एडवांस्ड सर्च

Advertisement

5 साल की थी ये एक्ट्रेस जब हुआ यौन उत्पीड़न, सुनाई आपबीती

aajtak.in [Edited By: हंसा कोरंगा]
16 April 2018
5 साल की थी ये एक्ट्रेस जब हुआ यौन उत्पीड़न, सुनाई आपबीती
1/7
इन दिनों उन्नाव और कठुआ गैंगरेप की वजह से देशभर में आक्रोश देखने को मिल रहा है. रेप पीड़िताओं को इंसाफ दिलाने की मांग को लेकर लोग सड़कों पर आंदोलन और प्रदर्शन कर रहे हैं. इस बीच तमिल एक्ट्रेस निवेथा पेथुराज ने बचपन में यौन उत्पीड़न का सामना करने का खुलासा किया है. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर एक वीडियो के जरिए उन्होंने अपनी आपबीती फैंस के साथ शेयर की. एक्ट्रेस ने खुलासा किया कि महज 5 साल की उम्र में उनके साथ ये दुष्कर्म किया गया.
5 साल की थी ये एक्ट्रेस जब हुआ यौन उत्पीड़न, सुनाई आपबीती
2/7
उन्होंने वीडियो में कहा, मुझे मालूम है ये वीडियो देखने वाले कई महिला और पुरुष ऐसे होंगे जो यौन उत्पीड़न का शिकार हुए होंगे, साथ ही मैं भी. 5 साल की उम्र में मेरे साथ ये सब हुआ. मैं कैसे अपने पैरेंट्स के पास जाती और उन्होंने अपने साथ हुई घटना के बारे में बताती? जब मुझे ये भी नहीं पता था कि इसका क्या मतलब होता है.
5 साल की थी ये एक्ट्रेस जब हुआ यौन उत्पीड़न, सुनाई आपबीती
3/7
एक्ट्रेस सभी पैरेंट्स से अपील करती हैं कि वो अपने बच्चों के साथ गुड टच और बैड टच के बारे में बात करते हुए हिचकिचाए नहीं.

5 साल की थी ये एक्ट्रेस जब हुआ यौन उत्पीड़न, सुनाई आपबीती
4/7

वे कहती हैं कि ज्यादातर मामलों में अजनबी लोग नहीं, बल्कि आपके रिश्तेदार, दोस्त और पड़ोसी ऐसे अपराध को अंजाम देते हैं. मेरी हर पैरेंट्स से गुजारिश है कि वो ज्यादा जिम्मेदारी दिखाएं.
5 साल की थी ये एक्ट्रेस जब हुआ यौन उत्पीड़न, सुनाई आपबीती
5/7

मुझे पता है कि यह बहुत असहज होगा. लेकिन अपने बच्चों के साथ बैठें. जब वे 2 साल के हो जाएं तभी से उनके साथ इस बारे में बात करें. बच्चों को गुड टच और बैड टच के बारे में बताएं.
5 साल की थी ये एक्ट्रेस जब हुआ यौन उत्पीड़न, सुनाई आपबीती
6/7

उन्होंने आगे कहा, हमें नहीं पता कि बच्चों के साथ स्कूल, ट्यूशन और पड़ोस के घर में क्या होता है. इसलिए अपने बच्चों के साथ छोटी उम्र ही बात करना शुरू करें. एक्ट्रेस ने बताया कि आजकल मुझे घर से बाहर जाने में डर लगने लगा है.

5 साल की थी ये एक्ट्रेस जब हुआ यौन उत्पीड़न, सुनाई आपबीती
7/7
उन्होंने लड़कियों की सेफ्टी के लिए समाज की भी भागीदारी मांगी. कहा- पुरुष लोग 8-10 लोगों का ग्रुप बनाएं और दिन-रात सड़कों पर निगरानी रखें. ऐसा करने से आप सड़कों पर कुछ भी संदिग्ध हो रही गतिविधियों को पकड़ सकते हैं.

Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay