एडवांस्ड सर्च

पश्चिम बंगाल हिंसा पर शिवराज ने कहा, ममता बनर्जी ने लोकतंत्र को दफन किया

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सीएम ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा है कि वो बंगाल में हिंसा का तांडव कर रही हैं, उन्होंने वहां लोकतंत्र को दफन कर दिया है.

Advertisement
aajtak.in
रवीश पाल सिंह भोपाल, 16 May 2019
पश्चिम बंगाल हिंसा पर शिवराज ने कहा, ममता बनर्जी ने लोकतंत्र को दफन किया मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (फाइल फोटो- इंडियाटुडे आर्काइव)

पश्चिम बंगाल हिंसा पर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सीएम ममता बनर्जी पर तीखा प्रहार किया है. शिवराज सिंह ने कहा है कि बंगाल में ममता बनर्जी हिंसा का तांडव कर रही हैं, वहां उन्होंने लोकतंत्र को दफन कर दिया है. शिवराज ने ये बातें गुरुवार को भोपाल में पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहीं.

बता दें कि कोलकाता में बुधवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में हुई हिंसा को लेकर देश का सियासी माहौल गर्म है. बीजेपी-टीएमसी दोनों पार्टियां एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रही हैं. बीजेपी का कहना है कि अमित शाह के रोड शो में टीएमसी के गुंडों ने हिंसा की तो वहीं ममता बनर्जी हिंसा के लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहरा रही हैं.  

‘रोड शो में हुई हिंसा सुनियोजित’

शिवराज सिंह चौहान ने कहा, 'ममता दीदी ने जो हिंसा का तांडव किया है, ‘लोकतंत्र में उसकी कोई दूसरी मिसाल मिलती नहीं है. विपक्षी पार्टियों के कार्यकर्ता पीटे जा रहे हैं, बीजेपी के कार्यकर्ता पीटे जा रहे हैं और उनकी हत्याएं हुई हैं और यहां तक कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में भी सुनियोजित तरीके से हिंसा की गई है.’

‘EC के फैसले पर टिप्पणी नहीं’

हालांकि, चुनाव आयोग द्वारा पश्चिम बंगाल में चुनाव प्रचार पर रोक लगाए जाने को लेकर शिवराज सिंह चौहान ने ज्यादा कुछ नहीं कहा. पत्रकारों ने जब उनसे इससे जुड़ा सवाल पूछा तो शिवराज ने कहा कि चुनाव आयोग का फैसला है इस पर मैं कोई टिप्पणी नहीं करूंगा.'

शिवराज का ममता पर हमला

वहीं चुनाव प्रचार पर रोक लगाए जाने के बाद ममता बनर्जी द्वारा 23 गैर-बीजेपी दलों से चुनाव आयोग के फैसले के विरोध की अपील करने पर भी शिवराज ने ममता बनर्जी और विरोधियों को आड़े हाथों लिया. शिवराज ने कहा कि ये साफ है कि विपक्षी नेता मोदी जी के सामने कहीं नहीं टिकते इसलिए पहले से वह बहाने बना रहे हैं और यह भी कि सब इकट्ठे होकर विरोध प्रदर्शन करें, इसलिए तृणमूल कांग्रेस ने हिंसा की. ये तो वही बात हुई कि उल्टा चोर कोतवाल को डांटे. 

चुनाव की हर ख़बर मिलेगी सीधे आपके इनबॉक्स में. आम चुनाव की ताज़ा खबरों से अपडेट रहने के लिए सब्सक्राइब करें आजतक का इलेक्शन स्पेशल न्यूज़ लेटर

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay