एडवांस्ड सर्च

Advertisement

एक बाई जो घरों में काम करते-करते बन गई कॉमेडियन

aajtak.in[edited by: पूजा बजाज]
12 August 2018
एक बाई जो घरों में काम करते-करते बन गई कॉमेडियन
1/8
कहा जाता है कि हर शख्स में कोई ना काई हुनर जरूर होता है, जरूरत तो बस उस टैलेंट को पहचानने की होती है. हमारे समाज में ही रोजमर्रा की जिंदगी में ऐसे कई लोगों से सामना होता है जिनके पास बेहतरीन टैलेंट है लेकिन उसे कैसे सामने लाया जाए ये गुर उन्हें नहीं पता. एक ऐसी शख्सि‍यत हैं दीपिका म्हात्रे जो फुल टाइम कामवाली से अब स्टैंड-अप कॉमेडी वर्ल्ड का नया चेहरा बनकर उभरी हैं.
एक बाई जो घरों में काम करते-करते बन गई कॉमेडियन
2/8
वो लोगों के घरों में खाना बनाती थी, कपड़े-बर्तन धोती
थीं और कामवाली बाईंयों के साथ होने वाले भेदभाव का सामना भी कर चुकी है. लेकिन अब ये फुलटाइम काम करने वाली बाई पार्ट टाइम स्टैंड-अप कॉमेडियन बन चुकी है.
एक बाई जो घरों में काम करते-करते बन गई कॉमेडियन
3/8
चाहे दीपिका का अंदाज प्रोफेशनल कॉमेडियन वाला ना हो लेकिन उनका बड़े ही शानदार अंदाज में कई मुद्दों पर स्टायर करना ठहा‍के लगाने पर मजबूर कर देता है.
एक बाई जो घरों में काम करते-करते बन गई कॉमेडियन
4/8
कई सालों से लोगों के घर में काम कर चुकी दीपिका म्हात्रे ने जिस अंदाज में नौकारानियों के साथ होने वाले भेदभाव को दुनिया के सामने रखा है वो काबिले-तारीफ है. वह अपनी कॉमेडी में उन मालकिनों का जिक्र करती हैं जो बाइयों को चंद रुपये देने के लिए आनाकानी करती हैं लेकिन मॉल में हजारों लाखों उड़ा देती हैं. वह उस अपर क्लास महि‍लाओं के बारे में बात करती हैं जो उनके खाने में जरा सा भी तेल डल जाए तो बाई की शामत ला देती हैं लेकिन Pizza-बर्गर ऑर्डर करने में एक सेकेंड भी नहीं सेाचतीं.
एक बाई जो घरों में काम करते-करते बन गई कॉमेडियन
5/8
वह बताती हैं कि कैसे बाईयों के लिए सोसॉयटी में अलग लिफ्ट, और घरों में अलग कप-प्लेट, गिलास रखे जाते हैं लेकिन खाना उसी मेड के हाथों का खाया जाता है.
एक बाई जो घरों में काम करते-करते बन गई कॉमेडियन
6/8
दीपिका को अपने टैलेंट को शोकेस करने का सबसे पहला मौका तब मिला जब उनकी एम्पलॉयर ने एक दफा डोमेस्टिक स्टाफ के लिए एक टैलेंट शो का आयोजन किया. तब कई बाईयों ने डांस किया, गाने गाए लेकिन दीपिका म्हात्रे ने स्टेज पर अपने जोक्स से सबको लोटपोट कर दिया. दीपिका का ये टैलेंट देखकर उन्हें कॉमेडियन अदिति मित्तल से मिलवाया गया.
एक बाई जो घरों में काम करते-करते बन गई कॉमेडियन
7/8
कॉमेडियन अदिति मित्तल ने दीपिका को स्टैंड-अप कॉमेडियन बनने में मदद की. अदिति ने उन्हें अपनी कॉमेडी सीरीज Bad Girls का हिस्सा बनाया. ये सीरीज फ्रेश फीमेल कॉमेडियन्स को प्लेटफॉर्म देने का ही एक जरिया है.
एक बाई जो घरों में काम करते-करते बन गई कॉमेडियन
8/8
स्टैंड-अप कॉमेडी ने दीपिका की जिंदगी जरूर बदल दी है लेकि‍न तीन बच्चों की मां दीप‍िका अपना अपना घर चलाने की जद्दोजहद में जुटी रहती हैं. वह सुबह 4:30 बजे उठती हैं और मुंबई की लोकल ट्रेनों में इमिटेशन ज्वैलरी बेचती हैं.
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay