा था कि साल 1971 में तो भारत ने पाकिस्तान के टुकड़े तक कर दिए थे, लेकिन लोग तो क्रेडिट नहीं लेते जैसा मोदी सरकार करती है? इस पर हंसराज हंस ने कहा कि 'मुझे नहीं पता कि टुकड़े हो गए थे, मैं तो उस वक्त बेहद छोटा बच्चा था. मुझे इस बारे में ज्यादा नहीं पता.'
हंसराज हंस से निरहुआ तक, कितने राजनीतिक हैं ये फिल्मी सितारे?
5/10
बीजेपी सांसद हेमा मालिनी चर्चा में रहती ही हैं. मथुरा से सांसद हेमा से अपने क्षेत्र में काम को लेकर सवाल किया गया था तो हेमा मालिनी काफी असहज हो गई थीं. लेकिन इस बार बयानों के साथ ही साथ उन्होंने वोटर्स को लुभाने के लिए कई चुनावी स्टंट्स भी किए. मथुरा से दोबारा बीजेपी प्रत्याशी ने हंसिया उठाकर गेहूं की कटाई की थी, ट्रैक्टर चलाने का प्रयास किया और खेत से आलू बीनते भी नज़र आईं. इन चुनावी स्टंट्स को देखकर पूर्व मंत्री श्याम सुंदर शर्मा ने उन्हें चैलेंज देते हुए कहा था कि अगर हेमाजी एक बीघा फसल गेहूं काट दें तो गठबंधन प्रत्याशी चुनाव नहीं लड़ेगा.
हंसराज हंस से निरहुआ तक, कितने राजनीतिक हैं ये फिल्मी सितारे?
6/10
अनुपम खेर अपनी पत्नी किरण खेर के लिए कैंपेन करने निकले थे. किरण खेर चंडीगढ़ से बीजेपी की प्रत्याशी हैं. वे इससे पहले भी पांच साल वहां से प्रत्याशी रह चुकी हैं. जब अनुपम से किरण के कामों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने सवाल इग्नोर करते हुए 'भारत माता की जय' का नारा लगा दिया था बस.
हंसराज हंस से निरहुआ तक, कितने राजनीतिक हैं ये फिल्मी सितारे?
7/10
टीएमसी उम्मीदवार और पूर्व एक्ट्रेस मुनमुन सेन से जब बंगाल के आसनसोल में हुई हिंसा की खबरों पर प्रतिक्रिया मांगी गई, तो उन्होंने कहा था कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है. हिंसा से अनजान होने की बात करते हुए उन्होंने कहा था कि 'आज मुझे बेड टी (सुबह की चाय) देर से मिली. मैं काफी देर से सोकर जगी तो मुझे नहीं पता कि क्या हुआ है.'

हंसराज हंस से निरहुआ तक, कितने राजनीतिक हैं ये फिल्मी सितारे?
8/10
इसके अलावा केंद्रीय मंत्री और बीजेपी उम्मीदवार बाबुल सुप्रियो की कार पर हमला हुआ था जिसका आरोप टीएमसी के कार्यकर्ताओं पर लगा था. जब मुनमुन सेन से इस बारे में सवाल किया गया था तो उन्होंने कहा था कि थोड़ी हिंसा तो होगी ही. सब जगह होती है. पहले से तो काफी कम हो गया है.
हंसराज हंस से निरहुआ तक, कितने राजनीतिक हैं ये फिल्मी सितारे?
9/10
आजमगढ़ से बीजेपी के प्रत्याशी निरहुआ से एंकर ने पूछा था कि अगर आप हार गए तो क्या आप पांच साल दिखेंगे या फिर फिल्मों में व्यस्त हो जाएंगे? इस पर निरहुआ ने कहा कि मुझे हराने वाला कोई पैदा नहीं हुआ क्योंकि मैं स्वतंत्र आदमी हूं. मेरी विचारधारा स्वतंत्र है. किसी का गुलाम नहीं हूं. मैं ईश्वर के लिखे लेख को भी हटा सकता हूं, मिटा सकता हूं.
हंसराज हंस से निरहुआ तक, कितने राजनीतिक हैं ये फिल्मी सितारे?
10/10
हालांकि जब एंकर ने उनके अहंकार का कारण पूछा था तो उन्होंने कहा था कि उन्होंने सिर्फ रामधारी सिंह दिनकर की कविता सुनाई है. निरहुआ ने ये भी कहा था कि वे अगर सच के साथ हैं और धर्म के साथ हैं तो ये असत्य लोग जो देश को लूट रहे हैं ये उन्हें नहीं हरा पाएंगे.'
Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay